करतारपुर में तेज हवाओं से गुरुद्वारे के गुंबद क्षतिग्रस्त, PAK ने निर्माण में बरती थी लापरवाही

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में भारी बारिश के साथ आई तेज हवाओं ने गुरुद्वारा करतारपुर साहिब में काफी तबाही मचाई है. जानकारी के मुताबिक गुरुद्वारे के कुछ गुंबदों को काफी नुकसान हुआ और टूटकर गिर गए हैं. अब आरोप लग रहा है कि इन गुंबदों के पुनर्निमाण में सीमेंट और लोहे के बजाय फाइबर का उपयोग किया गया है.

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

इस घटना की वजह से करतारपुर कॉरिडोर और गुरुद्वारा के निर्माण में उपयोग की जाने वाली सामग्री की गुणवत्ता पर सवाल खड़े हो रहे हैं. इस मामले पर पाकिस्तान की इमरान सरकार में विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि मामले को धार्मिक मामलों के मंत्री नूर उल हक कादरी के समक्ष उठाया गया है. इसके साथ ही उनसे पूरे घटनाक्रम की तत्काल जांच करवाने का अनुरोध भी किया गया है.

kartarpur1_041820115833.jpg

दिल्ली-एनसीआर में भी बदला मौसम

दिल्ली-एनसीआर में धूलभरी आंधी के साथ तेज बारिश हुई है. दिल्ली के कई इलाकों में तेज आंधी देखने को मिली, वहीं ग्रेटर नोएडा में तेज हवा के साथ बारिश हुई है. गाजियाबाद में भी बारिश हुई है. दिल्ली के लालकिला के आसपास वाले इलाकों में भी भारी बारिश हुई है.

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

अचानक हुई बारिश की वजह से तापमान में गिरावट देखी गई है. मौसम सुहाना हो गया है. पहाड़गंज सदर थाने के पास सड़क पर पानी जमा हो गया है. ऐसे ही दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में सड़कें पानी से भर गई हैं. कुछ इलाकों में ओले भी पड़े हैं.

नोएडा के कई सेक्टरों में भी हल्की बारिश के साथ तेज आंधी आई है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शाम में तापमान में गिरावट आ गई है. शनिवार को मौसम विभाग के मुताबिक शहर का अधिकतम तापमान 37.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है, वहीं न्यूनतम तापमान 22.6 डिग्री सेल्सियस रहा.

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram