चीन में तेजी से फैल रहा है कोरोना वायरस, अब तक 9 की मौत, 440 लोग संक्रमित

चीन में कोरोना वायरस खतरनाक रूप अख्तियार करता जा रहा है. इस वायरस की चपेट में आने से अब तक 9 लोगों की मौत हो चुकी है. अमेरिका में भी इसका असर दिखाई दे रहा है, जहां कोरोना वायरस का पहला केस सामने आया है.

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

कोरोना वायरस से 9 लोगों के मरने के अलावा 440 लोग संक्रमित भी पाए गए हैं. इस प्रकरण पर बीजिंग स्वास्थ्य आयोग के उप मंत्री ली बिन ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति को सबसे पहले सांस लेने में दिक्कत, गले में दर्द, जुकाम, खांसी और बुखार होता है.

अमेरिकी स्वास्थ्य विभाग ने कल मंगलवार को अपनी धरती पर इस नए खतरनाक वायरस के पनपने की पुष्टि की. स्वास्थ्य विभाग की ओर से बताया गया कि वाशिंगटन के पास 30 साल के युवक में यह वायरस पाया गया.

वैक्सीन तैयार करने की कोशिश

फिलहाल, इस वायरस की वैक्सीन तैयार करने की कोशिश की जा रही है. चीन के हुबेई प्रांत के वुहान शहर में नोवेल कोरोना वायरस द्वारा न्यूमोनिया के प्रकोप के बाद कई देशों में दहशत की स्थिति है.

दूसरी ओर, भारतीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने मंगलवार को चीन से आने वाले यात्रियों की चार और हवाईअड्डों (चेन्नई, बेंगलुरू, हैदराबाद और कोचीन) पर जांच की अनुमति दे दी. यह फैसला नोवेल कोरोना वायरस डिजिज (एनसीओवी) के खतरे के मद्देनजर किया गया. अब तक दिल्ली, मुंबई और कोलकाता हवाईअड्डों पर जांच की जा रही थी.

हवाईअड्डों पर यात्रियों की थर्मल जांच

मंत्रालय के बयान में कहा गया कि हवाईअड्डों पर यात्रियों की थर्मल जांच की जाएगी. इन हवाईअड्डों पर थर्मल कैमरा लगाए गए हैं और आव्रजन जांच से पहले एयरलाइंस के स्टाफ द्वारा यात्रियों को स्वास्थ्य काउंटरों पर लाया जाएगा.

इसमें कहा गया कि इन्हें जल्द से जल्द अलग करने के लिए एयरलाइंस द्वारा फ्लाइट में घोषणा की जाएगी (जो चीन के किसी हवाईअड्डे से आ रही है, इसमें हांगकांग भी शामिल है). इसमें यात्रियों से बुखार और कफ की दिक्कत और बीते 14 दिनों में वुहान शहर की यात्रा को लेकर पहुंचने पर खुद बताने और स्वास्थ्य अधिकारियों से संपर्क के लिए कहा जाएगा.

कब सामने आया पहला केस

चीन के वुहान शहर में नोरोना वायरस का पहला केस पिछले साल दिसंबर में सामने आया था. उसके बाद से लगातार यह वायरस तेजी से बढ़ रहा है. अब तक इस वायरस की जद में करीब साढ़े चार सौ लोग आ चुके हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) भी इस मसले पर बुधवार को आपातकाल बैठक कर रहा है. (इनपुट-आईएएनएस)

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram