(हमीरपुर बुलेटिन) हमीरपुर मेें कोरोना ने फिर पकड़ी रफ्तार, 13 नये मामले के साथ संक्रमितों की संख्या 387 पार, पढ़ें दिनभर की खबरें

8 – हमीरपुर – कोरोना ने फिर पकड़ी रफ्तार, 13 नये मामले के साथ संक्रमितों की संख्या 387 पार

-कोरोना महामारी को लेकर 180 लोग घर लौटे
हमीरपुर । जनपद में शुक्रवार को कोरोना संक्रमण के तेरह नये मामले के साथ संक्रमित मरीजों की संख्या 387 पार हो गयी है। वहीं 180 लोग कोरोना महामारी को मात देकर घर लौटे हैं। सुमेरपुर कस्बे में सर्वाधिक कोरोना के नौ मामले पाजिटिव आये है। सर्राफा व्यवसायी के परिवार के पांच लोग भी कोरोना से संक्रमित पाये गये है। तीन संक्रमित मरीजों को इलाज के लिये लखनऊ भेजा गया है।
सुमेरपुर पीएचसी में 129 लोगों के एंटीजिन किट से जांच कराई गई। कस्बे के एक सराफा व्यापारी के साथ उसका पुत्र, बहू, पत्नी व पौत्र शामिल हैं।  सीएमओ डा.आरके सचान ने बताया कि सभी संक्रमितों को सुमेरपुर स्थित पॉलिटेक्निक कालेज में संचालित एलवन हास्पिटल में भर्ती कराया गया है। साथ ही पालिका कर्मियों द्वारा कंटेनमेंट जोन घोषित कर सैनिटाइज किया गया।
एसआई व दीवान के संक्रमित होने पर डीएम एसपी ने कंटेनमेंट थानों का किया निरीक्षण 
मौदहा कोतवाली के एक एसआई व सुमेरपुर के दीवान के संक्रमित होने पर शुक्रवार को जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी व एसपी श्लोक कुमार ने कंटेनमेंट जोन इलाकों का जायजा लिया। थानों में आवश्यक मामलों में ही प्रवेश दिए जाने को कहा। कहा कि सैनिटाइज रखा जाए।

7 – हमीरपुर – नौनिहालों के मुफ्त ड्रेस तैयार करने में धांधली होने पर शिक्षक संघ भड़का

हमीरपुर ।  परिषदीय स्कूलों के नौनिहालों को यूनीफार्म वितरित की जानी है। इसको लेकर संबंधित स्कूलों के खातों में बजट भी जा चुका है। लेकिन अधिकारी कुछ गिने चुने महिला समूहों को ही ं बजट देने को कहा जा रहा है। इसको लेकर प्राथमिक शिक्षक संघ आंदोलित है। ड्रेस तैयार करने में धांधली का शिक्षक संघ आरोप लगा रहा है। इसको लेकर शिक्षक संघ ने सदर विधायक से इस मामले की शिकायत की है।
जिले भर में परिषदीय स्कूलों में करीब 1 लाख 30 हजार बच्चे पठन पाठन करते हैं। इन्हीं बच्चों को दो दो ड्रेस देनी है। इसके लिए जिले में करीब 8 करोड़ की धनराशि शासन ने दी है। स्कूलों के खातों में जमा धनराशि को निकालने का जबरिया दबाव बनाया जा रहा है। कहा कि अधिकारी कुछ चिंहित महिला स्वय सहायता समूहों के जरिए ड्रेस वितरण कराने की फिराक में हैं।
 जबकि इन समूहों के पास सिलाई मशीन तक नहीं है। ऐसे में यह समूह साठगांठ कर थोक में ड्रेस क्रय कर वितरण करेंगे। जिसमें घालमेल किया जाना संभावित है। विधायक को दिए ज्ञापन में उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक संघ के जिला संगठन मंत्री रघुराज कुटार, वरिष्ठ उपाध्यक्ष दिलीप सिंह गौतम, अध्यक्ष प्रेमप्रताप सिंह, महामंत्री देवेंद्र सिंह चंदेल, विजय बहादुर पाल स्वयं सहायता समूह के नाम पर क्रय आपूर्ति आदेश के नाम पर प्रधानाध्यापकों को धमकाकर हस्ताक्षर कराने का आरोप लगाया। कहा कि अभी तक 45 हजार छात्रों को ड्रेस देने के नाम धन आहरण करा लिया है।
 इसी तरह प्राथमिक शिक्षक संघ के दूसरे गुट के जिलाध्यक्ष सत्येंद्र कुमार व कमलेश कुशवाहा सहित अन्य ने बीएसए को ज्ञापन देकर ड्रेस वितरण में हो रही मनमानी रोकने की मांग की है। वहीं पुस्तक वितरण में शासनादेश को दरकिनार कर खंड शिक्षाधिकारियों पर बीआरसी केंद्र में अध्यापकों को बुलाए जाने का आरोप लगाया है।

6 – हमीरपुर – मूंगफली में टिक्का रोग के प्रकोप को लेकर कृषि विभाग ने किसानों को किया एलर्ट

हमीरपुर । जनपद में रोग ग्रसित फसली पौधो को बचाने और मूंगफली में टिक्का रोग के प्रकोप को लेकर कृषि विभाग ने शुक्रवार को किसानों को एलर्ट जारी किया है। जिला कृषि अधिकारी ने रोग ग्रसित फसली पौधों को जलाये अथवा उसे जमीन पर दबाने की अपील की है।
जिला कृषि अधिकारी डा. सरस कुमार तिवारी ने किसानों को जारी एलर्ट में कहा कि मौजूदा में खरीफ मौसम में उगाई जाने वाली दलहनी फसलों में धान, उड़द, मूंग, अरहर का प्रमुख स्थान है। दलहनी फसलों में मुख्तयः पीला चित्रवर्ण रोग का प्रकोप होने पर यह उत्पादन को प्रभावित करता है। इसलिए यह जरूरी है कि रोग के प्रकोप की स्थिति में तत्काल इसकी रोकथाम के लिए फसलों की नियमित निगरानी करें।
रोग ग्रसित पौधों को उखाड़कर जला दें या मिट्टी में दबा दें। धान में खैरा रोग लगने से उत्पादन प्रभावित होता है। इसकी रोकथाम के लिए ५ किग्रा जिंक सल्फेट 2.5 किग्रा चूना या 20 किग्रा यूरिया को एक हजार लीटर पानी में मिलाकर छिडकाव करें। मूंगफली में इस समय में टिक्का बीमारी का प्रकोप देखा गया है। जिसमें पत्तियों पर भूरे धब्बे, गोल धब्बे बन जाते हैं।
जिसके नियंत्रण के लिए जिनेव 75 प्रतिशत 2.5 किग्रा मात्रा प्रति हेक्टेयर की दर से पानी में घोल बनाकर छिड़काव करें। अरहर में पत्ती लपेटक कीट-अरहर की फसल में पीले रंग की सूड़ियां लग जाती हैं। पत्ती लपेटक कीट पौधे की चोटी की पत्तियों को लपेटकर सफेद जाला बुनकर उसी में छिपी पत्तियों को खाती हैं। बाद में फूलों एवं फलियों को भी नुकसान पहुंचाती हैं। इसकी रोकथाम के लिए क्यूनालफॉस पानी में घोल बनाकर छिड़काव करें।

5 – हमीरपुर – उपायुक्त बांदा ने खाद्यान्न वितरण को लेकर कोटेदारों के यहां की जांच

हमीरपुर । शुक्रवार को खाद्य एवं रसद विभाग के उपायुक्त बांदा राधेरमण शुक्ल ने कुछेछा, रमेड़ीडांडा व कांशीराम आवास की उचित दर दुकानों का निरीक्षण किया। दुकानें खुली मिलीं और ई पॉस मशीन से आधार के माध्यम से अनाज का वितरण किया जाना पाया गया।
जिले में आवश्यक वस्तुओं के वितरण कार्य की समीक्षा के साथ स्थलीय जांच के लिए खाद्यायुक्त कार्यालय से वरिष्ठ अधिकारियों को नामित किया है। जिले में इस कार्य के लिए उपायुक्त बांदा राधेरमण शुक्ल को नामित किया गया है। शुक्रवार को उपायुक्त बांदा राधेरमण शुक्ल ने कुछेछा, रमेड़ी डांडा व कांशीराम आवास स्थित उचित दर दुकानों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान दुकानें खुली पाई गई। विक्रेताओं द्वारा ई पॉस मशीन से आधार के माध्यम से अनाज का वितरण प्रति यूनिट पांच किग्रा निर्धारित दर से होता मिला।
 उपायुक्त ने उचित दर विक्रेता रमेड़ी डांडा लक्ष्मी, रामसिंह कुछेछा के राशन वितरण करते समय कार्डधारकों के मध्य सोशल डिस्टेसिंग बनाए रहने व हाथ धुलवाने व सैनिटाइजेशन का प्रयोग करने के लिए निर्देश दिए। साथ ही कार्डधारकों को जागरूक किया। इस मौके पर जिला पूर्ति अधिकारी रामजतन यादव, अमित त्रिवेदी भी मौजूद रहे।

 

4 – हमीरपुर – कोरोना संक्रमण काल में दो सौ गरीबों को कम्पनी ने बांटा मुफ्त खाद्यान्न

हमीरपुर । एक सीमेंट कंपनी ने कोरोना महामारी में गरीबों के लिए चलाई जा रही अन्नम योजना के तहत शुक्रवार को दो सौ गरीबों को खाद्यान वितरित किया। सरीला कस्बे के माँझखोर मुहल्ले स्थित सरीला महल में यह वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया।
इस दौरान कम्पनी के एरिया इंचार्ज झांसी विनय श्रीवास्तव ने कहा कि सभी लोगों को कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए मास्क पहनना बहुत जरूरी है। यह मदद गरीबों के लिये है न कि कंपनी का प्रचार है। रविंद्र कुमार गुप्ता राठ ने कहा कि इस महामारी के समय सभी को जरूरतमंदों की मदद करनी चाहिए। माईसेम अन्नम योजना के तहत खाद्य सामग्री 5 किलो आटा, 2 किलो चावल, 2 किलो दाल, चीनी, चाय, रिफाइंड, साबुन, आदि का वितरण करीब दो सैंकड़ा परिवारों को किया गया। कार्यक्रम में डिस्ट्रिक्ट इंचार्ज अक्षत बंसल डीलर जीतू राजपूत, सह विक्रेता ऋषि शुक्ला, राजेंद्र राजपूत मौजूद रहे।

3- हमीरपुर – कोरोना काल में स्कूल बंद चलने के कारण बच्ची को खेल-खेल में फांसी लगाना पड़ा भारी

हमीरपुर । सुमेरपुर थाना क्षेत्र के पचखुरा महान गांव में कक्षा तीसरी की एक छात्रा ने खेल-खेल में फांसी लगा ली। परिजनों ने फांसी का फंदा अलग कर उसे आननफानन इलाज के लिये सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया जहां हालत नाजुक होने पर बच्ची को कानपुर रेफर कर दिया। शुक्रवार को इसकी इलाज के दौरान मौत हो गयी। इस घटना से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा है।
सुमेरपुर क्षेत्र के पचखुरा महान गांव निवासी तारा चन्द्र अनुरागी की पुत्री गुडिय़ा (8) गांव के ही सरकारी विद्यालय में कक्षा तीसरी में पढ़ती थी। कोरोना संक्रमण काल में स्कूल बंद चलने पर ये छात्रा घर में कोई न कोई नया खेल खेलती थी। गुरुवार की रात इसने घर में खेल-खेल में फांसी का फंदा अपने गले में डाल लिया। परिजनों की जैसे ही इस पर नजर पड़ी तो फांसी का फंदा अलग कर उसे बेहोशी हालत में आननफानन सरकारी अस्पताल एम्बुलेंस के माध्यम से ले जाया गया जहां हालत नाजुक होने पर इसे कानपुर हैलट के लिये रेफर कर दिया गया।
वहां इलाज के दौरान आज उसकी मौत हो गयी। घटना की सूचना पर पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा है। परिजनों ने बताया कि ये बच्ची पढऩे में होशियार थी लेकिन स्कूल बंद चलने से इसने खेल-खेल में फांसी लगा ली जिससे उसकी मौत कानपुर में हो गयी है।

 

2 – हमीरपुर – बीमार लोगों के लिये हमदर्द बनी स्वामी ब्रह्मानंद एम्बुलेंस

 

-एम्बुलेंस ने 60177 किमी का सफर कर 213 बीमारों की बचाई जान
-गरीब मरीजों की मुफ्त सेवा करने के जज्बे को अब हर कोई कर रहा सलाम
हमीरपुर । स्वामी ब्रह्मानंद स्वाभिमान सेवा संस्थान के जरिए संचालित ब्रह्मानंद एंबुलेंस सेवा मरीजों के लिए वरदान बनी हुई है। महज एक फोन पर एंबुलेंस की मुफ्त सेवा मरीजों को उनके दरवाजे पर मिल रही है।
स्वास्थ्य सेवाओं के मामले में अति पिछड़े राठ क्षेत्र के लोगों को मामूली बीमारियों के लिए भी सौ से डेढ़ सौ किमी दूर शहरों में उपचार के लिए जाना पड़ता है। इनमें से अधिकांश मरीजों को एंबुलेंस सेवा का लाभ नहीं मिल पाता है। जिसका फायदा उठाते हुए प्राइवेट एंबुलेंस संचालक मरीजों से मनमानी पैसा वसूलते हैं। स्वामी ब्रह्मानंद स्वाभिमान सेवा संस्थान राठ के अध्यक्ष हरीचरन फौजी ने शुक्रवार को बताया  कि समय पर वाहन न मिलने से अनेक मरीज उपचार के अभाव में असमय ही अपनी जान गंवा देते थे।
 जिसे देखते हुए उन्होंने स्वामी ब्रह्मानंद एंबुलेंस सेवा की शुरुआत करने की ठानी। एंबुलेंस खरीदने के लिए धन की आवश्यकता थी। किंतु स्वामी जी के आशीर्वाद से यह कार्य भी जल्द ही संभव हो गया। चार दिसंबर 2019 को वह दिन भी आ गया जब स्वामी ब्रह्मानंद जी के जन्मोत्सव पर बीएनवी डिग्री कालेज स्थित उनकी समाधि स्थल से हजारों लोगों की मौजूदगी में इस एंबुलेंस सेवा का शुभारंभ हुआ। मात्र शक्ति नीलमणि राजपूत, उमा राजपूत, डॉ.कैलाश राजपूत और डॉ.संतोष राजपूत की मौजूदगी में एडीबी बैंक शाखा प्रबंधक मुहम्मद इकबाल एहसान ने हरी झंड़ी दिखाई। तभी से यह एंबुलेंस अनवरत सड़कों पर दौड़ते हुए लोगों की जान बचाने में जुटी हुई है।
213 मरीजों के साथ तय किया 60177 किमी सफर
दिन हो या रात, चौबीस घंटे सेवा देने वाली स्वामी ब्रह्मानंद एंबुलेंस 4 दिसंबर 2019 से 6 अगस्त 2020 तक मरीजों के साथ कुल 60177 किमी का सफर तय कर चुकी है। इन आठ माह में 213 मरीज एंबुलेंस सेवा का लाभ ले चुके हैं। हरीचरन फौजी बताते हैं कि जनपद के अंदर मरीजों को लाने ले जाने में किसी से कोई शुल्क नहीं लिया जाता है। जनपद से बाहर जाने वाले मरीजों से सहयोग के रूप में वाहन में लगने वाला डीजल मात्र लिया जा रहा है।
लॉक डाउन में निभाई अहम भूमिका
कोरोना संक्रमण के कारण लॉक डाउन होने पर प्राइवेट वाहनों के संचालन पर रोक लगा दी गई थी। आवागमन के सभी साधनों पर रोक लगने से मरीज उपचार व दवाएं लाने के लिए तरस गए। ऐसे वक्त में ब्रह्मानंद एंबुलेंस सेवा मददगार बनकर सामने आई। मात्र एक फोन पर निःशुल्क एंबुलेंस सेवा तत्काल लोगों को उपलब्ध हुई। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए एंबुलेंस को दिन में कई बार सैनिटाइज किया गया। एक समय यह भी आ गया कि प्रशासन ने एंबुलेंस को सैनिटाइज कराने से हाथ खडे़ कर दिए थे। बावजूद इसके हरीचरन फौजी ने हौसला कायम रखते हुए एंबुलेंस को खुद सैनिटाइज करा संचालन जारी रखा।

1 –  हमीरपुर – कोविड-19 से सम्बद्ध हास्पिटल में बिजली कटौती से मरीज परेशान, डीएम ने अफसरों को लगाई फटकार

 

-राजकीय पालीटेक्निक के निरीक्षण में पायी गयी तमाम कमियां
हमीरपुर । कोविड-19 से सम्बद्ध राजकीय पालीटेक्निक में बिजली कटौती को लेकर जिलाधिकारी ने शुक्रवार को औचक निरीक्षण कर अधिकारियों को कड़ी फटकार लगायी है। उन्होंने अधिशाषी अभियंता विद्युत को विद्युतापूर्ति में तत्काल सुधार लाने के निर्देश दिये है।
जनपद में कोरोना वारयस से संक्रमित मरीजों के लिये जिलाधिकारी के आदेश पर सुमेरपुर कस्बे में संचालित राजकीय पालीटेक्निक को कोविड-19 से सम्बद्ध हास्पिटल बनाया गया है। यहां कोरोना से पीड़ित तमाम मरीज भर्ती है। राजकीय पालीटेक्निक में बिजली कटौती को लेकर मरीज परेशान है। इस मामले की शिकायत पर जिलाधिकरी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी व पुलिस अधीक्षक श्लोक  कुमार ने अचानक कोविड-19 हास्पिटल पहुंचे। निरीक्षण में बिजली कटौती की शिकायत मरीजों से सुनते ही जिलाधिकारी गुस्से से भड़क उठे। उन्होंने अधिशाषी अभियंता विद्युत को तत्काल विद्युतापूर्ति में सुधार लाने और वायरिंग आदि की कमियों को सही कराने के निर्देश दिये।
 जिलाधिकारी ने कोरोना से संक्रमित मरीजों को दी जा रही दवाओं और उनकी उपलब्धता के बारे में जानकारी की। उन्होंने समय पर मरीजों को दवायें और नाश्ता, भोजन उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि मरीजों, डाक्टरों और मेडिकल स्टाफ के लिये अलग-अलग मीनू बनाकर पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जाये। अस्पताल परिसर में साफ सफाई की स्थिति में और सुधार लाने के निर्देश दिये गये। उन्होंने कड़ी हिदायत देते कहा कि अव्यवस्था पाये जाने पर कठोर कार्यवाही की जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram