ट्रंप के दौरे से पहले US एजेंसी की रिपोर्ट- भारत में खराब हुए धार्मिक आजादी के हालात

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का दौरा शुरू होने से पहले अमेरिकी एजेंसी की एक रिपोर्ट भारत सरकार की चिंताएं बढ़ा सकती हैं. अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता संबंधी अमेरिकी आयोग (USCIRF) ने अपनी एक रिपोर्ट जारी की है, जिसमें भारत में धार्मिक उत्पीड़न के मामलों में बढ़ोतरी दिखाई गई है. साथ ही नागरिकता संशोधन एक्ट को लेकर चिंता व्यक्त की गई है. इस रिपोर्ट में भारत को टियर-2 की श्रेणी में रखा है, जो कि ‘विशेष चिंता का देश’ वाली श्रेणी है.

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

USCIRF की इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 2018 के बाद से भारत में धार्मिक उत्पीड़न के मामले बढ़े हैं. कुछ राज्यों में धार्मिक स्वतंत्रता की बिगड़ती परिस्थितियों को उजागर किया गया है, लेकिन सरकारें इन्हें रोकने का प्रयास नहीं कर रही हैं.

रिपोर्ट में लिखा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उपद्रव को कम करने वाले बयान नहीं दिए और उनकी पार्टी के सदस्यों का हिंदू चरमपंथी के संगठनों से संबंध रहा. इन्हीं नेताओं ने भड़काऊ भाषा का इस्तेमाल किया.

USCIRF

@USCIRF

Today, USCIRF released the following new factsheet on India’s Citizenship (Amendment) Act (CAA).

This factsheet provides an overview of the and explains why it represents a significant downward turn in religious freedom in .https://www.uscirf.gov/news-room/press-releases-statements/uscirf-releases-new-factsheet-india-s-citizenship-amendment-act 

USCIRF Releases New Factsheet on India’s Citizenship (Amendment) Act

The United States Commission on International Religious Freedom (USCIRF) today released the following new factsheet on India’s Citizenship (Amendment) Act.

uscirf.gov

कई घटनाओं का जिक्र करने के अलावा नागरिकता संशोधन एक्ट पर चिंताएं व्यक्त की गई हैं और कहा गया है कि एक बड़े तबके में इससे डर का माहौल है.

us_report_022020113026.jpgअमेरिकी एजेंसी की रिपोर्ट

गौरतलब है कि मोदी सरकार के राज में कई बार ऐसे मामले आए हैं, जहां पर धार्मिक उत्पीड़न हुआ है. कई बार मॉब लिंचिंग, बीफ के नाम पर पिटाई, दलित उत्पीड़न के मसलों ने दुनियाभर में सुर्खियां बटोरी हैं. जिसपर विवाद हुआ है. अब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आने से पहले इस तरह की रिपोर्ट सरकार की चिंताएं बढ़ा सकती हैं.

USCIRF एक अमेरिकी एजेंसी है जो दुनिया भर में धार्मिक मसलों पर रिपोर्ट तैयार करती है, ये एजेंसी सीधा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिकी संसद और अमेरिकी सीनेट को रिपोर्ट देती है.

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram