रैंकिंग में उछाल : ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में पहली बार टॉप-50 में भारत

– रैंकिंग में उछाल:ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में भारत ने 4 अंकों की लगाई छलांग, 52 से सुधरकर अब 48 वें नंबर पर पहुंचा, चीन 14 वें नंबर पर

भारत ने ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स (जीआईआई) के मामले में 4 नंबर का इजाफा किया है। अब यह वैश्विक स्तर पर 48 वें नंबर पर आ गया है। यानी टॉप 50 के अंदर भारत शामिल हो गया है। इससे पहले इस इंडेक्स में पिछले साल भारत का स्थान 52 वें नंबर पर था। इसका मतलब यह हुआ कि देश अब उन्नतिशील देशों में अपनी पोजीशन मजबूत कर रहा है। चीन इसमें 14 वें नंबर पर है।

Jhakkas khabar

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

हर साल रैंकिंग होती है जारी

वर्ल्ड इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी ऑर्गनाइजेशन (डब्ल्यूआईपीओ) हर साल ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स रैंकिंग जारी करता है। इस वर्ष, स्विट्जरलैंड, स्वीडन, यू.एस., यू.के. और नीदरलैंड वार्षिक रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर है। संगठन के अनुसार, भारत, चीन, फिलीपींस, और वियतनाम वर्षों में अपनी जीआईआई रैंकिंग में सबसे महत्वपूर्ण अर्थव्यवस्था रहे हैं। यह चारों देश अब शीर्ष 50 में हैं।
आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

साल 2015 में भारत 81 वें स्थान पर था

साल 2015 में भारत इस सूची में 81 वें स्थान पर था। 2016 में यह 15 स्थानों की छलांग लगाकर 66 वें स्थान पर पहुंच गया। 2017 में यह 6 अंक और बढ़कर 60वें स्थान पर पहुंच गया। 2018 में भारत 57 वें स्थान पर तथा पिछले साल इस सूची में 52 वें स्थान पर पहुंच गया। इस साल, देश आखिरकार शीर्ष 50 में पहुंच गया और 48 वें स्थान पर है। इस तरह से पिछले पांच सालों में देश ने हर साल अच्छी छलांग लगाई है। पांच सालों में इसने 33 अंकों की छलांग लगाई है।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

इनोवेशन में लंबे समय से दबाव बना रहा है कोविड

डब्ल्यूआईपीओ ने अपने ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में कहा कि कोविड-19 महामारी गंभीर रूप से दुनियाभर के इनोवेशन में लंबे समय से वृद्धि का दबाव बना रही है, जो संभवत: स्वास्थ्य क्षेत्र में बाधा उत्पन्न करती है। यह नई गतिविधियों में बाधा उत्पन्न करती है। स्विट्जरलैंड, स्वीडन, यूएस, यूके और नीदरलैंड एक दूसरे एशियाई अर्थव्यवस्था के साथ इनोवेशन रैंकिंग का नेतृत्व करते हैं। कोरिया पहली बार शीर्ष 10 में शामिल हो रहा है। शीर्ष 10 में उच्च आय वाले देशों का दबदबा है। सिंगापुर इस इंडेक्स में 8 वें नंबर पर है। इंडोनेशिया इसमें 85 वें नंबर पर है।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

अभी भी हाई इनकम वाली अर्थव्यवस्था का है दबदबा

जीआईआई में शीर्ष प्रदर्शन करने वाली अर्थव्यवस्थाएं अभी भी विशेष रूप से उच्च-आय वर्ग से हैं। इसमें चीन (14 वें) के साथ जीआईआई शीर्ष 30 में एकमात्र मध्य-आय अर्थव्यवस्था वाला देश है। मलेशिया 33 वें नंबर पर है। 2014 में फिलीपींस ने अपना सर्वश्रेष्ठ रैंक हासिल किया और उस समय वह 100 वें स्थान पर रहा। वियतनाम वियतनाम लगातार दूसरे वर्ष में 2014 में 71 वें स्थान पर है।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram