ओपरा विनफ़्रे जीवनी – Biography of Oprah Winfrey in Hindi Jivani

ओपरा विनफ़्रे (अंग्रेज़ी: Oprah Winfrey) (जन्म ओर्पाह गैल विनफ्रे (अंग्रेज़ी: Orpah Gail Winfrey, २९ जनवरी १९५४) एक अमरीकी मिडिया उद्योजक, वार्ता शो मेज़बान, अभिनेत्री, निर्माता व लिपिकार है। विनफ़्रे को उनके स्वयं के नाम के कई पुरस्कार विजेता शो के कारण जाना जाता है जो १९८६ से २०११ तक प्रसारित किया गया व इतिहास का सबसे अधिक रेटिंग वाला धारावाहिक बन गया। उन्हें २०वि सदी की अमेरिका की सबसे रइस अफ़्रीकी अमरीकी लिपिकार होने का सम्मान प्राप्त है और एक काल में वे विश्व की अकेली अश्वेत अरबपति थी। कुछ जानकारों के अनुसार वे विश्व की सबसे प्रभावकारी महिलाओं में से एक है।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

विनफ़्रे का जन्म मिसिसिप्पी के एक गरीब गाँव में कुवांरी माँ के यहाँ हुआ था व उनका बचपन मिल्वौकी में हुआ। अपने बचपन में उन्होंने उन्हें कई मुसीबतों का सामना करना पड़ा जिनमे उनके अनुसार नौ वर्ष की आयु में उनका बलात्कार किया गया था व चौदाह की उम्र में वे गर्भवती हो गई थीळ उनका बेटा गर्भ में ही मर गया था। टेंनेसी में एक हज्जाम के यहाँ उन्हें रहने के लिए छोड दिया गया जिन्हें वे अपना पिता कहती है। वहां रहते हुए उन्होंने एक रेडियो में कार्य करना प्रारंभ किया और साथ ही साथ १९ की उम्र में हाई स्कुल में पढ़ाई करते हुए घरेलु समाचार में सह-मेज़बान भी बन गई। उनकी भावनाओं से प्रेरित वक्तव्यों के चलते उन्हें दिन में प्रसारित होने वाले वार्ता शो का अधिकार प्रदान किया और इस शो को शिकागो के प्रथम क्रमांक का शो बनाने के बाद उन्होंने अपनी स्वयं की निर्माण कंपनी खोल दी व विश्वभर में प्रसारण करना शुरू कर दिया।

प्रारंभिक जीवन

विनफ्रे का नाम “ओपरा” बाइबिल से सम्बंधित है. ये नाम उनके जन्म प्रमाणपत्र पर तो नही है लेकिन फिर भी लोग उन्हें बाइबिल के ही एक नाम ओपरा के नाम से पुकारते थे, और बाद में यही ओपरा उनके नाम के आगे लगाया गया.

विनफ्रे का जन्म मिसिसिप्पी के एक गरीब गाँव में कुंवारी माँ के यहाँ हुआ था. उनकी माता वेर्निटा ली (जन्म 1935) एक गृहिणी है. विनफ्रे के जैविक पिता वेर्नों विनफ्रे (जन्म 1933) को माना जाता है, जो एक कोयला खोदने वाले थे बाद में विनफ्रे के जन्म के समय सशस्त्र सेना के साथ थे. जबकि, मिसिसिप्पी के किसानो और द्वितीय विश्वयुद्ध के वेटेरन नोआह रोबिनसन (जन्म C.1925) ने ही उनके जैविक पिता को खोजा था. 2006 में की गयी अनुवांशिक परीक्षा गयी ताकि उनका राष्ट्रीयत्व पता किया जा सके. जिसमे पाया गया की विनफ्रे 89 % सब-सहारन अफ्रीकन, 8% रहवासी अमेरिकन और 3% ईस्ट अमेरिकन है.

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

विनफ्रे के जन्म के बाद उनकी माँ ने उत्तर की यात्रा की और 6 वर्ष की आयु में, विनफ्रे अपनी माता वेर्निटा ली के साथ मिल्वौकी के पडोसी गाव विस्कॉन्सिन रहने के लिए गयी. जहा उन्हें किसी के सहायता की जरुरत थी, यहाँ पर उनकी सहायता के लिए उनकी नानी भी नही थी, इसीलिए उन्हें घंटो तक काम करना पड़ता था. वे एक नौकर की तरह काम करने लगी थी. इसी समय ली ने एक और बेटी को जन्म दिया, जो विनफ्रे की छोटी बहन थी, जिसका नाम बाद में पेट्रीचिया (Patricia) रखा गया.

13 वर्ष की आयु में, अपना शोषण होने के बाद विनफ्रे घर से भाग गयी. जब वह 14 साल की थी तभी वह भी गर्भवती हुई लेकिन उनका बेटा गर्भ में ही बीमारी की वजह से मारा गया था.

पिता का साथ

पिता की छत्र-छाया में ओपरा की जिंदगी ने नई सुबह का आगाज़ किया। ये लाइफ का ऐसा टर्निंग प्वाइंट था, जिससे जिंदगी को नया आयाम मिला। पिता ने अपनी सुरक्षा में अनुशासन में रहना सिखा दिया। ओपरा की शिक्षा पिता वर्नन की प्राथमिकता थी, ओपरा ने भी अपने जीवन में आये इस सकारात्मक बदलाव को स्वीकार किया। पूरी लगन से पढ़ाई करने लगी और बहुत जल्द ही सभी टिचर्स की पहली पसंद बन गई। पिता की सीख और सुरक्षा में ओपरा अपना अतीत भूलकर आगे बढ़ने लगी। उनका कहना था कि,

वो पिता वर्नन विनफ्रे ही थे जिन्होंने अभाव में भी जीवन को सही आकार और आत्मविश्वास दिया।

स्कूल में हो रही सभी गतिविधियों में वो भाग लेने लगीं। नाटक हो या डिबेट सब में अव्वल रहने लगीं। एक भाषण प्रतियोगिता में ओपरा ने टैनेसी स्टेट यूनिवर्सिटी के लिए स्कालरशिप जीती। उसके अगले साल ओपरा को यूथ कांफ्रेंस में व्हाईट हाउस जाने का अवसर मिला। जिंदगी में सम्मान की बारिश होने लगी। उन्होंने नैशविल के स्थानीय रेडियो स्टेशन से “मिस फायर प्रिवेंशन” प्रतियोगिता जीती जिससे उनको दोपहर का समाचार पढ़ने का मौका मिला।

अपनी आवाज और बोलने की अद्भुत शैली के कारण वे आसमान की बुलंदियों पर उड़ने लगी। एक के बाद एक उपलब्धियों से उनका व्यक्तित्व और निखरने लगा। पिता द्वारा रोपित आत्मविश्वास का पौधा एक पेड़ में परिवर्तित हो गया था।

टेलीविजन

स्थानीय मीडिया में काम करना, वह नैशविले के डब्लूएलएसी-टीवी में सबसे कम उम्र के समाचार एंकर और पहली काली महिला समाचार एंकर थीं। वह 1976 में बाल्टिमोर के डब्लूजेज़-टीवी में चले गए और छह बजे खबर के सह-एंकर थे। 1977 में, उन्हें सह-एंकर के रूप में हटा दिया गया था और स्टेशन पर निम्न प्रोफ़ाइल पदों पर काम किया था। उसके बाद वह 14 जून 1978 को प्रीमियर हुआ डब्लूजेड के स्थानीय टॉक शो पीपेल हो टॉकिंग के सह-मेजबान के रूप में रिचर्ड शेर को शामिल करने के लिए भर्ती कराया गया। उन्होंने वहां डायलिंग फॉर डलरर्स के स्थानीय संस्करण की मेजबानी की।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

1983 में, डब्ल्यूएलएस-टीवी के कम- रेटेड आधे घंटे की सुबह के टॉक शो, एएम शिकागो की मेजबानी करने के लिए, विनफ्रे शिकागो में जगह ले गई। पहला एपिसोड 2 जनवरी 19 84 को प्रसारित हुआ। विन्फ्रे ने पद संभालने के कुछ महीनों बाद, यह शो रेटिंग में आखिरी स्थान पर चला गया और डोनह्यू को शिकागो में उच्चतम दर्जा वाले टॉक शो के रूप में आगे बढ़ा। फिल्म समीक्षक रोजर एबर्ट ने उन्हें राजा विश्व के साथ एक सिंडिकेशन सौदे पर हस्ताक्षर करने के लिए प्रेरित किया एबर्ट ने भविष्यवाणी की थी कि वह अपने टेलीविज़न शो, एट द मूवीज के रूप में 40 गुना अधिक राजस्व उत्पन्न करेगी।

इसका नाम बदलकर ओपरा विन्फ्रे शो का विस्तार, एक पूर्ण घंटे तक बढ़ाया गया और राष्ट्रीय स्तर पर 8 सितंबर 1986 को प्रसारित किया गया। विन्फ्रे के सिंडिकेटेड शो ने डबल डोनाह्यू के राष्ट्रीय श्रोताओं में लाया, जो अमेरिका में संख्या-एक दिन के टॉक शो के रूप में डोनह्यू को स्थानांतरित कर रहा था। उनके बहुत प्रचारित प्रतियोगिता में भारी जांच का विषय था।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram