(हमीरपुर बुलेटिन) गैंगेस्टर के टाप-10 व सूचीबद्ध गैंग लीडर की लाखों की सम्पत्ति कुर्क, पढ़ें दिनभर की खबरें

1- बकायेदारी जमा करने पर अगस्त में माफ होगा फिक्स चार्ज

हमीरपुर । पावर कारपोरेशन हमीरपुर ने उपभोक्ताओं को बड़ी राहत देने के लिये एक नयी योजना का आगाज किया है। जिसमें हजारों किसानों को इसका सीधा लाभ मिलेगा। लेकिन शर्त है कि 31 जुलाई तक किसानों को अपनी बकायेदारी जमा करनी होगी।
पावर कारपोरेशन के अधिशाषी अभियंता सुमित व्यास ने गुरुवार को बताया कि जनपद में वाणिज्य और औद्योगिक इकाईयों के उपभोक्ताओं को इस माह के बिल में बड़ी राहत देने के लिये योजना चलायी गयी है। इस योजना में उपभोक्ताओं को 31 जुलाई तक बकायेदारी जमा करनी होगी। वाणिज्य संस्थान के तहत आने वाले सभी दुकानें, माल, होटल, रेस्टोरेंट आदि के उपभोक्ताओं तथा एचवी 1 तथा एचवी 2 के उपभोक्ताओं को जुलाई माह में फिक्स चार्ज नहीं लगेगा। बताया कि इस योजना का लाभ उन्हीं उपभोक्ताओं को मिलेगा जिनके जुलाई तक पूरा बकाया जमा होंगे। उन्होंने बताया कि पहले यह आदेश जून तक थे लेकिन शासन ने 31 जुलाई तक इस योजना को बढ़ा दिया है। उन्होंने बताया कि जनपद में आसान किस्त योजना के तहत पंजीयन कराने का लक्ष्य 10314 था जिसमें 4125 बकायेदारों ने पंजीकरण कराया है। इस माह में बकाया जमा होने पर उपभोक्ताओं का अगस्त में फिक्स चार्ज व डिमांड चार्ज माफ होगा।
अधिशाषी अभियंता ने बताया कि शासन की आसान किस्त योजना में बकायेदारों को सीधे लाभ मिलेगा। यदि शत प्रतिशत उपभोक्ताओं ने इस योजना का लाभ उठाया तो जनपद में कई करोड़ रुपये का फिक्स और डिमांड चार्ज माफ होगा। लॉकडाउन में बिजली का बिल दिये जाने को लेकर यहां के उपभोक्ता आक्रोशित थे। व्यापारियों और आम उपभोक्ताओं की मांग थी कि उनका लॉकडाउन अवधि का फिक्स और डिमांड चार्ज माफ किया जाये।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

2- हमीरपुर : नाग देवता के मंदिर में पूजा करने से काल सर्प दोष से मिलती है निजात

हमीरपुर । मुस्करा थाना क्षेत्र के अलरा गौरा गांव में ऊंचे पहाड़ में स्थित नाग देवता के मंदिर का इतिहास करीब चार सौ साल पुराना है। यहां नागपंचमी के दिन विधि विधान से पूजा अर्चना करने से काल सर्प दोष समाप्त हो जाता है। हालांकि कोरोना के कारण यहां इस बार मेला नहीं लगेगा।
मुस्करा ब्लाक क्षेत्र के अलरा गौरा गांव में मिट्टी के ऊंचे पहाड़ पर एक नाग देवता का मंदिर स्थित है। इस मंदिर का इतिहास भी कम से कम चार सौ साल पुराना है। यहां वैसे तो हर रोज गांव के लोग नाग देवता की प्रतिमा की पूजा करने जाते है लेकिन नाग पंचमी के दिन यहां श्रद्धालुओं का मेला लगता है। हमीरपुर और आसपास के तमाम इलाकों के लोग नाग पंचमी पर्व पर बोतल में दूध लेकर मंदिर पहुंचते है।
मान्यता है कि दूध से नाग देवता की प्रतिमा का जलाभिषेक करने से मन की मुरादें पूरी होती है। साथ ही नाग देवता कभी परेशान नहीं करते है। गांव के आचार्य जगदीश तिवारी ने बताया कि इस मंदिर का निर्माण किसने और कब कराया ये कोई नहीं जानता है लेकिन यह सच है कि इसका इतिहास करीब चार सौ साल पुराना है। यह मंदिर मिट्टी के ऊंचे पहाड़ पर बना है जहां नाग देवता की भव्य प्रतिमा स्थापित है। उन्होंने बताया कि काल सर्प के दोष से निजात पाने के लिये श्रद्धालु हर साल नाग पंचमी की पूजा करने यहां जरूर आते हैं ।
बुन्देलखंड के जालौन, महोबा और पड़ोसी मध्यप्रदेश के इलाकों से भी बड़ी संख्या में लोग नागपंचमी के दिन बड़े ही श्रद्धा भाव से मंदिर में पूजा करने आते है। सुबह से देर शाम तक यहां मेला भी लगता रहा है लेकिन अबकी बार कोरोना वायरस महामारी को लेकर इस मंदिर में श्रद्धालुओं की संख्या गिनती में रहेगी। आचार्य ने बताया कि इस मंदिर की विशेषता है कि नाग पंचमी के दिन जिस किसी ने नाग देवता की प्रतिमा पर दूध चढ़ाकर माथा टेका तो उसे कभी भी सपने में सर्प नहीं दिखेंगे।
यदि काल सर्प दोष भी उसके जीवन में होगा तो वह भी समाप्त हो जायेगा। उन्होंने बताया कि इस ये मंदिर पुजारी विहीन है। यहां कभी भी कोई पुजारी नही रहा है। गांव के लोग ही मिलकर नाग पंचमी की पूजा और अन्य कार्यक्रम सम्पन्न कराते है। नाग पंचमी के दिन नाग देवता की प्रतिमा पर सवा मन दूध भी चढ़ाया जाता है। गांव के लोगों ने बताया कि मंदिर इस समय काफी जर्जर हालत में है। इसका कुछ साल पहले जीर्णाेद्धार कराया गया था। जिसमें गांव के हर व्यक्ति ने मदद की थी।
गांव में नहीं हुयी सर्पदंश से मौत
मुस्करा क्षेत्र के समाजसेवी अजय गुप्ता ने बताया कि अलरा गांव में नाग देवता का मंदिर बड़ा ही चमत्कारी है। इस गांव में आज तक एक भी घटना सर्पदंश के कारण नहीं हुयी। गांव के आचार्य जगदीश तिवारी ने बताया कि दूरदराज से सर्पदंश के शिकार लोगों को लाकर नाग देवता के मंदिर में अनुष्ठान कराया जाता है। यदि समय से सर्प दंश से पीड़ित लोग मंदिर आ जाते है तो नाग देवता की प्रतिमा के सामने लिटाते ही वह ठीक भी हो जाता है।

3- गैंगेस्टर के टाप-10 व सूचीबद्ध गैंग लीडर की लाखों की सम्पत्ति कुर्क

-जनपद के कई थाने और कानपुर देहात में गैंग लीडर पर दर्ज है 18 संगीन अपराध
हमीरपुर । गैंगेस्टर एक्ट के टाप-10 अपराधियों के खिलाफ पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। गुरुवार को गैंगेस्टर एक्ट के तहत सूचीबद्ध गैंग लीडर के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई करते हुये उसके घर से 4 लाख कीमत का ट्रैक्टर कुर्क किया है।
ललपुरा थाना क्षेत्र के टीकापुर गांव निवासी राघवेन्द्र सिंह उर्फ रग्घू पुत्र शिवहरे सिंह गैंगेस्टर एक्ट के तहत टाप-10 अपराधी है। ये सूचीबद्ध गैंग लीडर भी है। गुरुवार को पुलिस ने इस अपराधी पर शिकंजा कसते हुये इसके घर से चार लाख कीमत का ट्रैक्टर कुर्क करने की कार्यवाही की है।
ललपुरा थानाध्यक्ष दुर्ग विजय सिंह ने बताया कि इस गैंगेस्टर एक्ट अपराधी के खिलाफ अठारह संगीन अपराध दर्ज है। ललपुरा थाने में ही 13 मामले दर्ज है जबकि जलालपुर में दो, मूसानगर कानपुर देहात में तीन संगीन मामले दर्ज है। मूसानगर कानपुर देहात में ही गुंडा एक्ट व गैंगेस्टर एक्ट का मामला दर्ज है वहीं इसके खिलाफ 2018 में ललपुरा थाने में गैंगेस्टर एक्ट का अपराध दर्ज है।
 थानाध्यक्ष ने बताया कि ये अपराधी शातिर किस्म का है जो कुरारा थाने का प्रचलित हिस्ट्रीशीटर अपराधी भी है। ये टाप-10 अपराधी एवं सूचीबद्ध गैंग लीडर है जो हमीरपुर और आसपास के सीमावर्ती जनपदों में अपराध करता है। इसकी चार लाख की सम्पत्ति (ट्रैक्टर) कुर्क की गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram