इतिहास में 4 अक्टूबर के दिन क्या हुआ था – Historical Events On 4 October

देश विदेश के इतिहास में आज के दिन बहुत कुछ हुआ, आइए जानते हैं आज के इतिहास में यानि 4 अक्टूबर के इतिहास में कौनसी और महत्वपूर्ण घटनाएँ घटीं।

4 अक्टूबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
खलीफा अल-आदिल की हत्या 1227 में हुई।
बैजेंटाइन साम्राज्य तथा वेनिस गणराज्य के बीच एक शांति समझौता 1302 में हुआ।
मेक्सिको 1824 में एक गणराज्य बना।
नीदरलैंड से अलग होकर 1830 में बेल्जियम साम्राज्य बना।
यूएस ने 1943 में जापानियों से सॉलोमन पर कब्जा कर लिया।
सोवियत संघ ने 1957 में पहला उपग्रह स्पुतनिक सफलता पूर्वक अंतरिक्ष में भेजा।
क्यूबा और हैती में 1963 को चक्रवाती तूफान ‘फ्लोरा’ से छह हजार लोग मरे।
भारत ने 1974 में दक्षिण अफ्रिका की सरकार की रंभेदी नीति का प्रतिरोध करने के लिए वहाँ जाकर डेविस कप में भाग लेने से इनकार कर दिया।
भारत के विदेश मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 1977 में संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक को हिंदी में संबोधित किया। हिंदी में दिया गया यह पहला संबोधन था।
पाकिस्तान के 16 वर्षीय बल्लेबाज़ शाहिद अफ़रीदी ने 1996 में एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच में 37 गेंदों में शतक बनाकर विश्व कीर्तिमान रचा।
चांग चून शियुंग 2000 में ताइवान के नये प्रधानमंत्री बने।
पाकिस्तान में शाहीन प्रक्षेपास्त्र का परीक्षण 2002 में किया गया।
बाली बम कांड में 2005 को दो संदिग्ध व्यक्ति गिरफ़्तार।
जूलियन असांजे ने विकीलीक्स की स्थापना 2006 को की।
अमेरिका की विदेश मंत्री कोंडोलीजा राइस 2008 में एक दिन के लिए भारत यात्रा पर रहीं।
अमेरिका ने 2011 में इस्लामिक स्टेट (आईएस) के मुखिया अबू बकर अल बगदादी को वैश्विक आतंकवादी के रूप में चिन्हित किया और साथ ही उस पर एक करोड़ डॉलर का ईनाम भी रखा।
नोबेल पुरस्कार समिति ने 2011 को भौतिकी के क्षेत्र में अमूल्य योगदान के लिए अमेरिका के सॉल पर्लमटर और एडम रीस तथा अमेरिकी मूल के आस्ट्रेलियाई नागरिक ब्रायन श्मिट को वर्ष 2011 का नोबेल पुरस्कार प्रदान करने की घोषणा की।
अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजई की भारत यात्रा के दौरान भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ हुई बैठक में सामरिक मामले, खनिज संपदा की साझेदारी और तेल और गैस की खोज पर साझेदारी संबंधी तीन समझौतों पर 2011 को हस्ताक्षर किए गए।
सोमालिया की राजधानी मोगादिशु में मंगलवार को शिक्षा मंत्रालय के समीप 2011 को हुए एक आत्मघाती कार बम विस्फोट में कम से कम 65 लोग मारे गए।
अलग तेलंगाना राज्य के लिए 2011 को आंध्रप्रदेश में 22वें दिन भी हड़ताल जारी रही।
दक्षिण पश्चिम पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत की राजधानी क्वेटा के अख्तराबाद इलाके में 2011 को शिया मुस्लिम समुदाय के 12 व्यक्तियों को हथियारबंद लोगों ने उनकी गाड़ी से उतारकर हत्या कर दी।
भारतीय राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल की यात्रा के दौरान भारत और स्विट्जरलैंड ने 2011 को वित्तीय क्षेत्र में सहयोग के लिए द्विपक्षीय समझौता किया गया जिससे आयकर विभाग के बीच सहयोग बढने और स्विस बैंकों में भारतीयों के खातों का पता लगाने में मदद मिलेगी।
मैक्सिको के राष्ट्रीय मानव विज्ञान एवं इतिहास संस्थान ने 2011 को उत्तर में स्थित दुरांगो प्रांत से प्राप्त मानवीय अस्थियों के आधार पर दावा किया है कि प्राचीन समय में यहां के आदिवासी नरभक्षी थे।
दुनिया के नंबर एक डबल ट्रैप निशानेबाज भारत के रोंजन सोढ़ी ने 2011 को संयुक्त अरब अमीरात के अल आईन में विश्वकप मुकाबले में ओलिम्पिक पदक विजेता चीन के बिनयुआन को पराजित कर अपने खिताब की रक्षा करने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बने।
रोजगार की तलाश में 2011 को ब्रिटेन आने वाले विदेशी चिकित्सकों को राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा में काम करने के लिए एक अंग्रेजी परीक्षा पास करना अनिवार्य कर दिया गया।
कुवैत के सबसे बड़े तेलशोधक कारखाने मीना अल-अहमदी में 2011 को हुए विस्फोट में तमिलनाडु के चार मजदूरों की मौत हो गई।
चीन में 2012 को आये भूस्खलन के बाद 19 लोग दबकर मरे।
फॉर्मूला वन के बादशाह माइकल शूमाकर ने 2012 को संन्यास लिया।

4 अक्टूबर को जन्मे व्यक्ति
‘भारतीय प्रशासनिक सेवा’ में भारत की दूसरी महिला अधिकारी तथा मध्य प्रदेश की भूतपूर्व राज्यपाल सरला ग्रेवाल का जन्म 1927 में हुआ।
बीसवीं शताब्दी के हिन्दी के प्रमुख साहित्यकार रामचन्द्र शुक्ल का जन्म 1884 में हुआ।
प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी एवं लेखक श्यामजी कृष्ण वर्मा का जन्म 1857 में हुआ।
हिंदी और बांग्ला पार्श्व गायिका संध्या मुखोपाध्याय का जन्म 1931 में हुआ।
हैती के 41वें राष्ट्रपति और नेता जीन क्लाउड दुवेलियर का जन्म 2014 में हुआ।

4 अक्टूबर को हुए निधन
भारतीय फिल्म निर्देशक एवं निर्माता इदिदा नागेश्वर राव का निधन 2015 में हुआ।

4 अक्टूबर के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव
विश्व पशु कल्याण दिवस
राष्ट्रीय अखंडता दिवस

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram