रिलायंस इंडस्ट्रीज / जुलाई-सितंबर में 11262 करोड़ रु. का रिकॉर्ड मुनाफा, सालाना आधार पर 18% ज्यादा

रिलायंस इंडस्ट्रीज को जुलाई-सितंबर में 11,262 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ। यह अब तक का सबसे ज्यादा है। पिछला रिकॉर्ड इसी साल जनवरी-मार्च तिमाही का है। उस तिमाही में कंपनी को 10,362 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ था। जुलाई-सितंबर का मुनाफा तिमाही आधार पर 11.5% और सालाना आधार पर 18.3% ज्यादा है। रेवेन्यू सालाना आधार पर 4.8% बढ़कर 1 लाख 63 हजार 854 करोड़ रुपए रहा। ग्रॉस रिफाइनिंग मार्जिन (जीआरएम) 9.4 डॉलर प्रति बैरल रहा। यह पिछली 5 तिमाही में सबसे ज्यादा है। रिटेल और डिजिटल कारोबार में भी अच्छी ग्रोथ दर्ज की गई। कंपनी ने शुक्रवार को नतीजे घोषित किए।

रिलायंस का मुनाफा और रेवेन्यू

तिमाही जुलाई-सितंबर 2019 अप्रैल-जून 2019 जुलाई-सितंबर 2018
मुनाफा (रुपए करोड़) 11,262 10,104 9,516
रेवेन्यू (रुपए करोड़) 1,63,854 1,72,956 1,56,291

जियो का मुनाफा 45.5% बढ़ा
रिलायंस की टेलीकॉम कंपनी जियो का जुलाई-सितंबर में 990 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ। यह सालाना आधार पर 45.4% और तिमाही आधार पर 11.1% ज्यादा है। अप्रैल-जून में मुनाफा 891 करोड़ और पिछले साल जुलाई-सितंबर में 681 करोड़ रुपए था। ऑपरेटिंग रेवेन्यू 12,354 करोड़ रुपए रहा। यह पिछले साल की सितंबर तिमाही के रेवेन्यू (9,240 करोड़ रुपए) के मुकाबले 33.7% अधिक है। जियो के सब्सक्राइबर की संख्या सितंबर के आखिर तक 35.52 करोड़ पहुंच गई। जून तिमाही में 33.13 करोड़ थी।

‘जियो हर महीने 1 करोड़ नए ग्राहक जोड़ रही’

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और एमडी मुकेश अंबानी ने कहा कि जियो दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती डिजिटल सर्विस कंपनी बनी हुई है। हम हर महीने 1 करोड़ नए ग्राहक जोड़ रहे हैं। जियो सिर्फ सब्सक्राइबर और रेवेन्यू में ही देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी नहीं, बल्कि ये डिजिटल गेटवे ऑफ इंडिया बन चुकी है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज पर 2 लाख 91 हजार 982 करोड़ का कर्ज
कंपनी ने बताया कि 30 सितंबर को खत्म तिमाही में कर्ज इतना था। 31 मार्च तक कर्ज की रकम 2 लाख 87 हजार 505 करोड़ रुपए थी। सितंबर तिमाही के आखिर में कंपनी के पास 1 लाख 34 हजार 746 करोड़ रुपए की नकदी मौजूद थी। इससे पहले 31 मार्च तक 1 लाख 33 हजार 27 करोड़ रुपए का कैश था।

रिलायंस के शेयर में 1.4% बढ़त
बीएसई पर शेयर शुक्रवार को इतनी तेजी के साथ 1415.30 रुपए पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान 1428 रुपए तक पहुंचा था। शेयर में उछाल आने से रिलायंस 9 लाख करोड़ रुपए के मार्केट कैप वाली देश की पहली कंपनी भी बन गई। हालांकि, बाजार बंद होने के साथ वैल्यूएशन 8.97 लाख करोड़ रुपए रह गया। कंपनी ने शेयर बाजार बंद होने के बाद तिमाही नतीजे घोषित किए। इसलिए, शेयर पर नतीजों का असर सोमवार को दिखेगा।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram