नागरिकता संशोधन कानून भारत के सेक्युलर चरित्र पर हमला : स्वराज इंडिया

स्वराज इंडिया ने हरियाणा नागरिकता संशोधन कानून को भारत के सेक्युलर चरित्र पर हमला बताया। उन्होंने कहा कि अपनी बात रखने वाले सामाजिक कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेने के लिए यमुनानगर पुलिस की निंदा करते हुए मांग करती है कि हिरासत में लिए गए लोगों को तुरंत रिहा किया जाए।

हरियाणा के यमुनानगर जिले के हमीदा थाना की पुलिस ने सोशल एक्टिविस्ट हिमांशु कुमार सहित स्वराज इंडिया, हरियाणा राज्य इकाई के सदस्य संजय वालिया सहित कुछ अन्य लोगों को गैर कानूनी तरीके से हिरासत में ले लिया है।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

अभी तक मिली जानकारी के अनुसार ये साथी यमुनानगर के हमीदा क्षेत्र में नागरिकता संशोधन कानून व एन आर सी के खिलाफ अपनी बात रख रहे थे तब वहां कुछ असामाजिक किस्म के लोगों ने आकर उन्हें अपनी बात कहने से रोका । उसके बाद वही लोग पुलिस को बुला लाये और हरियाणा पुलिस ने  दखल देने व हंगामा खड़ा करने की कोशिश करने वालों की बजाय लोकतांत्रिक तरीके से शांतिपूर्वक अपनी बात रख रहे लोगों को हिरासत में ले लिया है।
 योगेन्द्र यादव (अध्यक्ष, स्वराज इंडिया ) ने बयान जारी कर कहा कि हरियाणा सरकार भी मेवात में गैरकानूनी तरीके से धारा 144 लगाने के बाद यमुनानगर में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ शांतिपूर्वक अपनी बात रखने वालों को हिरासत में लेकर लोकतंत्र की हत्या करने के रास्ते पर चल पड़ी है।  उन्हीने कहा कि खट्टर सरकार पहले कार्यकाल में भी हरियाणा में बार बार लोकतंत्र की हत्या करने व समाज में अशान्ति फैलाने के काम को अंजाम दे चुकी है। अब भी वही रास्ता अपना कर बोलने के अधिकार को छिनने का काम कर रही है।
राजीव गोदारा (अध्यक्ष, स्वराज इंडिया, हरियाणा) ने कहा कि यमुनानगर पुलिस ने सामाजिक कार्यकर्ताओं को लोकतांत्रिक तरीके से अपनी बात कहने से रोकने के लिए उन्हें हिरासत में ले लिया है। जबकि जो लोग बोलने की आजादी के मौलिक अधिकार को कुचलने के प्रयास कर रहे थे उन्हें रोकने की बजाय उन्हीं के दिशा निर्देश पर काम करने लगी।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

राजीव गोदारा ने कहा कि हिमांशु कुमार की फेसबुक पोस्ट बता रही है कि थाने में किस तरह से कुछ लोग आकर हिरासत में लिए गए सामाजिक कार्यकर्ताओं से किस तरह कुछ बाहरी लोग आकर अभद्र व्यवहार कर रही है। उन्होनें मांग की पुलिस थाने में बाहरी लोगों को आकर दुतव्यवहार करने की छूट देकर अपराध को घटित होने का माहौल बना रही है। जिसके चलते हर तरह के गैर कानूनी कार्य के लिए पुलिस अधिकारी व कर्मी जिम्मेवार होंगें।
हिमांशु कुमार ने अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा है “सीएए औरर एनआरसी का विरोध करने वाले अभियान में शामिल होने के कारण मुझे और यहां के स्थानीय साथियों को पुलिस ने यमुनानगर हरियाणा के हमीदा थाने में बिठा लिया है
टीके और चोटियों वाले लोग आकर हम लोगों के फोटो और वीडियो बना रहे हैं और गालियां दे रहे हैं”।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram