मित्र पुलिस की छवि में पुलिसकर्मी, रायबरेली महिला थाना में तैयार हो रहा गरीबों के लिए खाना

रायबरेली। कोरोना के कारण हुए लॉक डाउन से रोज नई-नई तस्वीरें सामने आ रही हैं, जिनमें पुलिस की अलग ही छवि दिख रही है। मित्र पुलिस की भूमिका में पुलिसकर्मी नजर आ रहे हैं।
रायबरेली के महिला थाना में ही गरीबों के लिए खाना तैयार कराया जा रहा है। कहीं लोगों को खाना बांटा जा रहा है तो कहीं घर पर जाकर उनकी मदद भी की जा रही है। रायबरेली के महिला थाना का किचन तो इसके लिए तैयार भी कर दिया गया है, जहां महिला आरक्षी खाना बना रही हैं और यही खाना डिब्बाबंद होकर जरूरतमंदों तक पहुंच रहा है। थानाध्यक्ष संतोष सिंह की देखरेख में इस पूरी व्यवस्था को अंजाम दिया जा रहा है।
महिला थानाध्यक्ष संतोष सिंह का कहना है कि पहली प्राथमिकता है कि कोई भूखा न रहे, इसके लिए पुलिस पूरी जिम्मेदारी से जुटी हुई है। इसके अलावा कहीं रात में एसपी असहायों को खाना बाट रहे हैं तो थानों में खाने के पैकेट तैयार हो रहे हैं। दूरदराज के गावों में भी पुलिस एक फोन पर पहुंच रही है। आम जनमानस में पुलिस का यह चेहरा अलग ही हकीकत बयान करता है।
रायबरेली में लाकडाउन के तीसरे दिन तमाम दुश्वारियों को झेलते हुए पुलिसकर्मी जहां इसे सफल बनाने में जुटे हैं, वहीं इससे प्रभावित लोगों की मदद भी कर रहे हैं। शहर में गरीब असहायों की मदद के लिए रात में ही पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगाई सड़क पर उतर पड़े। ड्यूटी के साथ ही उन्होंने लोगों को खाने के पैकेट बांटे।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर कि कोई भुखा नहीं रहना चाहिए, रायबरेली पुलिस इसे पूरा करने में तत्पर है। लालगंज में कानपुर से पैदल आ रहे लोंगो को पुलिस ने खाने पीने की व्यवस्था उपलब्ध कराई। ऊंचाहार के कोतवाल धर्मेन्द्र दुबे ने भी ढूंढ-ढूंढकर गरीब और असहायों को भोजन के पैकेट वितरित किये। शहर की गलियों से लेकर दूर ग्रामीण अंचलों तक पुलिस की यह मुस्तैदी आम जनमानस में मित्र पुलिस की छवि को जरूर बदल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram