लॉकडाउन के बीच ABVP ने शिक्षा जगत की समस्याओं के समाधान को लेकर MHRD को भेजा ज्ञापन

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के खिलाफ जारी जंग के चलते भारत में 21 दिन के लॉकडाउन का असर शिक्षा जगत पर भी पढ़ रहा है। ऐसे में अखिल भारतीय परिषद (अभाविप) ने देशभर के शिक्षा जगत से संबंधित समस्याओं और उनके समाधान के लिए मंगलवार को केंद्रीय मानव संसाधन एवं विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ को ई-मेल के माध्यम से एक ज्ञापन भेजकर यथाशीघ्र समस्याओं के निवारण की मांग की है।
अभाविप की ओर से भेजे गए ज्ञापन में छात्रों से व्यवस्थाओं से संबंधित कई बातें लिखी हैं। इनमें मुख्य रूप से ऑनलाइन माध्यमों से पठन-पाठन की व्यवस्था सुनिश्चित करने, स्थिति सामान्य होने तक सभी प्रकार की प्रवेश परीक्षाएं, प्रतियोगी परीक्षाएं तथा विश्वविद्यालय परीक्षाएं स्थगित करने, आवास, आवागमन तथा भोजन की समस्या से जूझ रहे छात्रों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी करने मांग शामिल है।
इसके अलावा प्राथमिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा तथा उच्च शिक्षा के क्षेत्रों में दिव्यांग छात्रों, अनुसूचित जाति-जनजाति, पिछड़ा वर्ग आदि के छात्रों को दी जा रही छात्रवृत्ति तथा शोधवृत्ति शीघ्र प्रदान करने, छात्रों के घरों तक मध्यान्ह भोजन (मिड डे मील) पहुंचाने की व्यवस्था करने, कोरोना वाइरस महामारी के समाप्त होने के पश्चात् उत्पन्न होने वाली समस्याओं को निवारण के लिए अभी से प्राध्यापकों की समिति का गठन करने तथा छात्रों का आगामी सत्र का शुल्क माफ करने आदि विषयों की चर्चा की गई है।
अभाविप की राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने कहा कि इस समय पूरा देश एक बड़े संकट से गुजर रहा है। छात्रों के सामने भी बड़ी समस्याएं खड़ी हुई हैं। उनकी शिक्षा बुरी तरह प्रभावित हो रही है। हमने सरकार से मांग की कि सभी प्रकार की प्रवेश परीक्षाओं तथा प्रतियोगी परीक्षाओं को स्थिति सामान्य होने तक के लिए स्थगित किया जाए तथा स्थिति सामान्य होने पर ही ये गतिविधियां प्रारम्भ हों। मिड-डे मील की व्यवस्था छात्रों को पके भोजन या खाद्य सामग्री उनके घर तक पहुंचाने की मांग हमने की है। हम आशा करते हैं कि छात्रों के हित में सरकार तथा विभिन्न विश्वविद्यालयों के प्रशासन महत्वपूर्ण कदम उठाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram