(हमीरपुर बुलेटिन) शिकायतों की अनदेखी में नपेंगे अधिकारी : जिलाधिकारी – पढ़ें दिनभर की खबरें

9 – सड़क पर जा रहे युवक को गोली मारी, लोगों में मची भगदड़

जिले में मंगलवार को शाम भीड़भाड़ वाले स्थान में एक युवक को दबंगों ने गोली मार दी जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे आननफानन इलाज के लिये सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया हैं। घटना की सूचना मिलते ही कोतवाल पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गये हैं और मामले की जांच शुरू कर दी हैं।
जिले के मौदहा कस्बे के सईद पीर बाबा मजार के पास हुसैनिया मोहित (26) पुत्र राजेन्द्र घर से किसी काम के लिये स्टेट बैंक के पास गया था। तभी सड़क पर दबंगों ने उसे घेर लिया और गोली मार दी। गोली चलने से सड़क में अफरातफरी मच गयी। घटना की सूचना पाते ही यूपी-112 मौके पर पहुंची। परिजनों ने पुलिस की मदद से घायल को इलाज के लिये अस्पताल में भर्ती कराया हैं।
मोहित के बाजू (हाथ) में गोली लगी हैं। हमलावर घटना को अंजाम देने के बाद मौके से भाग गये हैं।कोतवाल विक्रमाजीत सिंह ने बताया कि घायल युवक को मौदहा स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया जहां डाक्टरों ने सदर अस्पताल के लिये उसे रेफर कर दिया हैं। परिजनों की तहरीर आते ही मुकदमा दर्ज किया जायेगा। फिलहाल मामले की जांच जारी हैं। बता दे कि इससे पहले मौदहा में एक व्यक्ति को दिनदहाड़े गोली मारी गयी थी।

 

8 – बार संघ के अध्यक्ष पद पर जव्वाद अली 49 मतों से निर्वाचित

 जिले के मौदहा में अधिवक्ता संघ के चुनाव में जव्वाद अली ने 49 मतों से अध्यक्ष पद पर जीत दर्ज करायी है।
मौदहा बार संघ के चुनाव मंगलवार को सम्पन्न हुये, जिसमें महासचिव पद पर राजकुमार राजपूत 89 मत पाकर निर्वाचित हुए, जबकि 88 मत पाकर विजय प्रजापति कोषाध्यक्ष पद के लिये चुने गये।
कनिष्क उपाध्यक्ष पद पर रमेश यादव, संयुक्त सचिव पद पर कमलेश कुमार, शिवबरन, राजबहादुर यादव तथा वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर रघुवीर वर्मा, उपाध्यक्ष पद पर मोहम्मद हनीफ व इन्द्रपाल प्रजापति चुने गये हैं। बता दे कि बार संघ के चुनाव में 116 अधिवक्ताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया।

7 – युवक की मौत के मामले में चार लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज

जिले में तालाब में डूबकर एक युवक की हुयी मौत के मामले में मंगलवार को पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर चार लोगों के खिलाफ हत्या का मामला पुलिस ने दर्ज किया हैं। इस घटना को लेकर अपर पुलिस अधीक्षक व सीओ ने जांच भी शुरू कर दी हैं।
उल्लेखनीय हैं कि 14 अक्टूबर को जिले के मौदहा कस्बे के रामनगर मुहाल निवासी मयंक शर्मा (20) पुत्र अखिलेश शर्मा का शव ओरी तालाब में मिला था। मयंक अपने माता पिता का इकलौता बेटा था जो सेना में जाने के लिये एनडीए की तैयारी कर रहा था जिसकी मौत को लेकर परिजनों ने हत्या की आशंका जताते हुये शिकायत की थी। यहां के पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार से भी परिजनों ने शिकायत कर तीन युवकों पर हत्या करने के आरोप लगाये थे।
इस मामले की जांच सीओ मौदहा को दी गयी थी। अपर पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह भी दो दिनों से लगातार इस पूरे मामले की जांच कर रहे हैं। मंगलवार को मौदहा कोतवाल ने इस मामले को लेकर पड़ोस के ही सत्यम नामदेव व तीन अन्य के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया हैं। मृतक के पिता अखिलेश शर्मा ने बताया कि पुत्र तैराक था जो गहरे पानी में डूब नहीं सकता हैं। इसे सत्यम समेत चार लोग स्नान कराने के लिये तालाब ले गये थे जहां उसकी हत्या कर दी गयी हैं। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में भी दम घुटने से मौत होने की पुष्टि हो चुकी हैं। कोतवाल विक्रमाजीत सिंह ने बताया कि परिजनों की तहरीर पर सत्यम नामदेव व तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी गयी हैं।

6 – वयोवृद्ध लोकतंत्र सेनानी का निधन, प्रशासन ने सम्मान देकर दी अंतिम विदाई

जिले में वयोवृद्ध एक लोकतंत्र सेनानी चन्द्रभान सिंह गौर के निधन पर मंगलवार को प्रशासन ने उनके पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। पुलिस ने गार्ड आफ आनर दिया। श्री गौर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से भी जुड़े रहे हैं।

जिले के कुरारा कस्बे में विकास $खण्ड कार्यालय के पास रहने वाले वयोवृद्ध लोकतंत्र सेनानी चन्द्रभान सिंह गौर (85) का अचानक निधन हो गया। उनके निधन की खबर पाते ही मंगलवार को दोपहर एसडीएम सदर राजेश कुमार चौरसिया, सीओ सदर अनुराग सिंह व थानाध्यक्ष एके सिंह मौके पर पहुंचे और लोकतंत्र सेनानी के पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। पुलिस और प्रशासन ने सम्मान देकर लोकतंत्र सेनानी को अंतिम विदाई दी। उनके अंतिम यात्रा में नगर पंचायत अध्यक्ष श्रीकांत गुप्ता, भाजपा नेता गोपाल दास पालीवाल, भाजपा कार्यकर्ता व बड़ी संख्या में कस्बे के लोग शामिल हुये। बता दे कि चन्द्रभान सिंह गौर डाकघर में पोस्टमैन रहे हैं। सेवानिवृत्त होने के बाद वह राजनीति में आये थे। वे आरएसएस से भी जुड़े रहे। इमरजेंसी के दौरान उन्हें जेल भेजा गया था।
5 – स्कार्पियों कार से भाग रहा अपराधी गिरफ्तार चोरी का 2.70 लाख बरामद

-हरियाणा प्रांत की स्कार्पियों की नम्बर प्लेट भी की गयी थी चेंज, अवैध असलहा भी बरामद
जिले में मंगलवार को स्वाट टीम ने स्थानीय पुलिस के साथ मुखबिर की सूचना पर छापा मारकर एक अपराधी को गिरफ्तार किया हैं। इसके कब्जे से एक स्कार्पियों कार व अवैध असलहा, कारतूस तथा चोरी की गयी जेवरात के लाखों रुपये बरामद किये गये हैं। गिरफ्तार अपराधी के चार साथी फरार हैं जिनकी तलाश में पुलिस की टीमें लगातार कार्यवाही कर रही हैं।

जिले के सुमेरपुर थाने के इंस्पेक्टर श्रीप्रकाश यादव ने बताया कि स्वाट टीम प्रभारी केके पाण्डेय व उपनिरीक्षक सतीश कुमार यादव ने पुलिस टीम के साथ मुखबिर की सूचना पर कस्बे से मकरवई कबरई महोबा निवासी एवं नयी बस्ती दुर्गापुरी मौदहा निवासी छोटेलाल कुशवाहा पुत्र कल्लू कुशवाहा को गिरफ्तार किया गया हैं। ये स्कार्पियों से कहीं भागने की फिराक में था तभी उसे दबोच लिया गया। इसके कब्जे से 2.70 लाख रुपये की नकदी, चोरी का मोबाइल, अवैध तमंचा तीन सौ पन्द्रह बोर, कारतूस बरामद किया गया हैं। इंस्पेक्टर ने बताया कि इस अपराधी ने अपने चार साथियों के साथ 29 अगस्त की रात सुमेरपुर कस्बे में संजीव साहू पुत्र बाबूलाल साहू के मकान से जेवरात, मोबाइल व अन्य सामान की चोरी की थी। चोरी के बाद छोटेलाल कुशवाहा ने जेवरात बेच दिये थे। जिससे दो लाख सत्तर हजार रुपये नकद बरामद कर लिये गये हैं।
मौके से एक स्कार्पियों कार क्रमांक एचआर.51एएच-1400 वास्तविक नंबर एचआर.51एएच-2400 को कब्जे में लेकर सीज कर दिया गया हैं। इस स्कार्पियों का नम्बर बदल दिया गया था। इस अपराधी के खिलाफ कई मामले दर्ज हैं। पुलिस ने आरोपित को जेल भेज दिया हैं साथ ही उसके अन्य साथियों की तलाश भी शुरू कर दी गयी हैं।
4 – भारत की शिक्षा और संस्कृति हो रही मजबूतः युवराज सिंह

हमीरपुर सदर के भाजपा विधायक युवराज सिंह ने मंगलवार को शिक्षक सम्मान समारोह में कहा कि मुगलों और अंग्रेजों ने हमारी शिक्षा एवं संस्कृति को नष्ट करने में कोई कोर कसर बाकी नहीं रखी थी। देश के आजाद होते ही हमारे गुरुओं, शिक्षकों ने अपनी शिक्षा और संस्कृति को मजबूत करने का बराबर प्रयास कर रह हैं और उनका प्रयास अब धरातल में नजर आने लगे हैं।
सदर विधायक जिले के सुमेरपुर कस्बे के नजरपुर में संचालित युग चेतना महाविद्यालय में शिक्षक सम्मान समारोह में शिक्षकों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शिक्षा से हमें सीख मिलती हैं कि हमें हमेशा अच्छी चीजों को ग्रहण करना चाहिये। कहा कि हमारी शिक्षा एवं संस्कृति को नष्ट करने में विदेशी आक्रमणकारियों ने कोई कसर बाकी नहीं रखी थी किन्तु ऋषियों, मुनियों, गुरुओं व शिक्षकों के सतत प्रयास से हमारी शिक्षा एवं संस्कृति वट वृक्ष की तरह आज भी खड़ी हुयी हैं। क्योंकि इसको ध्वस्त करना किसी भी विदेशी अक्रांता के वश में नहीं रहा हैं। उन्होंने छात्राओं के प्रस्तुत सांस्कृतिक कार्यक्रमों की सराहना करते कहा कि यह हमारी संस्कृति का एक हिस्सा है।

महाविद्यालय के प्रबंधक महामण्डलेश्वर स्वामी ज्योतिर्मयानंद महाराज ने कहा कि गुरुदेव महाराज महामण्डलेश्वर स्वामी परमानंद ने इस पिछड़े क्षेत्र को अच्छी शिक्षा देने के संकल्प के साथ इस संस्था की स्थापना की थी। विधायक ने महाविद्यालय के सभी शिक्षकों, शिक्षिकाओं को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस मौके पर रामदत्त पाण्डेय, सहित तमाम कार्यकर्ता मौजूद रहें।
3 – हमीरपुर में गैर संचारी रोगों की अब आशा बहुयें करेंगी निगरानी
 
– हाईपरटेशन, डायबिटीज व तीन तरह के कैंसर की भी पहचान को दिया जा रहा प्रशिक्षण 
जिले मे मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग ने सबसे प्रथम इकाई आशा बहू को एनसीडी (गैरसंचारी रोगों) की पहचान के प्रति प्रशिक्षित करने की शुरुआत हुई है। दो माह तक 11 बैचों में जनपद के हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर, पीएचसी और अर्बन पीएचसी के अंतर्गत आने वाली आशा बहुओं को गैर-संचारी रोगों के प्रति प्रशिक्षित किया जाएगा ताकि समय रहते इन बीमारियों का पता चल सके और मरीज का उपचार शुरू हो सके। इसके पहले बैच की शुरुआत सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कुरारा में हुई है। जहां 30 आशा बहुओं को प्रशिक्षित किया जा रहा है।
स्वास्थ्य विभाग ने गैर-संचारी रोगों के अंतर्गत पांच प्रमुख बीमारियों को लिया है। इनमें हाइपरटेंशन, डायबिटीज और तीन प्रकार का कैंसर ओरल, ब्रेस्ट और सर्वाइकल कैंसर है। इन पांचों रोगों के प्रति समुदाय में अभी भी जागरूकता का अभाव है। जिसकी वजह से जाने-अनजाने लोग इन बीमारियों की चपेट में होते हैं, मगर समय रहते उन्हें इसका पता नहीं चलता। खासतौर पर ब्रेस्ट कैंसर के प्रति महिलाओं में जागरूकता का ज्यादा अभाव है। शर्म की वजह से भी बहुत सी महिलाएं इन बीमारियों के प्रति चुप्पी साधे रहती हैं और आगे चलकर यही बीमारियां जानलेवा साबित हो जाती है।
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत अब आशा बहुओं को एनसीडी का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। आशा बहू स्वास्थ्य विभाग की  पहली कड़ी है और स्वास्थ्य सेवाओं में इस वक्त महत्वपूर्ण भूमिका भी निभा रही है। लिहाजा एनएचएम के माध्यम से हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर, पीएचसी और अर्बन पीएचसी के अंतर्गत आने वाली आशा बहुओं को प्रथम चरण में प्रशिक्षित किया जा रहा है।
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कुरारा में कल से पांच दिवसीय एनसीडी का प्रशिक्षण शुरू हो गया जिसमें कुल 30 आशा बहुओं के बैच को प्रशिक्षित किया जा रहा है। डॉ. पीएल कुरैचया द्वारा आशा बहुओं को प्रशिक्षित किया जा रहा है। सभी आशा बहुओं को गैरसंचारी रोगों की पहचान और लक्षण के बारे में जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि व्यक्ति गैर संचार रोगों के साथ भी स्वस्थ लग सकता है। इसलिए प्रत्येक वयस्क की जांच नियमित अंतराल पर होती रहनी चाहिए।
डीसीपीएम मंजरी गुप्ता ने बताया कि कुल 11 बैचो में आशा बहुओं को प्रशिक्षित किया जाना है। 330 आशा बहुओं को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य रखा गया है। इस प्रशिक्षण में आशा बहुओं को फैमिली फोल्डर भरने की भी जानकारी दी जा रही है। फिलहाल कुरारा, मौदहा, सुमेरपुर और मुस्करा ब्लाकों में हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर कार्य कर रहे हैं। इन सभी सेंटरों की आशा बहुओं को प्रशिक्षित किया जाना है।

2 – अक्षय नवमीः महिलाओं ने परिवार संग आंवला पेड़ के लगाये फेरे

-पेड़ों की छांव में महिलाओं और बच्चों ने सामूहिक रूप से किया भोजन
जिले में घर की खुशहाली और सुहाग की रक्षा के लिये मंगलवार को महिलाओं में अक्षय नवमी (इच्छा नवमी) की धूम मच गयी हैं। आंवला पेड़ की महिलाओं ने परिवार के साथ पूजा अर्चना की बल्कि पेड़ के फेरे लगाने के बाद वहीं जमीन पर बैठकर सामूहिक रूप से भोजन भी किया। एतिहासिक मंदिरों और कम्पनी बाग में इस पर्व को लेकर आंवला पेड़ की पूजा के लिये बड़ी संख्या में महिलाओं की भीड़ उमड़ी।

जिले में अक्षय नवमी को लेकर सुबह से ही घर-घर में तैयारियां शुरू हो गयी। घर में महिलाओं ने पकवान बनाने के बाद दोपहर हमीरपुर नगर के एतिहासिक चौरादेवी मंदिर, पतालेश्वर मंदिर में पहुंचकर पहले पूजा अर्चना की फिर आंवला के पेड़ की विधि विधान से पूजा कर पेड़ के फेरे लिये। महिलाओं ने देशी घी से दीपक जलाकर आंवला पेड़ की आरती की। आंवला पेड़ के नीचे महिलाअओं ने इच्छा नवमी की कथा भी विधि विधान से सुनी। इसके बाद पेड़ की छांव में ही महिलाओं ने अपने पूरे परिवार के साथ सामूहिक रूप से भोजन किया। स्थानीय जिला उद्यान विभाग के कम्पनी बाग में भी सैकड़ों महिलाओं ने आंवला पेड़ की पूजा कर सामूहिक रूप से भोजन किया। जिले के सुमेरपुर, मौदहा, राठ, सरीला, गोहांड, मुस्करा, कुरारा सहित कस्बे से लेकर ग्रामीण इलाकों में भी आंवला पेड़ की पूजा कर उसके नीचे दोपहर का भोजन करने की दौर अभी भी जारी हैं। भरुआ सुमेरपुर कस्बे के गायत्री तपोभूमि प्रांगण में तो बड़ी संख्या में महिलायें परिवार संग आंवला पेड़ की पूजा करने पहुंची हैं। अभी भी विधि विधान से पूजा अर्चना का सिलसिला चल रहा हैं जो शाम तक चलेगा। इधर हमीरपुर के पंडित दिनेश दुबे ने बताया कि कार्तिक मास में शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को अक्षय नवमी, आंवला नवमी कहा जाता हैं। ये पर्व दिवाली से आठ दिन बाद पड़ता हैं। हिन्दु धर्म में अक्षय नवमी का बहुत ही महत्व बताया गया हैं।
पंडित दिनेश दुबे ने बताया कि ये दिन भगवान विष्णु की पूजा के लिये बेहद शुभ दिन माना गया हैं। धार्मिक मान्यता के मुताबिक अक्षय नवमी का वैसा ही महत्व हैं जो वैशाख मास की तृतीय का हैं। अक्षय नवमी के दिन किया गया दान पुण्य कभी समाप्त नहीं होता हैं। ऐसी मान्यता हैं कि इस दिन द्वापर युग का आगाज हुआ था। आज ही विष्णु भगवान ने कुष्माण्डक दैत्य का नाश किया था। उसके रोम से कुष्माण्डा की बेल उत्पन्न हुयी थी। इसी वजह से आज के दिन कुष्माण्ड का दान करने से उत्तम फल प्राप्त होता हैं। पंडित दुबे ने बताया कि भगवान विष्णु कार्तिक शुक्ल की नवमी से लेकर कार्तिक पूर्णिमा की तिथि तक आंवले के पेड़ पर निवास करते हैं। अक्षय नवमी के दिन स्नान, पूजा, तर्पण तथा अन्न दान से अक्षय फल की प्राप्ति होती हैं। सभी महिलाओं को आंवला पेड़ की पूजा कर उसके नीचे भोजन करने से घर में खुशहाली आती हैं और सभी को अक्षय फल मिलता हैं।

1 – शिकायतों की अनदेखी में नपेंगे अधिकारी : जिलाधिकारी हमीरपुर 


-81 शिकायतों में बीस का मौके पर निस्तारण
हमीरपुर, 05 नवम्बर (हि.स.)। जिले में मंगलवार को जिलास्तरीय सम्पूर्ण समाधान दिवस में जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने फरियादियों से रूबरू होते हुये शिकायतों का निस्तारण मौके पर किया।
जिले के सरीला में आयोजित जिलास्तरीय सम्पूर्ण समाधान में जिलाधिकारी ने कहा कि सम्पूर्ण समाधान दिवस, आईजीआरएस पोर्टल, मुख्यमंत्री संदर्भ, 1076 के संदर्भ तथा जनप्रतिनिधियों की शिकायतों का समय सीमा में निस्तारण करना शासन की प्राथमिकता है। इसलिये इसमें किसी भी प्रकार की कोई कोताही नहीं होनी चाहिये वर्ना दोषी अधिकारियों के खिलाफ प्रतिकूल दृष्टिकोण अपनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि शिकायत कर्ता को बार-बार परेशान न होना पड़े इसके लिये उनकी शिकायतों पर विशेष ध्यान दिया जाये।

जिलाधिकारी ने लम्बित शिकायतों को लेकर अधिकारियों को कड़ी हिदायत देते कहा कि शिकायती पत्रों के निस्तारण में अधिकारी रुचि नहीं ले रहे हैं। ये लापरवाही अब बर्दाश्त नहीं की जायेगी। जिलास्तरीय समाधान दिवस में 81 शिकायतें आयी जिनमें बीस का मौके पर निस्तारण किया गया। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram