(हमीरपुर बुलेटिन) गलत खबरें प्रसारित करने वालों पर कसेगा शिकंजाः डीएम, पढ़ें दिनभर की खबरें

1-  हमीरपुर में सैकड़ों साल पुराने ऐतिहासिक कंस मेला में कोरोना का लगा ग्रहण

हमीरपुर । जनपद के मौदहा कस्बे में 402 साल पुराने ऐतिहासिक कंस मेले में अब कोरोना का ग्रहण लग गया है। प्रशासन के निर्देश पर फिलहाल इस बार कंस मेला रद्द कर दिया गया है। तीन दिवसीय कंस मेला के दौरान अति प्राचीन तालाब में श्रीकृष्ण लीला का मंचन करते हुये नागनाथन का दृश्य देखने के लिये भारी भीड़ भी जुटती थी। लेकिन अबकी मर्तबा इस परम्परा के टूटने से लोगों में मायूसी देखी जा रही है।
मौदहा कस्बे में कंस मेले की शुरुआत करीब चार सौ दो साल पहले अनंत चौदस के दिन हुयी थी। मेले के आयोजन से जुड़े बुजुर्ग रमाशंकर गुप्ता ने बताया कि कंस मेले का आयोजन गल्ला व्यापार संघ एवं आढ़त संघ के पदाधिकारी करते रहे है। इस बार तीन दिवसीय ऐतिहासिक कंस मेले का आगाज 1 सितम्बर से होना था लेकिन कोरोना वायरस महामारी के संक्रमण के चलते ये आयोजन रद्द कर दिया गया है।
इस ऐतिहासिक मेले के पहले दिन शाम गुड़ाही बाजार में कंस दरबार सजाया जाता है। इसके बाद 1 सितम्बर को कंस मेला की शोभायात्रा पूरे कस्बे में निकाली जाने की परम्परा रही है, जिसमें शोभायात्रा में कंस का विमान, श्रीकृष्ण व अन्य देवी देवताओं की अनोखी झांकियां शामिल रहती थी। शोभायात्रा कस्बे के एतिहासिक मीरा तालाब पहुंचकर वहां कंस सहित अन्य दैत्यों का वध का मंचन होता था।
बीच तालाब में श्रीकृष्ण नागनाथन की लीला भी अनोखे अंदाज में की जाती थी जिसे देखने के लिये लाखों की भीड़ उमड़ती थी। इसके अलावा विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ ही विशाल दंगल की धूम मचती थी। कंस मेला के दौरान ओरी तालाब में 51 घंटे का अखण्ड कबीरी भजन के कार्यक्रम भी कराये जाते थे। लेकिन इस बार ये एतिहासिक आयोजन और मेला कोरोना महामारी की भेंट चढ़ गया है।
मौदहा कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक मनोज कुमार शुक्ला ने मंगलवार को बताया कि कोविड-19 के कारण ये आयोजन नहीं होंगे। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण के कारण क्षेत्र में किसी भी तरह के कार्यक्रम व मेल के आयोजन की अनुमति नहीं है। ऐतिहासिक कंस मेले को लेकर औपचारिकता निभाने वाले कार्यक्रम भी नहीं होंगे।
कंस, पूतना व बकासुर की सजती थी झांकियां 
ऐतिहासिक कार्यक्रम का नेतृत्व करने वाले रमाशंकर गुप्ता का कहना है कि मौदहा कस्बे में तीन दिवसीय कंस मेला के पहले दिन शाम को गुड़ाही बाजार में कंस का दरबार सजाया जाता था। इस दरबार में ही बकासुर व पूतना सहित अन्य झांकियां भी सजायी जाती है। इन झांकियों को देखने के लिये कस्बे के लोगों की भीड़ उमड़ती थी। अगले दिन सभी झांकियों को शामिल कर मीरा तालाब ले जाया जाता था। जहां कंस सहित सभी दैत्यों का वध की लीला का मंचन होता है।
आम लोगों की मदद से चलती है ऐतिहासिक परम्परा 
कस्बे के रमाशंकर गुप्ता ने बताया कि यहां का कंस मेले का इतिहास चार सौ साल पुराना है जिसे स्थानीय लोगों की मदद से हर साल सम्पन्न कराया जाता रहा। इतने बड़े आयोजन के लिये नगर पालिका या अन्य सरकारी संस्थायें कोई मदद नहीं करती। नगर पालिका सिर्फ कस्बे में स्वागत गेट बनवाती है। कंस विमान, देवी देवताओं की झांकियां और विभिन्न लीलाओं के मंचन का खर्च गल्ला व्यापार व आढ़ती संघ के लोग ही करते रहे हैं। पच्चीस प्रतिशत मदद स्थानीय लोग करते हैं।
 बुन्देलखण्ड क्षेत्र में विख्यात है ऐतिहासिक कंस मेला
शिवसेना के प्रदेश उपप्रमुख महंत रतन ब्रह्मचारी ने बताया कि बुन्देलखण्ड क्षेत्र के कोने-कोने में यहां का एतिहासिक कंस मेला मशहूर है। इसे देखने के लिये हमीरपुर के अलावा महोबा, बांदा, चित्रकूट, छतरपुर (मध्यप्रदेश), टीकमगढ़, झांसी, जालौन और फतेहपुर से बड़ी संख्या में लोग आते है। बताते हैं कि तीस साल पहले तीन दिवसीय कंस मेला के दौरान नौटंकी का आयोजन होता था मगर अब इनकी जगह कई अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने ले ली है।
कंस मेला में हुआ था बवाल, हटाये गये थे डीएम, एसपी
वर्ष 2018 में कंस मेला में बवाल हो गया था। बवाल के कारण कंस लीला और अन्य कार्यक्रम नहीं हुये थे। शोभायात्रा निकालने में दो पक्षों में झड़पे होने पर लाठी चार्ज और आंसु गैस के गोले दागे गये थे। सांसद समेत तमाम नेताओं को भी कार्यक्रम से भागना पड़ा था। पथराव में तत्कालीन ए.एसपी घायल हुये थे। सरकार ने भी डीएम आरपी पाण्डेय, एसपी और ए.एसपी सहित कई अफसर हटाये थे। पिछले साल प्रशासन ने एतिहासिक परम्परा के आयोजन सम्पन्न कराया था।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

 

 

2- हमीरपुर- गलत खबरें प्रसारित करने वालों पर कसेगा शिकंजाः डीएम

हमीरपुर । जिलास्तरीय स्थायी समिति की बैठक में जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने कड़े तेवर अख्तियार करते हुये कहा कि सोशल मीडिया, वेब न्यूज पोर्टल पर गलत खबरें देने वालों के खिलाफ अब शिकंजा कसा जायेगा। उन्होंने स्थायी समिति के सदस्यों के साथ सर्वसम्मति से भ्रामक खबरें प्रसारित करने वालों की निंदा करते हुये प्रस्ताव भी पारित किया।
मंगलवार को अपने कार्यालय में आयोजित जिलास्तरीय स्थायी समिति की बैठक में जिलाधिकारी और समिति के सदस्यों ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया कि पीत पत्रकारिता करने वालों तथा भ्रामक खबरें प्रसारित करने वालों के खिलाफ अब सख्त कार्यवाही की जायेगी।
जिलाधिकारी ने बताया कि पुलिस और प्रशासन के बनाये गये जिला स्तर पर वाट्सएप ग्रुपों में केवल मान्यता प्राप्त पत्रकार और जिला संवाददाताओं को रखा जायेगा।
 जिला अस्पताल में मान्यता प्राप्त पत्रकारों को मुफ्त चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने, कुछेछा स्थित पत्रकार भवन को जरूरत पड़ने पर सभी पत्रकारों को भवन उपलब्ध कराने सम्बन्धी मामलों पर चर्चा की गयी। सरीला से नियमित रूप से रोडवेज बस चलाने के बारे में जिलाधिकारी ने एआरएम को कार्यवाही करने के निर्देश दिये।
 जिलाधिकारी ने बताया कि बैठक में अभी तक जनपद में किसी पत्रकार के उत्पीड़न का मामला सामने नहीं आया है। उन्होंने बताया कि पत्रकारों को विकासपरक जनता के हितों को ध्यान में रखते हुये खबरें प्रकाशित करनी चाहिये। खबर चलाने समय पत्रकारों को ये सोचना चाहिये कि उनके जिले की छवि खराब न हो। खबरें ऐसी होनी चाहिये जिससे जिले का नाम हो और उस खबर से जनता का हित हो सके।
 बैठक में जिलास्तरीय स्थायी समिति के सदस्य पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार, अपर जिला सूचनाधिकारी रूपेश कुमार, पंकज मिश्रा, राजेश सिंह, नाहिद अंसारी, मेहर मधु निगम, कृष्ण कुमार द्विवेदी, राजीव त्रिवेदी आदि मौजूद रहे।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

 

3- हमीरपुर- बिना जांच करे किसानों को बांटी गई सैकड़ों बोरी यूरिया खाद, उर्वरक विक्रेताओं को नोटिसें जारी

हमीरपुर । जनपद में बिना भूमि की जांच किये सैकड़ों बोरी यूरिया खाद (उवर्रक) का वितरण कर गड़बड़ी करने के मामले में जिलाधिकारी के आदेश के बाद जिला कृषि अधिकारी ने चार उर्वरक विक्रेताओं को कार्यवाही के लिये नोटिस जारी किया है। तीन दिन में नोटिस का जवाब न देने पर कठोर कार्यवाही करने की चेतावनी भी दी गयी है।
जिला कृषि अधिकारी डा. सरस कुमार तिवारी ने मंगलवार को बताया कि पीसीएफ कृषक सेवा केन्द्र पंधरी सुमेरपुर के खिलाफ उपनिदेशक कृषि ने खाद भंडार की जांच की। जांच में पाया गया कि जनार्दन किसान को बिना भूमि की जांच किये 67 बोरी यूरिया खाद का वितरण कर दिया गया है जो उच्चाधिकारियों के निर्देशों का उल्लंघन है। इन्हें नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण साक्ष्यों सहित जिला प्रबंधक पीसीएफ के माध्यम से तीन दिन के अंदर मांगा गया है।
इसी तरह से मे.अम्बे खाद भंडार मौदहा ने पीओएस मशीन का दुरुपयोग कर किसानों को मशीन से कैश मेमो जारी नहीं किया गया है। किसान आशीष कुमार गुप्ता व नरेन्द्र गुप्ता को बिना भूमि की जांच के सौ-सौ बोरी यूरिया खाद का वितरण किया गया है। इस पर इन्हें नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि सचिव क्षेत्रीय सहकारी समिति धनौरी ने किसान देवकरन, श्रीमती ज्योति राठौर, राजकुमार, मुन्ना, हीरा देवी, अनिकेत, गजेन्द्र कुमार व दिव्यम को बिना भूमि की जांच करें अलग-अलग तिथियों में खाद बांटी गयी है जबकि पीओएस मशीन में एक ही तिथि पर खाद वितरण दिखाया गया है। इनके खिलाफ भी कार्यवाही के लिये नोटिस जारी की गयी है। इसके अलावा सीएमएस सुमेरपुर को भी नोटिस जारी किया गया है।
जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि इनके खाद भंडार की जांच करायी गयी तो जांच में पाया गया कि दिनेश कुमार, देवेन्द्र कुमार व दिवाकर को बिना भूमि की जांच करे प्राड्ढवधान से अधिक यूरिया खाद बांटी है। इनके खिलाफ भी नोटिस जारी किया गया है। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश के बाद खाद विक्रेताओं की जांच करायी गयी थी जिसमें बड़ी कमियां पायी गयी है। इसीलिये कार्यवाही के लिये नोटिसें जारी की गयी है।

4- हमीरपुर- दो ट्रकों के बीच पिसे खलासी की मौत, चालक घायल

हमीरपुर । सुमेरपुर थाना क्षेत्र के इंगोहटा गांव के पास मंगलवार को नेशनल हाइवे में तेज रफ्तार एक ट्रक सड़क किनारे खड़े ट्रक में जा टकराया। जिससे ट्रक में बैठा खलासी पिस गया। वहीं चालक गंभीर रूप से घायल हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस घायल चालक को अस्पताल भिजवाने के साथ ही कड़ी मशक्कत के बाद खलासी के शव को बाहर निकालकर कब्जे में लिया।
महोबा के कबरई से गिट्टी लेकर कानपुर जा रहा एक ट्रक इंगोहटा गांव के पास नेशनल हाइवे-34 पर सड़क किनारे होटल के सामने खड़ा था। तभी पीछे से आ रहा दूसरा ट्रक खड़े ट्रक में घुस गया। जिससे सजेती घाटमपुर कानपुर निवासी चालक दिलीप (40) घायल हो गया, वहीं फतेहपुर के चांदपुर थाना क्षेत्र के इटरा गांव निवासी खलासी देवेन्द्र सिंह (50) पुत्र श्याम सुन्दर सिंह की मौत हो गयी। वह दो ट्रकों के बीच पिस गया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर किसी तरह से उसका शव बाहर निकाला और पोस्टमार्टम के लिये भिजवाया। घायल चालक ने बताया कि अचानक झपकी लग जाने से उसका ट्रक आगे खड़े ट्रक में घुस गया था।
5- हमीरपुर- फिट इंडिया, यूथ क्लब अभियान में युवाओं व युवतियों ने दो किमी दौड़कर किया योगाभ्यास
हमीरपुर । जनपद में नेहरू युवा केन्द्र के तत्वाधान में फिट इंडिया यूथ क्लब अभियान में कोरोना संक्रमण काल में फिट रहने के लिये युवाओं और युवतियों ने मंगलवार को दो किमी दौड़ कर योगाभ्यास किया। सामाजिक दूरी के बीच मास्क लगाकर युवाओं व युवतियों ने विभिन्न कार्यक्रम भी किये।
फिट इंडिया  यूथ क्लब अभियान के तहत जनपद हमीरपुर के अंतर्गत नेहरू युवा केंद्र हमीरपुर से संबंध नेहरू युवा/ युवती मंडलों  द्वारा फिट इंडिया यूथ क्लब के तहत प्रतिदिन विभिन्न प्रकार के स्वस्थ रहने हेतु कार्य किए जा रहे हैं युवा मंडलों के युवा प्रतिदिन 2 किलोमीटर दौड़ योगाभ्यास वॉलीबॉल बैडमिंटन व फुटबॉल कबड्डी खो-खो साइकिलिंग तथा जो लोग बाहर नहीं जा सकते उन्हें घर पर ही योगाभ्यास के लिए प्रेरित किया गया है। उपरोक्त कार्यक्रम के दौरान युवा युवाओं व जन समान्य को कोविड-19 से बचने हेतु मास्क लगाए रखने एवं सामाजिक दूरी भी बनाए रखने के लिए कहा गया है। प्रतिदिन आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की कड़ी में फिट इंडिया यूथ क्लब  रिठारी ओडेरा नवेनी धमना लींगा बीवार धगवा बरगवां द्वारा अच्छा कार्य किया जा रहा है। फिट इंडिया यूथ क्लब द्वारा नियमित रूप से उत्तम स्वास्थ्य के लिए दौड़ योगाभ्यास जैसी गतिविधियों को अपनाकर आदर्श कायम किया गया है।
कार्यक्रम में युवा मंडल रिठारी के अध्यक्ष आशीष चक्रवर्ती बृजमोहन विकास रोहित संतोष संदीप दुष्यंत कुमार अनिरुद्ध राजा अमित राजकुमार अग्रणी भूमिका का निर्वहन कर रहे हैं। युवाओं द्वारा इसके लिए ग्राम रिठारी के श्री लोकराम शिवबालक नंदकिशोर नारायणदास मिथिलेश के समस्त परिवारजनों सहित योगाभ्यास के लिए प्रेरित कर नियमित रूप से योगाभ्यास करवा रहे हैं। फिट इंडिया यूथ क्लब के अंतर्गत अपने ग्राम रिठारी के समस्त लोगों को फिट इंडिया कार्यक्रम से जोड़कर उनके उत्तम स्वास्थ्य के लिए कृत संकल्प है।
6- हमीरपुर- भाजपा की बैठक में कोरोना से लडऩे को मोदी की गूंजी अपील
हमीरपुर । जनपद में मंगलवार को भाजपा की वर्चुअल वीडियो कान्फ्रेंस में आईटी जिला संयोजक रोहित गुप्ता ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी से बचने के लिये मोदी की, सावधानी ही इलाज है, दो गज की दूरी मास्क है जरूरी अपील से ही इस महामारी से विजय हासिल की जा सकती है। उन्होंने योगी और मोदी सरकार की जनकल्याणकारी योजनायें भी सिलसिलेवार रखी।
भाजपा की आईटी के जिला संयोजक रोहित गुप्ता ने कार्यकर्ताओं से वर्चुअल बैठक में कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना आज पूरे विश्व में दहशत फैला चुका है। मोदी के आह्वान पर सावधानी ही इलाज है, 2 गज की दूरी, मास्क है जरूरी। स्लोगन, जनता कर्फ्यू, लॉक डाउन सहित तमाम प्रकारों से देश की जनता सावधान रहते हुए सभी नियमों का पालन करते हुए जिस तरह कोरोना से संघर्ष करते हुए विजय की ओर अग्रसर है। इसके लिए मोदी जी जैसा नेतृत्व उपयोगी सिद्ध हो रहा है।
इसी का नतीजा है कि 135 करोड़ की आबादी का देश आज बदतर स्थिति में पहुंचने से बचाया जा सका। इस दौरान हमारे व्यापार, उद्योग, रोजगार, बाजार सब बुरी तरह प्रभावित हुए। परंतु इन सब को संभालने के लिए मोदी की केंद्र सरकार द्वारा 20 लाख करोड़ रुपए का आर्थिक पैकेज संजीवनी का काम कर रहा है। इस दरमियान 80 करोड़ लोगों को राशन आदि की व्यवस्था की गई है। 8 करोड़ 70 लाख किसानों को किसान सम्मान निधि पहुंचाई गई है। 20 करोड़ महिलाओं के धन खातों में 500 की आर्थिक मदद कर महिलाओं के जनधन खाते पर हंसी उड़ाने वाले लोगों को जोरदार तमाचा है। कोरोना महामारी काल में भाजपा के देव दुर्लभ कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए सेवा कार्यों को मैं दिल से नमन करता हूं। भाजपा कार्यकर्ता आधारित पार्टी है।
मोदी ने 370 धारा हटा कर जम्मू कश्मीर का समुचित विकास का मार्ग प्रशस्त किया है। जहां आज शान से तिरंगा लहरा रहा है। मुस्लिम महिलाओं की सम्मान की रक्षा करते हुए तीन तलाक से अभिशाप से मुक्ति दिलाई है। 35 लाख प्रवासी श्रमिकों को 15 दिन का निशुल्क भोजन तथा 1000 की आर्थिक सहायता देते हुए सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास को साकार कर रही मोदी सरकार जनता की आकांक्षाओं को पूरा कर रही है।
जिलाध्यक्ष ब्रज किशोर गुप्ता जी ने बैठक के समापन के पहले उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री,पूर्व सांसद प्रसिद्ध क्रिकेट खिलाड़ी चेतन चौहान के आकस्मिक निधन पर शोक व्यक्त कर श्रद्धां​जलि दी।
7- हमीरपुर- अवैध शराब की फैक्टरी का भंड़ाफोड़, दो महिलाओं समेत सात गिरफ्तार
हमीरपुर । जलालपुर थाना क्षेत्र में स्वाट टीम व पुलिस की संयुक्त टीम ने मंगलवार को कबूतरा का डेरा में संचालित अवैध शराब की फैक्टरी में छापेमारी कर 1000 लीटर शराब, 2000 लीटर लहन, पचास किलो गुड़ के साथ दो महिलाओं समेत सात लोगों को गिरफ्तार किया है। अवैध शराब बनाने के उपकरण भी बरामद किये गये है।
पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार के निर्देश पर जलालपुर थाने के प्रभारी निरीक्षक उमापति मिश्रा, एसओजी (स्वाट) प्रभारी बृजेश सिंह यादव, उपनिरीक्षक सतीश कुमार शुक्ल ने पुलिस बल के साथ जलालपुर क्षेत्र के कबूतरा का डेरा में छापा मारा। छापेमारी में एक हजार लीटर शराब, दो हजार लीटर लहन, पांच किलो यूरिया, पांच ग्राम नौसादर तथा भारी मात्रा में शराब बनाने के उपकरण बरामद किया गया है। मौके पर शराब बनाते कमली पत्नी गोवर्धन, रिंकी पत्नी विष्णु कबूतरा, पप्पू पुत्र तातिया अहिरवार, भारत पुत्र मोहन कबूतरा, अर्जुन पुत्र रामशरण, रामकृपाल पुत्र भइयादीन व विष्णु पुत्र गोवर्धन को गिरफ्तार किया गया है। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। मौके पर अवैध शराब की फैक्ट्री को तहसनहस कर दिया गया है।
8- हमीरपुर- पीओएस मशीन के जरिए होगा उर्वरक का वितरण
हमीरपुर । उर्वरकों की बिक्री में हो रही गड़बड़ी रोकने के लिए शासन गंभीर है। वितरण कार्य डीबीटी प्रणाली के तहत पीओएस मशीन से ही खाद का वितरण करने के निर्देश जारी किए गए हैं। अधिकारियों का मानना है कि मौजूदा में हो रही बारिश से खरीफ फसलों का उत्पादन लक्ष्य से अधिक होगा। इसी को देखते यूरिया की मांग किसानों में अधिक बढ़ी है।
 कृषि अधिकारी डा.सरस कुमार तिवारी ने मंगलवार को बताया कि डीबीटी पोर्टल पर उर्वरकों की बिक्री के लिए उर्वरक निर्माताओं से थोक के साथ फुटकर विक्रेता तक जाने वाली खाद की सारी जानकारी एक साथ ऑनलाइन कराई जाएगी। ताकि किसानों को खाद वितरण के साथ ही डीबीटी प्रणाली के अंतर्गत वास्तविक क्रेता का नाम दर्ज हो सके।
 इस ऑनलाइन प्रणाली को पूरी तरह लागू की जानी है। इस कार्य में विलंब करने वाले थोक व फुटकर विक्रेताओं के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। किसानों के आधार संख्या के अनुसार वितरण सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि विशेष परिस्थितियों में अन्य पहचान पत्र का प्रयोग कर खाद लेने वाले किसान पता व मोबाइल नंबर पोर्टल पर अंकित किया जाएगा।
9- हमीरपुर- खेल-खेल में दो साल की बच्ची तालाब में गिरी, मौत
हमीरपुर । सुमेरपुर थाना क्षेत्र के कैथी गांव में मंगलवार को एक दो साल की बच्ची खेलते समय तालाब में गिर गयी जिससे उसकी मौत हो गयी।
सुमेरपुर क्षेत्र के कैथी गांव निवासी महेश कुशवाहा के घर के सामने तालाब है। इस समय तालाब पानी से लबालब है। आज उसकी दो साल की पुत्री पायल कुशवाहा खेलते-खेलते तालाब में गिर गयी, जिससे पायल डूब गयी।
 घटना की जानकारी काफी देर बाद परिजनों को हुयी तो आनन-फानन में मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों की मदद से बच्ची की खोजबीन तालाब में शुरू करायी। इसी बीच बच्ची का शव तालाब के पानी में उतरता देख उसे बाहर निकाला। लेकिन उससे पहले ही उसकी मौत हो गयी थी। इस घटना से गांव में मातम छा गया है। पायल की मौत से मां बदहवाश है।
10- हमीरपुर- साथी युवकों का पक्ष लेने पर दो सिपाही पिटे, एसपी ने किया लाइन हाजिर
हमीरपुर । मुस्करा थाना क्षेत्र के नवीन गल्ला मंडी में अपने साथी युवकों का पक्ष लेने गये दो सिपाहियों के साथ मारपीट होने के मामले में मंगलवार को पुलिस अधीक्षक (एसपी) श्लोक कुमार ने दोनों सिपाहियों को लाइन हाजिर कर दिया है। मामले की जांच के निर्देश भी दिये गये है।
बता दे कि मुस्करा कस्बे के नवीन गल्ला मंडी परिसर में कस्बे के युवक टहल रहे थे। तभी एक युवक की बसवारी गांव के युवक से मोबाइल पर कहासुनी हो गई। इस पर बसवारी के कई युवक मंडी पहुंचकर झगड़ करने लगे। इस विवाद की जानकारी मिलने पर थाने का एक सिपाही सिविल ड्रेस में मंडी पहुंच गया। वहां पुलिसिया रौब दिखाने पर युवकों ने उसकी पिटाई कर दी तो उसने साथी सिपाही को मंडी बुला लिया, लेकिन वह भी बिना वर्दी के पहुंचा तो युवकों ने उसे भी धुन दिया। इसके बाद पिटे सिपाहियों ने थाने में सूचना दी। तब थाने से पुलिस फोर्स पहुंचा मारपीट करने वाले करीब आधा दर्जन युवकों को पकड़कर थाने ले गए। दोनों पक्षों में आपकी सुलहनामा होने पर सभी छोड़ दिया गया।
 थानाध्यक्ष बांके बिहारी सिंह ने बताया कि घटना की पूरी जड़ थाने में तैनात सिपाही कौशलेंद्र सिंह है। बसवारी गांव के युवकों से उसकी मित्रता है। बताया कि सिपाही बसवारी के युवकों के साथ साझेदारी में हार्वेस्टर भी चलवाता रहा है। बताया कि मंडी में हुए विवाद में उसने दूसरे सिपाही शिवम यादव को बुलाया था। कहा कि इन सिपाहियों पर कार्रवाई के लिए एसपी को पत्र भेजा गया है। इस मामले में पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने बताया कि दोनों सिपाहियों को लाइन हाजिर कर दिया है।
11- हमीरपुर- अपर निदेशक स्वास्थ्य ने डेंगू प्रभावित गांव का निरीक्षण
हमीरपुर । राठ क्षेत्र के गल्हिया गांव में डेंगू बुखार थमने का नाम नहीं ले रहा है। लगातार डेंगू के बढ़ रहे मरीजों को लेकर मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग के अपर निदेशक बांदा डा.आरबी गौतम ने सीएमओ के साथ गांव पहुंचकर निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान अपर निदेशक व सीएमओ ने ग्रामीणों को जागरूक होने की अपील की और डेंगू से बचाव के तरीके बताये है।
बताते चले कि बीते एक माह से गल्हिया गांव में डेंगू का प्रकोप फैला हुआ है। गांव में एक सैकड़ा से अधिक ग्रामीण डेंगू की चपेट में आ चुके है। जबकि सात लोगों की डेंगू से मौत हो चुकी है। गांव में डेरा डाले स्वास्थ्य विभाग की टीम डेंगू के प्रकोप पर लगाम नहीं लगा पा रही है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा डुलमुल रवैया को लेकर ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। ग्राम प्रधान गल्हिया देवेंद्र राजपूत ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में जांच के नाम पर खानापूरी कर रही है। कहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम अपनी सरकारी नौकरी का फर्ज अदा कर रहे है। गांव में लगातार बढ़ रहे डेंगू के मरीजों पर रोक नहीं लग पा रही है।
 बताया कि ग्रामीणों को डेंगू की जांच कराने के लिये भटकना पड़ता है। ग्राम प्रधान ने एडी से गांव में डेंगू की जांच के लिये लैब बनाने की मांग की है। वहीं अपर निदेशक स्वास्थ्य विभाग बांदा ने बताया कि ग्रामीणों को डेंगू जैसी बीमारी से लडने के लिये जागरूक होना जरूरी है। घरों में गंदा पानी भरा न रखें। गंदा पानी भरा होने से लार्वा उत्पन्न हो जाता है। जिससे एक मच्छर पैदा हो जाता है। जो डेंगू जैसी बड़ी बीमारी उत्पन्न कर देता है। इस मौके पर तहसीलदार श्यामनारायण शुक्ला, नौरंगा सीएचसी अधीक्षक डा.संतोष मिश्रा आदि मौजूद रहे।
डेंगू से दो और संक्रमित
राठ  क्षेत्र के गल्हिया गांव में फैला डेंगू का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। सीएचसी राठ के एलटी बीएन नागर ने बताया कि मंगलवार को गल्हिया गांव के पांच ग्रामीणों की डेंगू की जांच हुई है। जिसमे 65 वर्षीया वृद्धा धनिया पत्नी गन्नू और बृजेश 42 पुत्र श्रीपत में डेंगू की पुष्टि हुई है। बताया कि दोनों को मेडिकल कॉलेज झांसी रिफर कर दिया गया। लगातार बढ़ रहे डेंगू के मरीजों से ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram