(हमीरपुर बुलेटिन)बुन्देलखंड के 24 गांवों में किसानों ने लहलहाई उम्मीदों की फसलें, पढ़े दिनभर की खबर

1- बुन्देलखंड के 24 गांवों में किसानों ने लहलहाई उम्मीदों की फसलें
-कम पानी में होने वाली बरसीम की फसल से सैकड़ों किसानों के घरों में आयी खुशहाली

हमीरपुर ब्यूरो। दैवीय आपदाओं से जूझ रहे वीरभूमि बुन्देलखंड में किसानों ने अपनी खुशहाली का रास्ता खुद के जज्बे से बनाया है। एक्रीसेट हैदराबाद के वैज्ञानिक डा.प्रकाश राठौर की तकनीकी सलाह पर यहां हमीरपुर में एक ऐसे किसान ने उम्मीद की फसल लहलहायी है जिसे देखकर हर कोई दंग है। एक किसान ने मात्र दो बीघे खेत में बरसीम की फसल बोकर अब ये स्वयं मशीन से कतर कर खुले बाजार में बेच रहा है। इससे प्रतिदिन चार सौ पांच सौ रुपये हर रोज
उसकी जेब में आते है। अब ये किसान गांव के अन्य किसानों के लिये रोल आफ माडल बन गया है।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।
हमीरपुर जिले के सुमेरपुर क्षेत्र के नजरपुर गांव निवासी विद्याकरण तिवारी (47) खेती किसानी करता है। लेकिन पिछले कई सालों से दैवीय आपदाओं के कारण उसे खेती से नुकसान ही उठाना पड़ रहा था। खाद बीज और पानी में लगायी गयी पूंजी भी उसे खेती के उपज से नसीब नहीं हो रही थी। इसी बीच समर्थ फाउन्डेशन के सचिव देवेन्द्र गांधी और शिवकुमार से उनका सम्पर्क हो
गया। गरीबों के लिये जमीन पर काम करने वाले फाउन्डेशन के कार्यक्रम में आये एक्रीसेट हैदराबाद के वैज्ञानिक डा.प्रकाश राठौड़ व डा.धर्मेन्द्र कुशवाहा ने इस किसान को तकनीकी सलाह देकर बरसीम की फसल तैयार करने को कहा। इसके लिये फाउन्डेशन ने किसान को दो बीघे खेत में बरसीम बोने के लिये अच्छी प्रजाति के एक किलो बीज मुफ्त दिया। विद्याकरण ने खेत में
बरसीम बोयी। कम पानी में बोयी गयी उम्मीदों की फसल लहलहाते देख किसान अपने ही खेत में खुशी के मारे उछल पड़ा। इस किसान को देख सौखर व कारीमाटी गांव में तमाम गरीब किसान भी बरसीम की फसल तैयार करने में जुट गये है। समर्थ फाउन्डेशन के सचिव देवेन्द्र गांधी व शिव कुमार ने सोमवार को बताया कि हमीरपुर जिले में 39 किसान एग्रीसेट हैदराबाद के वैज्ञानिक डा.प्रकाश राठौड़ व डा.कौशल गर्ग की तकनीकी सलाह पर बरसीम की फसल की बुआई की है वहीं बुन्देलखंड के ललितपुर, बांदा, महोबा, झांसी, जालौन व चित्रकूट आदि जनपदों में भी सैकड़ों किसानों ने बरसीम की फसलें खेतों में लहलहायी है। कम पानी में होने वाली इस फसल के प्रति अब और गांवों में भी किसानों ने बरसीम बोने की तैयारी कर रहे है।

फसल की कटाई कर मशीन से तैयार करता है चारा
किसान विद्याकरण तिवारी ने बताया कि बरसीम की कटाई अकेले अपने बलबूते की
जाती है। फिर इसे चारा काटने वाली मशीन से काटकर बरसीम का चारा तैयार किया जाता है। उसने बताया कि बरसीम का चारा पन्द्रह से बीस डलिया होने क बाद इसे नजदीक के खुले बाजार में बेचा जाता है। जिससे चार सौ पांच सौ रुपये सीधे तौर पर जेब में आते है।

बरसीम की फसल से ही चलता है घर का सारा खर्च
समर्थ फाउन्डेशन के सचिव देवेन्द्र गांधी ने सोमवार को बताया कि किसान विद्याकरण तिवारी ने बरसीम की फसल के सहारे हौसले की उड़ान भरी है। इससे उसका पूरा परिवार खुशहाली के रास्ते पर चल रहा है। किसान अपने पुत्र शोभित (21) उच्च शिक्षा में पढ़ा रहा है। बरसीम के साथ-साथ ही इसने अपने फालतू जमीन पर बागवानी तैयार की है।

बुन्देलखंड के 24 गांवों में किसानों की बदली सूरत
एग्रीसेट हैदराबाद के वैज्ञानिक डा.प्रकाश राठौड़ ने बताया कि समर्थ फाउन्डेशन की मदद से बुन्देलखंड के ललितपुर, झांसी, जालौन, बांदा, चित्रकूट, महोबा व हमीरपुर में तीन-तीन गांवों में किसान कम पानी में होने वाली बरसीम की फसल कर खुशहाली के रास्ते पर चल रहे है। परिवार के समृद्ध होने के साथ ही मवेशियों के चारे की समस्या भी खत्म हो रही है।

2- थानों में वसूली होने पर नपेंगे दोषी थाना प्रभारीः रवीन्द्र जायसवाल
-विकास कार्यों व कानून व्यवस्था की समीक्षा में मंत्री ने अधिकारियों को
लगाई फटकार

हमीरपुर ब्यूरो।  प्रदेश सरकार के स्टांप एवं न्यायालय शुल्क पंजीयन मंत्री रवीन्द्र जायसवाल ने सोमवार को हमीरपुर में कानून व्यवस्था की समीक्षा में अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुये निर्देश दिये कि थानों में आम आदमी को सकारात्मक व्यवहार न कर परेशान करने वाले थाना प्रभारियों को खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाये। उन्होंने कहा कि पुलिस थानों में किसी
भी प्रकार की वसूली होने पर तत्काल जांच कराते हुये दोषी लोगों को दंडित किया जाये।

राज्यमंत्री एवं जनपद प्रभारी मंत्री रवीन्द्र जायसवाल हमीरपुर स्थित कलेक्ट्रेट मीटिंग हाल में विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की मंशा है कि अपराधी या तो अपराध छोड़े या प्रदेश से बाहर जाये। इस मंशा को लेकर जनपद में भी अधिकारी काम करे।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने मंत्री को बताया कि पिछले साल की तुलना में जिले में अपराधों का ग्राफ नीचे गिरा है। थानों में महिलाओं की समस्याओं को सुनने के लिये महिला आरक्षी तैनात है। एंटी रोमियों की टीम स्कूलों में जाकर लगातार लोगों को जागरूक कर रही है। सभी स्कूलों में
पिंक बाक्स की व्यवस्था करायी गयी है जिसके माध्यम से कोई भी लड़की अपने उत्पीडऩ से संबन्धित शिकायत बता सकती है। जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने बताया कि पिंक लेटर बाक्स को सभी कार्यालयों में भी लगाने के निर्देश दिये गये है जिससे कार्यालयों में कार्यरत महिलायें अपने ऊपर किसी भी प्रकार की हिंसा या उत्पीडऩ संबन्धी शिकायत कर सकती है। इसके लिये सीओ
सौम्या पाण्डेय नोडल अधिकारी बनायी गयी है। मंत्री ने जिले में सीएए व एनआरसी के सम्बन्ध में अच्छा कार्य करने और आईजीआरएस की रैकिंग में जनपद प्रथम स्थान आने पर पूरी टीम की सराहना की। मंत्री ने समीक्षा बैठक में निर्देश दिये कि पोस्टआफिस में भी अब पिंक बाक्स लगवाये जाये ताकि कोई भी महिला अपने उत्पीडऩ सम्बन्धी शिकायत कर सके। उन्होंने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों पर पैनी नजर रखने और कठोर कार्यवाही करने के निर्देश
दिये। जिले में रैन बसेरों को संचालित करने और सभी ग्राम व मजरों को विद्युतीकृत करने के निर्देश दिये गये। उन्होंने कहा कि बागवानी मिशन के अंतर्गत लोगों को सिट्रस फलों अमरूद, आंवला, कैथा, मुसम्मी , नींबू इत्यादि के बाग लगाए जाने के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया जाए। पाली हाउस योजना के अंतर्गत लोगों को फूलों की खेती करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए इसके अंतर्गत सरकार द्वारा रुपए 25 लाख तक की सहायता दी जा रही है। ,इस योजना के अंतर्गत बैंकों से ऋण दिलाए जाने का भी कार्य कराया जाए।

उन्होंने कहा कि जो बैंक इन कार्यों में सहयोग ना करें उन बैंकों से किसी भी प्रकार की निधि के खाते ना संचालित किए जाएं। पॉलीहाउस के लिए कृषकों को जागरूक किया जाए । उन्होंने कहा कि जनपद की सभी सड़कों को गड्ढामुक्त किया जाए। हमीरपुर मुख्यालय में मंडी स्थल बनाने का प्रस्ताव भेजा जाए मंत्री ने कहा कि अस्पतालों में जांच या इलाज या ऑपरेशन के नाम
पर मरीजों से किसी भी प्रकार के सुविधा शुल्क के नाम पर अवैध तरीके से पैसे ना लिए जाएं ऐसी स्थिति पर तत्काल एफ आई आर दर्ज कराकर दोषी को जेल भेजा जाए। उन्होंने कहा कि एंबुलेंस कर्मी मरीजों को दुर्भावना पूर्ण ढंग से मरीजों को प्राइवेट अस्पतालों में तो नहीं भेज रहे हैं इसकी जांच कराई जाए। निजी नर्सिंग होम से मरीजो के परिजनों से इस आशय का फीडबैक भी लिया
जाय  कि वह निजी अस्पतालों में क्यों जा रहे हैं।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत पंचायत राज विभाग द्वारा लोगों को शौचालय प्रयोग करने हेतु प्रोत्साहित किया जाए ,जिन लोगों को शौचालय मिला है और वह उसका
प्रयोग नहीं कर रहे हैं। ऐसे लोगों को नोटिस जारी किया जाए कि यदि शौचालय इस्तेमाल नहीं किया जाएगा और उसका प्रयोग भूसा ,लकड़ी रखने अथवा अन्य किसी प्रयोजन हेतु किया जाएगा तो  उनसे ब्याज सहित पैसे की वसूली की जाएगी।

उन्होंने कहा कि जनपद के नगरीय तथा ग्रामीण क्षेत्रों की बड़ी बाजारों में अनिवार्य रूप से महिला शौचालय/यूरिनल लगवाए जाएं ताकि महिलाओं को असहजता ना हो। उन्होंने कहा कि श्रम विभाग द्वारा पंजीकरण हेतु कैंप लगाए जाएं। बीटीसी व बीएड के छात्रों की अनिवार्य रूप से अपने कॉलेज के निकटतम स्कूल में न्यूनतम चार माह की ट्रेनिंग करवाई जाए। इस मौके पर विधायक सदर
युवराज सिंह, मुख्य विकास अधिकारी आरके सिंह, सीएमओ डॉ आर के सचान,पीडी
चित्रसेन सिंह, अन्य संबंधित विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

3- हमीरपुर में जिला न्यायालय में दिव्यांगों के लिये लगेगी लिफ्ट
-लिफ्ट एवं रैम्प के लिये 71.15 लाख की धनराशि अवमुक्त
-ओवरहेड टैंक के निर्माण को भी 86.73 लाख रुपये अवमुक्त

हमीरपुर ब्यूरो। हमीरपुर में जिला न्यायालय में कार्यरत दिव्यांग कर्मियों एवं मुकदमे की सुनवाई के लिये आने वाले दिव्यांग फरियादियों, अधिवक्ताओं की समस्या को देखते शासन ने लिफ्ट व रैम्प निर्माण कराये जाने के लिये हरी झंडी दे दी है। इसके लिये 71.15 लाख की धनराशि अवमुक्त भी कर दी गयी है साथ ही न्यायालय परिसर में पेयजल आपूर्ति के लिये भी एक ओवर हेड टैंक के निर्माण को भी 86.73 लाख की धनराशि अवमुक्त की गयी है। ये दोनों निर्माण कार्य सी.एण्ड डी.एस.उत्तर प्रदेश जलनिगम महोबा करायेगी।

उल्लेखनीय है कि हमीरपुर जिला न्यायालय में रैम्प और लिफ्ट न होने के कारण दिव्यांग कर्मियों, फरियादियों और कोर्ट में आने जाने वाले वकीलों को काफी दिक्कतें होती है। इसके लिये काफी समय से न्यायालय में रैम्प व लिफ्ट के निर्माण कराये जाने की मांग की जा रही थी। शासन ने अब इस समस्या को लेकर कोर्ट में लिफ्ट और रैम्प निर्माण कराये जाने के आदेश कर दिये
है। शासन ने 71.15 लाख की धनराशि अवमुक्त की है वहीं न्यायालय परिसर में ही पानी की दिक्कत को देखते हुये एक ओवर हेड टैंक (पानी की टंकी) के निर्माण कराने के लिये भी 86.73 लाख की धनराशि अलग से अवमुक्त की है।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

शासन ने निर्माण कार्य में लगने वाले उपकरणों की खरीददारी के लिये गवर्नमेंट ई-मार्केट प्लेस (जेम) पोर्टल के माध्यम से तथा ई-टेंडर प्रक्रिया से कराने के भी आदेश दिये है। परियोजना में आवेर कास्ट को नियंत्रित करने के लिये भी कार्यदायी संस्था सी.एण्ड डी.एस.उत्तर प्रदेश
जलनिगम महोबा को समय से कार्य पूर्ण कर उसे विभाग को सौंपने के निर्देश दिये है। इधर सी.एण्ड डी.एस.उत्तर प्रदेश जलनिगम महोबा के परियोजना प्रबंधक एलके तिवारी ने सोमवार को शाम बताया कि न्यायालय में लिफ्ट लगाने के लिये सिविल कार्य कराये जाने की कार्यवाही शुरू की जायेगी। इसके लिये टेण्डर प्रक्रिया चलाकर जल्द ही निर्माण कार्य की श्रीगणेश होगा।
उन्होंने बताया कि लिफ्ट के लिये सिविल कार्य उनकी संस्था करायेगी वहीं यांत्रिक कार्य कम्पनी करायेगी। इसके अलावा न्यायालय परिसर में ओवर हेड टैंक का निर्माण भी शुरू कराया जायेगा।

4- विवाद होने पर पुत्र ने पिता की चारपहिया वाहन की क्षतिग्रस्त

हमीरपुर ब्यूरो।  जमीन का बैनामा कराने आए पिता पुत्र के बीच विवाद होने
पर पुत्र ने पिता की चार पहिया वाहन क्षतिग्रस्त कर दी। मामला बढ़ता देख
लोगों ने पुलिस को सूचना कर दी। मौके पर पहुंची पुलिस दोनों पक्षों को
कोतवाली ले गई। जहा समझौता कराने के प्रयास जारी थे। कानपुर नगर के सजेती
थानाक्षेत्र के असुवारमऊ गांव निवासी राकेश ने बताया कि गांव के पास बन
रहे नेवेली पावर प्लांट के निर्माण में उसके पिता रामलाल की करीब १३ बीघा
जमीन अधिग्रहीत की गई थी। जमीन के एवज में पिता को एक करोड़ से अधिक
धनराशि मिली। करीब चार माह से उसका पिता घर नहीं आए। कहा कि उसे बहन
पारुल की शादी करनी है। बताया कि सोमवार को उसे सूचना मिली कि पिता
मुख्यालय स्थित तहसील आए है। जहा पिता मिले। तब उसने पिता से घर चलने को
कहा। मगर वह तैयार नहीं हुए। उसने जमीन के एवज में मिली धनराशि के बारे
में जानकारी चाही जिस पर पिता विवाद करने लगे। इसी बीच उसने गुस्से में
आकर पिता के चार पहिया वाहन का शीशा तोड़ दिया। हंगामा की सूचना पर मौके
पर पहुंची पुलिस दोनों को कोतवाली ले गई। कोतवाल श्यामप्रताप पटेल ने
बताया कि पारिवारिक मामला है। बातचीत की जा रही है।
आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।
5- सरकार की गलत नीतियों से देश में खुदरा व्यापार चौपटः अमित गुप्ता
-राष्ट्रव्यापी व्यापार बचाओ रथयात्रा का व्यापारियों ने किया स्वागत

हमीरपुर ब्यूरो। खुदरा व्यापार को बचाने के लिये राष्ट्रव्यापी व्यापार बचाओ रथ यात्रा लेकर सोमवार को शाम यहां हमीरपुर आये राष्ट्रीय जन उद्योग व्यापार संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित गुप्ता ने केन्द्र सरकार स्वदेशी अपनाओ विदेशी भगाओ के नारे को आड़े हाथों लेते कहा कि सरकार की गलत नीतियों के कारण देश का खुदरा व्यापार पूरी तरह से चौपट होता जा रहा
है। उन्होंने कहा कि आन लाइन कारोबार को बंद कराने पर ही खुदरा व्यापार बच सकेगा।

हमीरपुर के एक गेस्टहाउस में यहां के रविकांत पुरवार, प्रांशू पुरवार, बृजेश बादल, आशीष यादव, दीपक मिश्रा, बालजी पाण्डेय, अमित गुप्ता सहित तमाम व्यापारियों ने रथयात्रा स्वागत किया। व्यापारियों को सम्बोधित करते हुये राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि जीएसटी की आड़ में व्यापारियों का
उत्पीडऩ लगातार किया जा रहा है। जिससे व्यापारी परेशान है। आए राष्ट्रीय जन उद्योग व्यापार संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित गुप्ता ने व्यापारियों को संबोधित करते हुए कहा कि देश में सात करोड़ व्यापारी हैं । यह व्यापारी लगभग 28 करोड़ लोगों को रोजगार मुहैया करा रहा है। लेकिन
ऑनलाइन व्यापार बढ़ने से खुदरा व्यापारियों के कारोबार में बुरा असर पड़ा है ।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

उन्होंने बताया कि 2008 में ऑन लाइन कारोबार 200 करोड़ का  था। जबकि
वर्तमान में देश के अंदर यह कारोबार 35 लाख करोड़ पहुंच गया है। इस
कारोबार के बढ़ने से देश का खुदरा व्यापार चौपट हो रहा है । उन्होंने कहा
कि विश्व के 145 देशों में जीएसटी व्यवस्था लागू है। लेकिन जिस तरह की
व्यवस्था हमारे देश में लागू हुई है । ऐसी व्यवस्था कहीं नहीं है । इससे
व्यापारी परेशान हो गया है । जीएसटी की आड़ में व्यापारियों का उत्पीड़न
किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनका उद्देश्य किसी का विरोध करना नहीं
। बल्कि मौजूदा हालातों से व्यापारियों को जागरूक करना है । ताकि भविष्य
में खुदरा व्यापार को बचाया जा सके। उन्होने कहा कि यह सरकार रोजगार के
नाम पर धोखा दे रही है पेट्रोल पम्प मे काम करने वाले कर्मियों को पहले
रोजगार की श्रेणी में नहीं जोड़ा गया था लेकिन अब उन्ही कर्मियों को
रोजगार का नाम देकर श्रम विभाग में रजिष्ट्रेशन कर अपनी वाहवाही लूट रही
है, वहीं उन्होने बताया कि यही सरकार पहले स्वदेशी अपनाओ-विदेशी भगाओ का
नारा देकर चिल्ला रही थी परन्तु अब यह विदेशी व्यापार को यहां बढ़ावा दे
रही है। उन्होंने कहा कि हमारा संकल्प व्यापारी बचाओ, अमेजॉन फ्लिपकार्ट
भगाओ है । जिसके लिए पूरे देश में यात्रा निकाली जा रही है । यात्रा का
समापन 20 दिसंबर 2020 को दिल्ली के रामलीला मैदान में विशाल जनसभा के साथ
होगा । व्यापारियों की बैठक को युवा संगठन के प्रदेश अध्यक्ष आलोक बाबू
अग्रवाल, प्रदेश महिला अध्यक्ष शालिनी सिंह, पप्पू शिवहरे , रवि शिवहरे ,
मैयादीन साहू आदि ने संबोधित किया। इससे पहले उन्होंने सुमेरपुर और मौदहा
कस्बे में भी व्यापारियों को सम्बोधित कर सरकार के खिलाफ असंतोष जताया।

6- ठंड से फिर महिला समेत तीन लोगों की मौत

सुमेरपुर हमीरपुर।  ठंड से फिर महिला समेत तीन लोगों की मौत हो गयी। जिले में ठंड के सीजन में अब तक तीन दर्जन से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। सर्वाधिक मौतें सुमेरपुर क्षेत्र में हुयी है।

जिले के सुमेरपुर थाना क्षेत्र के विदोखर मेंदनी गांव निवासी माहेश्वरीदीन दीक्षित (65) ठंड की चपेट में आ गया। उसे परिजनों ने अस्पताल में इलाज भी कराया लेकिन डाक्टर उसे बचा नहीं सके। इसी गांव के रामबिहारी अग्निहोत्री की पत्नी कमला (56) की ठंड लगने से मौत हो गयी।
मुस्करा कस्बा निवासी भगवती देवी (95) पत्नी स्व.सतीश चन्द्र अग्रवाल की
भी अचानक ठंड से मौत हो गयी।  सोमवार को पूरे दिन आसमान साफ रहा लेकिन
शाम होते ही आसमान में फिर बादल छा गये। ठंड का दौर शुरू होने से लोग
घरों में दुबक गये।

7- फसल खराब होने से क्षुब्ध किसान ने लगाई फांसी

हमीरपुर ब्यूरो। जिले में फसल खराब होने से क्षुब्ध एक किसान ने फांसी
लगाकर आत्महत्या कर ली। सोमवार को गांव के बाहर खेत में लगे एक पड़े पर
उसका शव फांसी के फंदे से लटकता पाया गया। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर
पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।
जरिया थाना क्षेत्र के गोहांड कस्बा निवासी तुलाराम (45) पुत्र हरीदास
लोधी की पत्नी सुदामा के नाम दो एकड़ जमीन है। सुदामा का पति तुलाराम खेती
कर परिवार का भरण पोषण करता था। इसने इस साल मटर, गेहूं की फसल बोयी थी।
कुछ दिन पहले भारी बारिश से पूरी फसल चौपट हो गयी थी। जिससे किसान परेशान
था। ये रविवार की रात अचानक किसी काम से घर से बाहर गया था। सोमवार को
परिजन उसे खोजते खेत पहुंचे तो आम के पेड़ पर उसका शव फांसी के फंदे से
लटकता देख उनमें कोहराम मच गया। घटना की सूचना पर पुलिस ने शव कब्जे में
लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा। परिजनों बताया कि पिछले साल तुलाराम ने
अपनी पुत्री पिंकी की शादी की थी जिसमें उसने साहूकारों से काफी रुपये
कर्ज में लिये थे। थानाध्यक्ष जरिया ने बताया कि मामले की जांच करायी जा
रही है। वहीं एसडीएम सरीला ने जुबेर बेग ने बताया कि घटना की उन्हें
जानकारी मिली है। तहसीलदार से इसकी जांच करायी जायेगी।
आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।
8- दुष्कर्म की घटना में सात साल से फरार आरोपित गिरफ्तार

सुमेरपुर हमीरपुर।  दुष्कर्म की घटना में सात सालों से फरार आरोपित को
सोमवार के दिन पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा है। सुमेरपुर कस्बे के लखनापुरवा निवासी दीपू उर्फ कालू ने वर्ष 2013 में घर में घुसकर युवती से दुष्कर्म किया था। घटना की रिपोर्ट सुमेरपुर थाने में दर्ज करायी गयी थी। घटना के बाद आरोपित फरार हो गया था। कस्बा इंचार्ज
सतीश कुमार ने मुखबिर की सूचना पर आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेजा है।

9- दो किमी खराब सड़क का 39.96 लाख रुपये लगे ठिकाने, पूरी सड़क गड्ढे में तब्दील
-ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री के हेल्पलाइन पर की शिकायत

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

कुरारा हमीरपुर। दो किमी खराब सड़क को गड्ढा मुक्त करने के लिये अवमुक्त
39.96 लाख की धनराशि ठिकाने लग गयी फिर भी पूरी सड़क गड्ढे में तब्दील है।
इस मामले को लेकर ग्रामीणों ने अधिकारियों से शिकायत की है।
कुरारा ब्लाक के भैंसापाली मार्ग दो किमी है। खस्ताहाल सड़क की मरम्मत के
लिये लोनिवि को 39.96 लाख की धनराशि अवमुक्त हुयी थी। गांव के अरविन्द
कुशवाहा, कमल, लाला मूलचन्द्र, शिवराम, रामफल व जयपाल सहित तमाम
ग्रामीणों ने बीडीओ को शिकायत करते हुये बताया कि गड्ढा मुक्त सड़क बनाने
के लिये लाखों की धनराशि इधर उधर हो गयी लेकिन आज भी पूरी सड़क गड्ढे में
तब्दील है। ग्रामीणों ने बताया कि सिर्फ पांच सौ मीटर की सड़क ही गड्ढा
मुक्त की गयी है जबकि डेढ़ किमी सड़क में चलना मुश्किल है। विभाग के
अभियंता भी शिकायत के बाद कोई कार्य नहीं करा रहे है।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram