विश्व दूरसंचार दिवस आज, आपको जरूर पता होनी चाहिए ये पांच बातें

17 मई को हर साल दूरसंचार दिवस मनाया जाता है। दूरसंचार दिवस को साल 2005 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने विश्व सूचना समाज दिवस के रूप में घोषित किया। साल 2005 के बाद से 17 मई को विश्व दूरसंचार और सूचना सोसायटी दिवस (WTISD) के रूप में मनाया जाने लगा। विश्व दूरसंचार दिवस पहली बार 1969 में मनाया गया था। आइए आज इस खास मौके पर इस दिवस के बारे में कुछ खास बाते जानते हैं…

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

17 मई को पहले अंतर्राष्ट्रीय टेलीग्राफ कन्वेंशन के हस्ताक्षर की वर्षगांठ भी है। खास बात यह है कि यूएन ने जब विश्व दूरसंचार दिवस की घोषणा हुई तो उस दिन भी 17 मई ही थी।

नवंबर 2006 में, तुर्की के अंताल्या में आईटीयू प्लेनिपोटेंटरी सम्मेलन ने 17 मई को दोनों विश्व दूरसंचार और सूचना सोसायटी दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया गया।

विश्व दूरसंचार दिवस पूरी दुनिया में इंटरनेट और संचार के बारे में जागरूकता बढ़ाता है।

विश्व संचार दिवस का मकसद वैश्विक स्तर पर टेक्नोलॉजी और इंटरनेट के बारे में सकारात्मकता फैलाना है।

विश्व दूरसंचार दिवस का उद्देश्य सुदूर और ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए सूचना और संचार दोनों को आसानी से सुलभ बनाना है।

भविष्य में दूरसंचार क्षेत्र में होंगे ये बदलाव

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

5G: साल 2020 को 5जी का साल कहा गया है लेकिन कोरोना ने इस पर ब्रेक लिया गया है, हालांकि 5जी नेटवर्क के इंफ्रास्ट्रक्चर में काफी बदलाव देखने को मिला है और आने वाले समय में इसमें काफी विकास होगा। गार्टनर ने भविष्यवाणी की है कि 2020 में दुनियाभर में 5G नेटवर्क इंफ्रास्ट्रक्चर रेवेन्यू 4.2 बिलियन डॉलर को छू जाएगा, जो 89 प्रतिशत की साल-दर-साल की वृद्धि दर्ज करेगा।

क्लाउड कम्यूनिकेशन: 2020 में, क्लाउड कंम्यूनिकेशन पर होने वाला खर्च कुल तकनीक पर होने वाले खर्च का 70 फीसदी है। 2025 तक दुनिया भर में लगभग 80 फीसदी व्यवसाय क्लाउड कम्यूनिकेशन पर निर्भर होंगे। खास बात यह है कि कोरोना महामारी इसके विकास को और तेज कर दिया है।

डाटा एंड इंफ्रास्ट्रक्चर: डाटा सेंटर इंफ्रास्ट्रक्चर मैनेजमेंट (DCIM) ने टेक्नोलॉजी को ऊपर ले जाने में काफी मदद की है। इसकी मदद से बिजली की खपत और स्वामित्व की लागत को कम करने में मदद मिलती है। इसका सबसे बड़ा फायदा है कि इसकी वजह से वैश्विक व्यापार में अरबों डॉलर बचते हैं। कंपनियों के साथ अब बिजली की खपत पर नजर रखने और नियंत्रण में मदद मिलेगी।

बिजनेस के लिए चैट एप: आपको जानकर हैरानी होगी कि बिजनेस चैट एप्स पर एक मिनट में 41 मिलियन मैसेज भेजे जाते हैं और 2020 के अंत तक तीन अरब लोग चैट एप्स पर चैटिंग करेंगे। इसकी सबसे बड़ी खासियत चैट एप्स 24*7 उपलब्ध रहते हैं। इसके अलावा चैट एप्स आम सवालों के जवाब देने में सक्षम होंगे।

 

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram