मुख्यमंत्री योगी ने दिखाई देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस को हरी झंडी, जाने खास बातें

देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस का उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को हरी झंडी दिखाकर लखनऊ जंक्शन से रवाना किया। लखनऊ से नई दिल्ली के बीच चलने वाली इस ट्रेन का संचालन इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन कर रहीं है।

क्या है ट्रेन का समय
तेजस एक्सप्रेस की शुरुआत आज से हो गई है। यह नई दिल्ली से शाम 3.35 बजे खुलेगी, और उसी दिन 10.05 बजे रात को लखनऊ पहुंचेगी। ट्रेन लखनऊ से दिल्ली के सफर को 6 घंटे 15 मिनट में तय कर लेगी। तेजस लखनऊ से सुबह 6.10 बजे चलेगी और 12.25 बजे दिल्ली पहुंचेगी। ये ट्रेन हफ्ते में छह दिन चलाई जाएगी। 82502/82501 तेजस एक्सप्रेस मंगलवार को छोड़कर हफ्ते के छह दिन नई दिल्ली और लखनऊ के बीच चलेगी।

बीमा और मुआवजा का प्रवधान
रेल यात्रियों को आकर्षित करने के लिए तेजस एक्सप्रेस में बीमा के साथ-साथ ट्रेन अगर देर होती है तो इसकी भरपाई के लिए मुआवजा देने का प्रावधान किया गया है। ट्रेन में अगर 01 घंटे की देरी होती है तो यात्री को 100 रुपये का मुआवजा दिया जाएगा, वहीं 02 घंटे से ज्यादा की देरी होती है तो प्रत्येक यात्री को  250 रुपये दिए जाएंगे।

किराया
लखनऊ से दिल्ली के लिए इसमें एसी चेयर कार का किराया 1,125 रुपये और एग्जीक्यूटिव चेयर कार का किराया 2,310 रुपये है। वहीं वापसी के सफर के लिए ये एसी चेयर कार के लिए 1,280  जबकि एग्जीक्यूटिव चेयर कार के लिए 2,450 है।

इसी तरह लखनऊ के कानपुर का सफर एसी चेयर कार में महज 320 रुपये में पूरा किया जा सकेगा और एग्जीक्यूटिव चेयर कार के लिए यात्रियों को 630 रुपये का किराया देना होगा। दिल्ली के कानपुर जाने कि लिए एसी चेयर कार का किराया 1,155 रुपये और एग्जीक्यूटिव चेयर कार का किराया 2,155 रुपये रहेगा। वहीं लखनऊ से गाजियाबाद के लिए एसी चेयर कार का किराया 1,125 रुपये और एग्जीक्यूटिव चेयर कार का किराया 2,310 रुपये है।

उल्लेखनीय है कि लखनऊ से दिल्ली चलने वाली पहली निजी तेजस ट्रेन को शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज हरी झंडी दिखाई।  रेलवे के 100 डे एजेंडा के तहत वर्ल्ड क्लास पैसेंजर सर्विस देने के प्रस्ताव को पूरा करने के लिए ये फैसला लिया गया। इस ट्रेन के लिए बुकिंग शनिवार यानि 21 सितम्बर से शुरू हो गई थी,  मगर इसका संचालन आज से हो रहा है।

 

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram