तनाव से बाहर निकलने कुछ टिप्स…

आज कल आये दिन हम Newspaper में लोगो की आत्महत्या के बारे में बढ़ते है। यह बहुत ही Serious Problem है Depression यह एक मानसिक समस्या हैं। जिसमें कई लोग सामान्य बर्ताव नहीं करते और धीरे धीरे अपना मानसिक संतुलन भी खो देते हैं। Depression ज्यादा हो तो कई बार लोग आत्महत्या जैसे रास्तें को चुनते है इसीलिए Depression Treatment करना हमारा सबसे पहला काम है।

Depression की कई वजह हो सकती है हर किसी की समस्या अलग अलग हो सकती हैं लेकिन उनके लक्षण लगभग एक जैसे ही होते हैं। जैसे नींद न आना, हर बार चिडचिडा या क्रोध में रहना, हर बार अपने खुद को बदनसीब कहना और जल्द ही भावुक हो जाना। अगर आपके आसपास के किसी भी व्यक्ति में ऐसे लक्षण दिखाई दे तो हमनें यहाँ पर तनाव से बाहर निकलने कुछ टिप्स – Depression Treatment बताये हैं। जिन्हें पढ़कर आप उस व्यक्ति की मदत कर सकते हैं।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

तनाव से बाहर निकलने कुछ टिप्स – Depression Treatment in Hindi

• क्वालिटी टाइम:
परिवार और दोस्तों के साथ क्वालिटी टाइम बिताना, यह डिप्रेशन से लड़ने के लिए बेस्ट मेडिसिन है। कभी कभी आप अपने परिवार के साथ कही बाहर अपने काम से ब्रेक लेके हॉलिडे भी जा सकते हैं Nature के साथ रहने से आपके मन में आनेवाले दुखी विचार और feelings शांत हो जाएँगी। इससे आपका मन हल्का हो जायेगा।

  • दूसरो के बारे में सोचना:

हम खुद से ज्यादा तो दूसरो के बारे में सोचते हैं। वो शख्स क्या कर रहा है, उसने ऐसा क्यों नहीं किया, वो मुझे बेहतर कैसे है। ये बातें आपको तनाव की तरफ ले जाती हैं। जब आप दूसरो के बारे में अधिक और बिना मतलब का सोचने लगते हैं तो आपके दिमाग में तुलना शुरू हो जाती है और आप खुद को हीन समझकर तनाव में चले जाते हैं। इसीलिए छोडिये, वो जो कर रहा है करने दीजिए, वो अपनी जगह सही है और आप अपनी जगह मस्त रहिये। बस इस छोटी आदत को बदल दीजिए, खुश रहेंगे।

• खुल के बात करों:
अपने परिवार वालोँ से या फिर जो भी आप के सबसे ज्यादा करीब हैं और आपको लगता हैं की वह आपकी बात समझ सकता हैं उससे खुल के अपने प्रोब्लेम्स के बारे में बात करो। आपके क्लोज फ्रेंड्स और आपका परिवार ही आपको डिप्रेशन से बहार निकलने में important भूमिका निभाता है।

  • फोन का इस्तेमाल:

क्या हो अगर आप कम फोन इस्तेमाल करें, इससे क्या बिगड़ जाएगा और आपको कौन सी परेशानी होगी। जब आप इन सवालो को खुद से करेंगे तो जवाब मिलेगा शायद कुछ खास नहीं। आप जब अधिक फोन इस्तेमाल करते हैं तो आप खुद से दूर होते हैं और खुद से दूर रहने वाला इंसान कभी सुखी नहीं रह सकता है। इसीलिए समय निर्धारित कीजिए और फोन का इस्तेमाल कम कीजिए, आप देखेगे की इस छोटी से आदत को बदलते ही आपका जीवन तनावमुक्त होने लगेगा।

• Workshops and Seminars:
अपने काम से related अलग अलग workshop and seminar में हिस्सा लेने से आपको आपके काम में interest आएगा और आप अपने career में नयी नयी चीज़ो पर experiment करना शुरू कर देंगे।

  • अपने के लिए समय ना निकालना:

दुनियाभर के लिए हमारे पास वक्त है लेकिन खुद के लिए नहीं। सबसे बात कर लेते हैं लेकिन खुद से बात करने का एक पल का समय नहीं है और ये आदत आपको तनाव के बहुत करीब ले जाती है। इस आदत को छोडिये और रोजाना एक घंटे का समय खुद को दीजिए। आपको जो पसंद वो करिए, संगीत सुनिए, मनपसंद खाना खाइए और मस्त रहिये। आप देखेगे की इससे आप तनावमुक्त होने लगेंगे।

• अपना मनपसंद काम करे:
हमें जिस काम में भी आता हो या हमारी जिसमें भी रुची हो वो काम करें जैसे पेटिंग, गाना गाना, कविताये करना या फिर डांस करना इससे हमें Depression से निकलने के लिए सहायता मिलेंगी।

• Social Service:
अलग अलग प्रकार के NGO में जाके उनके लिए मुफ्त काम करना एक therapy के समान है। समाजसेवा करने से आप का खाली मन busy रहेगा और आपको अच्छा काम करने से सुकून भी मिलेगा।

• Motivational Songs, Movies, Videos:
जब भी आप कमजोर या दुखी महसूस करे तब अपने मोबाइल पर motivational गाने सुनिए या फिर वीडियोस देखे। ऐसा करने से आपका नेगेटिव मूड बदल जायेगा और आपको आगे काम करने के लिए एनर्जी मिलेगी।

• Running/Swimming:
कोई भी खेल जिसमे आप को चैलेंज महसूस हो। ऐसे खेल में अपना मन लगाने से भी आप अपने अंदर confidence जगा सकते है। बहुत सारे लोग मैराथन में हिस्सा लेते है, कुछ लोग स्विमिंग शुरू करते है। इससे अच्छे physical हेल्थ के साथ mental हेल्थ भी strong हो जाती है।

  • देर से उठना और देर से सोना:

आप सोचेंगे की भला इसका तनाव से क्या मतलब है। जब आप देर से सोते है और देर से उठते है तो आपके जीवन में समय की थोड़ी बहुत कमी होती है। आप जल्दी से उठकर भागते भागते तैयार होते हैं और फिर देर से पहुचने की टेंशन दिमाग में शुरू हो जाती है और हो जाता है तनाव। सोचिये अगर आप एक घंटे पहले उठना शुरू कर दें तो आप सारे काम समय से कर सकेंगे, अच्छा नाश्ता कर सकेंगे, आराम से तैयार होकर समय से दफ्तर जा सकेंगे। इस छोटी से आदत को बदल दीजिए और आप देखेंगे की तनाव शब्द आपके जीवन से गायब हो गया।

• Drugs और Medicines से दूर रहे:
अक्सर लोग Depression से लड़ने के लिए बिना किसी डॉक्टर की सलाह के drugs या medicines लेना चालू करते है। इसके खतरनाक side-effects के कारन आपको फ्यूचर में कई health problems को झेलने की नौबत आ जाएगी।

कई नामांकित व्यक्तियों ने अपने जीवन में डिप्रेशन का सामना किया है और वह उसमे से उभर कर आज भी लोगो के सामने एक मिसाल बन कर खड़े है। दीपिका पादुकोण भी इसका एक उदाहरण है। तो अगर आप भी नैराश्यता से गुजर रहे है तो अपने करीबी लोगोसे बात करे और उन्हें अपनी मुसीबतो के बारे में बताये।

देखिये ना ऊपर बताई गई बातें कितनी आसान है। आप चाहे तो इन्हें छोड़ सकते हैं और छोड़कर देखिये आपका जीवन सुखमय हो जाएगा। जिन्दगी में तनाव शब्द का मतलब भूल जायेगे।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram