(हमीरपुर बुलेटिन) जनपद में 1953 हाई रिस्क प्रेग्नेंसी महिलाओं को चिन्हित किया गया, पढ़े दिनभर की खबर

1- मौरंग खदानों में एक से अधिक मार्ग होने पर पट्टा धारकों पर होगी एफआईआर

हमीरपुर ब्यूरो। जिले में मौरंग खदान से प्रवेश और ट्रकों की निकासी को लेकर एकल मार्ग न बनाने वाले मौरंग के पट्टा धारकों के खिलाफ अब एफआईआर दर्ज करायी जायेगी। इसके लिये जिलाधिकारी ने जिले के सभी उप जिलाधिकारियों को जांच कर कार्यवाही करने के आदेश दे दिये है। हाल के दिनों में लखनऊ के काकोरी थाना क्षेत्र के पुलिस चौकी घुरधुरी तालाब के पास चेकिंग के दौरान मौरंग और गिट्टी के बीस ओवर लोड ट्रक पकड़े गये थे। मौरंग के एक ट्रक में अंकित मात्र से अधिक मौरंग लोड पायी गयी थी। वहीं पांच मौरंग के लोड ट्रकों में परिवहन प्रपत्र की वैद्यता समाप्त पाये जाने पर सभी ट्रकों को सीज कर दिया गया था। खनिज निदेशालय ने माना कि हमीरपुर, जालौन, बांदा, महोबा व झांसी के पट्टा धारक खनन पट्टे की शर्तों का खुलेआम उल्लंघन करते हुये मौरंग और गिट्टी का अवैध परिवहन कर रहे है। जिलाधिकारियों को अवैध खनन और परिवहन की सघन जांच कर कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

हमीरपुर के जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने सभी उप जिलाधिकारियों को एक पत्र जारी करते हुये मामले की जांच कर कार्यवाही करने के आदेश दिये है। जिलाधिकारी ने कहा कि मौरंग के पट्टा धारक खनिज निकासी के लिये एक से अधिक मार्ग बनाकर मौरंग का परिवहन कर रहे है। मौरंग खदानों में प्रवेश और निकासी के लिये यदि एक से अधिक मार्ग (रास्ता) पाया जाये तो तत्काल मौरंग पट्टा धारक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी जाये। उन्होंने उप जिलाधिकारियों को निर्देश भी दिये है कि अवैध खनन और परिवहन की जांलेच कर अवैध खनन और परिवहन करने वालों के खिलाफ कठोर कार्यवाही भी की जाये। खनिज विभाग में जिलाधिकारी के आदेश पहुंचते ही शुक्रवार को अधिकारी हरकत में आ गये है। बता दे कि जिले के कुरारा, जलालपुर, मझगवां, राठ और कोतवाली क्षेत्र में ज्यादातर मौरंग खदानों में अवैध खनन और ओवर लोड ट्रकों का परिवहन का खेल चल रहा है। इस माह में ही अभी तक बड़ी संख्या में अवैध खनन और परिवहन में लिप्त तमाम ट्रक व ट्रैक्टर पकड़े गये है। कुरारा क्षेत्र में प्रतिदिन अवैध खनन और परिवहन
को लेकर थाने में एफआईआर दर्ज हो रही है।

2- प्रसव पूर्व चार जांच कराये, माँ बच्चें की जान बचाएँ बरते
– जनपद में 1953 हाई रिस्क प्रेग्नेंसी महिलाओं को चिन्हित किया गया

हमीरपुर ब्यूरो। प्रसव पूर्व होने वाली चार प्रमुख जांचों को कराने में हीलाहवाली ऐन वक्त पर गंभीर समस्या का कारण बन सकती है। अगर यह चारों जांचें सही समय पर करा ली जाये तो किसी भी तरह की समस्या होने पर उसका उचित निदान किया जा सकता हैं और ऐसे में गर्भवती महिलाओं की सुरक्षित प्रसव के लिए तैयारी भी हो जाती हैं।
आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।
फतेहपुर जनपद के अमौली कस्बा निवासी 30 वर्षीय नीलम पत्नी जयहिंद दूसरी बार मां बनने वाली थी। लेकिन इस बार मामला फंस गया, गंभीर हालत में जिला महिला अस्पताल लाई गई नीलम का अगर समय से ऑपरेशन नहीं होता तो जच्चा-बच्चा दोनों के लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती थी क्योंकि बच्चा फंसा हुआ था। नीलम का केस कोई पहला और आखिरी नहीं है। दिसंबर माह में अस्पताल में 127 हाई रिस्क प्रेग्नेंसी (उच्च जोखिम वाली  गर्भवती महिलाओं) के सुरक्षित प्रसव करवाए गए। डॉ. आशा सचान बताती हैं कि जिला अस्पताल लाने से पूर्व नीलम को अमौली के सरकारी अस्पताल में चौबीस घंटे तक भर्ती किया गया था। लेकिन बच्चा फंस गया था। जिसकी वजह से नीलम की स्थिति बिगड़ गई। हालांकि पहला बच्चा नॉर्मल हुआ था। लेकिन दूसरे बच्चे में बगैर ऑपरेशन के डिलेवरी करना संभव नहीं था। लिहाजा उन्होंने और उनकी टीम ने सफलतापूर्वक ऑपरेशन करके जच्चा-बच्चा दोनों की जान बचा ली। नीलम बताती हैं कि एक समय तो वह भी घबरा गई थी। लेकिन अब सब कुछ ठीक है। इसी तरह सुभाष बाजार के गौरव की पत्नी लक्ष्मी को भी सिजेरियन डिलेवरी हुई। लक्ष्मी का पहला बच्चा था। डॉक्टर ने डिलेवरी की जो तारीख दी थी उससे ज्यादा समय हो चुका था। इससे जच्चा-बच्चा दोनों के लिए खतरा हो गया था। लिहाजा लक्ष्मी के भी ऑपेरशन से डिलेवरी हुई। डॉ. आशा सचान बताती हैं कि डिलेवरी के कुछ मामले ऐन मौके पर आकर फंस जाते है। कई बार महिलाओं की स्थिति बेहतर होती है,
लेकिन वह प्रसव पूर्व जांचें कराने में रुचि नहीं लेती है। इसकी वजह से जब प्रसव का समय नजदीक आता है तो हालत बिगड़ने लगती है। प्रसव की जटिलाओं को दूर करने की कोशिश क्वालिटी इम्प्रूवमेंट मेंटर आकांक्षा यादव का कहना है कि उनकी टीम जनपद में प्रसव की जटिलाओं को दूर करने का काम कर रही है। वैसे जनपद में जहां कहीं भी ऐसी गर्भवती महिलाएं होती है, उन्हें समय से जिला अस्पताल रेफर कर दिया जाता है। जहां सफलतापूर्वक उनका प्रसव कराया जा रहा है।
गर्भावस्था के दौरान छोटी-छोटी लापरवाहियों से महिलाएं ऐन वक्त पर एचआरपी की श्रेणी में आ जाती हैं। अगर उचित देखभाल और खानपान का स्तर सही रहे तो इससे बचा भी जा सकता है।

3- हमीरपुर में छापामारी में आठ दुकानों के लाइसेंस निलम्बित, एक दुकान सीज
-एसडीएम के नेतृत्व में पूरे जनपद में हुयी छापामारी, कई दुकानदार भागे

हमीरपुर ब्यूरो। खाद की कालाबाजारी पर शिकंजा कसने के लिये शुक्रवार को समूचे हमीरपुर जनपद में एसडीएम के नेतृत्व में ताबड़तोड़ छापामारी की गयी। छापामारी में आधा दर्जन से अधिक खाद की दुकानें निलम्बित कर दी गयी है वहीं एक खाद की दुकान को सील किया गया है। इस कार्रवाई से खाद विक्रेताओं  में हड़कंप मच गया है।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

जिला कृषि अधिकारी सरस तिवारी ने शुक्रवार को शाम बताया कि मौदहा में एसडीएम अजीत परेश के नेतृत्व में खाद की दुकानों में छापा मारा गया। मे.भोले खाद भंडार, मे.बालाजी खाद भंडार, तथा मे.सगीरउद्दीन खाद भंडार छापामारी के दौरान बंद पाये जाने पर इन सभी के लाइसेंस निलम्बित कर दिये गये है। मे.कृष्णा खाद भंडार, मे.किसान बीज भंडार तथा सहकारी क्रय विक्रय
समिति के अभिलेखों के रखरखाव न किये जाने पर कठोर चेतावनी जारी की गयी है।

जिले के राठ में मे.राजपूत ट्रेडर्स को इसलिये सील कर दिया गया है क्योंकि छापामारी के दौरान कोई भी अभिलेख नहीं दिखाये थे। वहीं मे.पुरवार ट्रेडर्स का उर्वरक बेचने का लाइसेंस न दिखाने पर लाइसेंस निलम्बित किया गया है। हमीरपुर तहसील क्षेत्र में भी खाद की दुकानों में छापामारी की गयी। जिसमें मे,हमीरदेव फारमर प्रोड्यूसर कम्पनी कुरारा व मे.अंकित ट्रेडर्स हमीरपुर का उर्वरक लाइसेंस तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है। छापामारी के दौैरान हमीरपुर से जिंक का एक नमूना लिया गया है जबकि मौदहा से डीएपी का एक, राठ से डीएपी का एक तथा सरीला से डीएपी के दो नमूने भरे गये है। कुल दस नमूने भरे गये है। अभी तक पूरे जिले में खाद की आठ दुकानों में कार्रवाई करते हुये लाइसेंस निलम्बित किये गये है। उप कृषि निदेशक जितेन्द्र मोहन श्रीवास्तव ने सरीला में छापामारी की वहीं अन्य अधिकारियों ने टीम बनाकर उपजिलाधिकारी के नेतृत्व में खाद दुकानों में छापामारी की।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

राठः खाद की दुकानों में हो रही अनियमितताओं की शिकायत पर शुक्रवार को एसडीएम ने कस्बे की खाद दुकानों में छापेमारी की। एक दुकान को सीज किया और दो दुकानों के संचालकों पर कानूनी कार्रवाई के आदेश दिए। एसडीएम सुरेश कुमार के नेतृत्व में टीम के साथ जलालपुर रोड स्थित राजपूत ट्रेडर्स पर छापा मारी की। बिक्री रजिस्टर में अवाश्यक लेखाजोखा न होने पर दुकान सीज कर दी। उरई रोड दीवानपुरा मोहल्ला स्थित पुरवार ट्रेडर्स व गौतम ट्रेडर्स तथा खेती बाड़ी केंद्र में छापेमारी की।

एसडीएम ने बताया कि पुरवार ट्रेडर्स में मशीन द्वारा बिक्री नहीं की गई और रजिस्टर की भी सही व्यवस्था नही थी। गौतम ट्रेडर्स में अकौना के अभिनंदन व गोहांड के धीरेंद सहित कई कस्टमरों ने अधिक रेट पर खाद बेचने की शिकायत की। अधिक रेट पर खाद बेचने के कारण किसानों को  रसीद भी नहीं दी जाती है।

एसडीएम सुरेश कुमार ने भूमि संरक्षण अशोक यादव को दोनों दुकानदारों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने व लाइसेंस निरस्तीकरण की कार्यवाही के आदेश दिए। खेतीबाड़ी केंद्र लाइसेंस नहीं दिखा सके। एसडीएम सुरेश कुमार ने दुकानदारों को किसानों के साथ धोखाधड़ी करने पर कड़ी कार्रवाई  करने की चेतावनी दी है। एसडीएम की इस छापेमारी  से खाद दुकानदारों में हड़कंप मच गया है ।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।
मौदहा हमीरपुरः शासन के निर्देश पर आज नगर के निजी खाद विक्रेताओं की दुकानों पर उप जिलाधिकारी के नेतृत्व में कृषि विभाग के अधिकारियों ने औचक छापेमारी कर बिक्री हो रही डीएपी व यूरिया खाद के सैम्पल भरे और उनके स्टॉक की जांच पड़ताल कर मूल्यों की भी जानकारी ली। इस अभियान से खासा हडकम्प रहा और तीन दुकानदार अपनी दुकानों में ताले लगा कर जाच से बचने के लिए रफूचक्कर हो गये। उनकी दुकानों के लायसेन्स निरस्त करने के आदेश भी दिये गये। सहकारी व निजी प्रतिष्ठानों में खाद की बिक्री के अलावा कुछ ऐसे दुकानदार भी चोरी छिपे नकली खाद की बिक्री धडल्ले से कर रहे है जिनके पास इनकी बिक्री का कोई बैद्य लायसेन्स भी नहीं हैं जिनपर विभागीय अधिकारियों की नजर आज तक नहीं पड़ी। वहीं आज डाले गये खाद की दुकानों के औचक निरीक्षण में क्रय विक्रय, किसान सेवा सहकारी समिति व पीसीएफ के खाद भण्डार सहित दस स्थानों ंपर यह जांच पड़ताल की गयी। छापेमारी टीम में उप
जिलाधिकारी अजीत परेश, उप कृषि निदेशक जीतेन्द्र मोहन श्रीवास्तव की टीम जैसे ही कम्हरिया मार्ग स्थित एक खाद की दुकान पर पहंुची तभी वहां का दुकानदार सगीरउद्दीन दुकान बन्द कर जाने लगा, उसे जांच के लिए रोका गया तो जुमे की नमाज का बहाना कर उसने कहा कि वह नमाज बाद दुकान की जांच करायेगा। लेकिन एक घण्टे बाद जब यह टीम वहां पहुंची तो दुकान में ताला पड़ा था और दुकानदार नदारत था। इसी तरह मण्डी समिति की किसान बाजार व महोबा मार्ग में बाला जी तथा भोले की दुकानों में पहुंचने पर दुकानदार अपनी दुकानों में ताला डाल भाग निकले। उप जिलाधिकारी ने बताया कि जिन लायसेन्सी दुकानदारों ने जांच से बचने के लिए दुकानों में ताला डाल चले गये उनके लायसेन्स निरस्त करने के लिए लिखा गयज्ञं

4- महिला की मौत के मामले में पति और सास के खिलाफ मुकदमा दर्ज
-राज्य महिला आयोग की सदस्य ने दो दिन पूर्व घटनास्थल पहुंचकर की थी
मामले की पड़ताल

मौदहा हमीरपुर। एक महिला का शव संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी के फंदे से टंगा पाये जाने के मामले में शुक्रवार को पति और सास के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने प्रकरण की जांच शुरू कर दी है। इस घटना को लेकर दो दिन पूर्व ही राज्य महिला आयोग की सदस्य प्रभा गुप्ता ने घटनास्थल पहुंचकर जांच पड़ताल की थी।

मौदहा कोतवाली क्षेत्र के टिकरी गांव निवासी सुमन उर्फ प्रीती (26) पत्नी ब्रजेश कुमार प्रजापति का शव छह दिन पूर्व घर में फांसी के फंदे पर संदिग्ध परिस्थितियों में मिला था। शव घर में दीवाल में लगी खूंटी पर फांसी के फंदे पर टंगा पाये जाने और मृतका के दोनों पैर जमीन पर स्पर्श करते देख मायके पक्ष के लोगों ने हंगामा किया था। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया था। इस घटना के बाद राज्य महिला आयोग की सदस्य प्रभा गुप्ता ने टिकरी गांव पहुंचकर मामले की जांच पड़ताल की थी।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।
उन्होंने ग्राम प्रधान और मृतका के पड़ोसियों से भी बातचीत कर सभी के बयान दर्ज किये थे। मृतका के भाई बलखंडी नाका बांदा निवासी राजेन्द्र ने आनलाइन पुलिस में मुकदमा दर्ज कराते हुये ब्रजेश कुमार पुत्र चिरंगी व उसकी मां के खिलाफ 498 ए, 304 बी, 313, 506 आईपीसी व दहेज एक्ट के तहत नामजद किया है। मुकदमा दर्ज होते ही पुलिस ने मामले की जांच भी शुरू कर दी है। बता दे कि नीलम की शादी 5 मई 2017 को हुयी थी।

5- नवोदय विद्यालय में प्रवेश के लिए परीक्षा शनिवार को

राठः जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश के लिए कक्षा 6 की परीक्षा जनपद के 7 परीक्षा केंद्रों में शनिवार को संपन्न होगी। जवाहर नवोदय विद्यालय की प्रधानाचार्य मंजू लता ने बताया कि नए शिक्षा सत्र के लिए कक्षा 6 के लिए प्रवेश परीक्षा शनिवार को संपन्न होगी। जिसमें तकरीबन 3000 छात्र-छात्राएं परीक्षा देंगे।
जनपद के राठ ब्लॉक के लिए बीएनवी इंटर कॉलेज, गोहांड में गांधी इंटर कॉलेज, सरीला के जीआईसी,मौदहा के गांधी इंटर कॉलेज, भरुआ सुमेरपुर के गायत्री इंटर कॉलेज, हमीरपुर और मुस्करा के जीआईसी इंटर कॉलेज में परीक्षा संपन्न होगी। परीक्षा केंद्रों में सारी व्यवस्थाएं दुरुस्त कर ली गई है। परीक्षा नकल विहीन संपन्न कराए जाने के लिए कड़ी निगरानी रखी जाएगी।

6- राष्ट्रीय युवा महोत्सव के लिये हमीरपुर का छात्र चयनित
-विवेकानंद यूथ अवार्ड से सम्मानित छात्र हमीरपुर का करेगा नाम रोशन

सुमेरपुर हमीरपुर। लखनऊ में होने जा रहे 23 वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव में हमीरपुर जिले का आलोक कुमार भी प्रतिभाग करेगा। शुक्रवार को उसका चयन जिलास्तर पर हो गया है।
सुमेरपुर थाना क्षेत्र के इंगोहटा गांव निवासी मोहनलाल साहू समाजसेवी है।
आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।
इनका पुत्र आलोक कुमार युवक मंगल दल इंगोहटा का अध्यक्ष है। जिलास्तर पर आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम और खेलकूद में आलोक की शानदार भागीदारी के चलते उसे विवेकानंद यूथ एवार्ड भी मिल चुका है। प्रयागराज (इलाहाबाद) विश्व विद्यालय के छात्र आलोक कुमार को जब लखनऊ में आयोजित 23 वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव में शामिल होने का पत्र मिला और पुलिस ने उसका सत्यापन किया को गांव और परिवार में खुशी का ठिकाना नहीं रहा। बता दे कि हमीरपुर जनपद से 25 युवा लखनऊ महोत्सव में जाने के लिये चयनित किये गये है। इनमें आलोक कुमार इंगोहटा युवक मंगल दल का अध्यक्ष है। ये राष्ट्रीय युवा महोत्सव में अपनी प्रतिभा बिखेरेगा।

7- डेढ़ साल में सड़क हुई बेकार, पेमेंट के बाद ठेकेदार गायब

सुमेरपुर हमीरपुर। राठ रोड को राष्ट्रीय राजमार्ग 34 से जोड़ने वाली सड़क
डेढ़ वर्ष पूर्व 5 करोड़ की लागत से बनायी गयी थी 5 वर्ष तक सड़क के रख रखाव
का अनुबंध था सड़क डेढ़ साल के अंदर खराब हो गई है। जगह जगह गड्ढे हो गए
हैं। फिर भी सारा पेमेंट पाने के बाद से ठेकेदार का कोई अता पता नहीं है
क्षेत्रीय जनता आवागमन के नाम पर परेशानी का सामना कर रही है।
गौर तलब है कि डेढ़ वर्ष पूर्व इगोहटा से छानी को जोड़ने वाली 18 किलोमीटर
सड़क की मरम्मत का कार्य इटावा के एक ठेकेदार द्वारा कराया गया था। सड़क
निर्माण में इस कदर की घटिया सामग्री का प्रयोग किया गया कि सड़क बनते ही
बिगड़ने लगी थी। अब जब लगभग डेढ़ साल का वक्त बीत गया है। तो सड़क की शक्ल
बदल गयी है। सड़क गड्ढों में तब्दील हो गयी है। जिसमे रुक रुक कर चलना
पड़ता है। इगोहटा निवासी मोहन लाल साहू ने बताया कि सड़क के नाम पर शासन को
5 करोड़ की चपत लगाने वाले ठेकेदार ने यहां की जनता को धोखा दिया है।
जिसका खामियाजा जनता भुगत रही है। किन्तु पी डब्लू डी की ओर से बिना गौर
किए ही ठेकेदार का पेमेंट कर दिया गया। यह और अधिक गंभीर बात है। सड़क
मानक के अनुरूप बनी नहीं है। गिट्टी लगातार उखड़ रही है। पेमेंट के पूर्व
यदि इसकी जांच की जा सकती थी। किन्तु ऐसा नहीं किया गया। उन्होंने बताया
कि इगोहटा से लेकर छानी तक पूरी सड़क चलने के काबिल नहीं बची है। इसकी
मुख्य वजह यही है कि घटिया सामग्री से निर्माण कराया गया है। उन्होने
बताया कि सैकड़ो लोग मिलकर इसकी शिकायत मुख्यमंत्री तक पहुंचाई जा रही। है
यदि गौर नहीं किया जाता तो लखनऊ जाकर इसकी शिकायत की जाएगी। ताकि जनता की
आखों में धूल झोंकने वाले तथा संबंधित विभाग से पूरा पेमेंट कराने वाला
ठेकेदार अपने 5 वर्ष के अनुबंध के मुताबिक सड़क की नए सिरे से मरम्मत करा
सके और सड़क चलने के काबिल बन सके। एम एल साहू के अलावा मान सिंह भदौरिया
पूर्व प्रधान, रणविजय सिंह पूर्व प्रधान, सुघर सिंह पूर्व प्रधान,
रामबाबू श्रीवास पूर्व प्रधान, श्यामनारायण विश्वकर्मा, बद्रीप्रसाद प्रधान, जयकिशोर दीक्षित, श्यामनारायण मिश्रा, आदि ने सड़क की मरम्मत कराए जाने की मांग की है।

8- नई पीढ़ी को महान विभूतियों के बारे मे बताना आवश्यकः सीडीओ

हमीरपुर ब्यूरो। जिले की महान विभूतियों के जीवन दर्शन एवं आजादी के
आन्दोलन में उनके द्वारा दिये गये योगदान के सन्दर्भ में एक पुस्तिका का
प्रकाशन कराना एवं प्राथमिक स्तर से लेकर माध्यमिक व उच्च शिक्षा
संस्थानों में जनपद के महान विभूतियों के चित्र लगाये जाने विभिन्न
प्रतियोगिताएॅ आयोजित तथा उनके जीवनवृत कृतित्व एवं व्यक्तित्व पर एक
पुस्तिका का प्रकाशन करना जिला एकीकरण समिति की प्राथमिकता होगी। वह
इसलिए कि नई पीढ़ी जनपद के महान विभूतियों से भलीभॉति परिचित हो सके और
उनके जीवन से जीवन से प्रेरणा लेकर देश की एकता अखण्डता कायम करवाने में
अपना योगदान दे सके। महान विभूतियों व पं0 परमान्नद,स्वमी
बृम्हानन्द,दीवानशत्रुघन सिंह, श्रीपत सराह रखनें है।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।
उक्त विचार जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती जयन्ती राजपूत ने डा0 ए0पी0जे0
अब्दुल कलाम सभागार में जिला एकीकरण समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए
व्यक्त किए। उन्होने आगे कहा कि प्रतियोगिता के विजेता को 21 हजार रूपये
व  उपविजेता को 11 हजार रूपये तथा अन्य कुछ को सात्वना पुरस्कृत व
प्रशन्ति पत्र दिए जायेगे। सी0डी0ओ0 आर0के0 सिंह ने कहा कि आज के समय मे
राष्ट्रीय एकता को मजबूत करने के लिए नई पीढ़ी को जनपद व देश के महान
विभूतियों के बारे मे बताया जाना आवश्यक है। ताकि वे महापुरूषों के
कर्मयोग के आचरण मे धारणकर देश व समाज के लिए उपयोगी बन सके। बैठक मे
समिति के सदस्य गणेश सिंह विद्यार्थी, नाथूराम पथिक, जलीश खॉन, दिनेश
दुबे,सी0वी0ओ0 डा0 आर0के0 सिंह,लखन लाल जोशी, गुरूदेव सिंह,डा0 स्वामी
प्रसाद गुप्त, कामिनी पाल आदि ने उपयोगी विचार व सुझाव व्यक्त किए।
संचालन डा0 जी0के0 द्विवेदी ने किया। इस अवसर पर डी0आई0ओ0एस0, अपर
सी0एम0ओ0, डा0 रामऔतार सहित जिले के अधिकारीगण व गणमान्य लोग मौजूद रहें।
आयोजक डी0एस0टी0ओ0 बृन्दावन अहिरवार ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया।

9- बेसहारा गोवंश के लिए 29 लाख की धनराशि जारी

भरुआ सुमेरपुर। विकासखंड क्षेत्र के 56 स्थानों में संरक्षित बेसहारा
गोवंश के लिए शुक्रवार को 29 लाख रुपए की धनराशि जारी की गई।
खंड विकास अधिकारी रत्नेश सिंह ने बताया कि दरियापुर, अमिरता ,बरदहा
सहजना,हेलापुर को बीस- बीस हजार, बांक,बदनपुर, बरुआ, बिरखेरा, चन्दौखी,
सौखर,उजनेड़ी को तीस -तीस हजार, बंडा, भौनिया, भौंरा,बिलहड़ी, देवगांव,
जलाला, मौहर,पचखुरा खुर्द, पलरा, पाराओझी, टिकरौली को 40 – 40 हजार,
अतरैया अतरार,कल्ला,खड़ेहीजार,कलौलीजार, कलौलीतीर, कुम्हउपुर, मोराकांदर,
मुण्डेरा, सहुरापुर, स्वासाबुजुर्ग, स्वासा खुर्द को 50-50 हजार, टेढा,
चंदपुरवा बुजुर्ग, धनपुरा ,कैथी, पौथिया, बड़ागांव को 60-60 हजार, पचखुरा
बुजुर्ग व पतयोरा को 70 -70 हजार तथा बांकी, विदोखर मेदनी, विदोखर पुरई,
छानी बुजुर्ग, छानी खुर्द इंगोहटा, कुंडौरा, मवई जार,नदेहरा,पंधरी,पारा
रैपुरा,सुरौली बुजुर्ग को 80-80 हजार की धनराशि दी गई है।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

खंड विकास अधिकारी ने बताया कि सभी ग्राम पंचायतों को अस्थाई बाड़े में बंद बेसहारा
गोवंश के हिसाब से धनराशि भेजी गई है । जल्द ही पंचायतों को भूसा के लिए
और धनराशि दी जाएगी। उन्होंने बताया कि भेजी गई धनराशि को महज भूसे में
ही खर्च किया जाना है। अन्य व्यवस्थाओं के लिए दूसरे मद से खर्च करने के
निर्देश पूर्व में दिए जा चुके हैं । बीडीओ ने बताया कि शासन की मंशा के
अनुरूप सभी ग्राम प्रधानों व सचिवों को अन्ना गौवंश आश्रय स्थलों में भूख
व ठंड से बचाने के लिए पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए गए हैं।

10- ठंड से वृद्ध की मौत

भरुआ सुमेरपुर। गुरुवार की रात बड़ा कछार में ठंड की चपेट में आने से एक
वृद्ध की मौत हो गई। मृतक के पुत्र कल्लू सिंह ने बताया कि गुरुवार की
रात ठंड की चपेट में आने से बीमार चल रहे पिता दुलारे सिंह 80 वर्ष की घर
पर ही मौत हो गई। पुत्र ने बताया कि ठंड की गिरफ्त में आने के बाद उनका
इलाज भी कराया गया। लेकिन राहत नहीं मिली और रात में उन्होंने घर पर ही
दम तोड़ दिया। मृतक का गांव में सुबह अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस घटना
से परिवार में कोहराम मच गया।
आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

11- कोहरे की धुंध में दो लोडरों में टक्कर, कई घायल

भरुआ सुमेरपुर। गुरुवार की रात नेशनल हाईवे में कोहरे के चलते दो लोडर
आमने-सामने टकराकर सड़क के नीचे चले गए । इस घटना में दोनों वाहनों के
चालकों के साथ एक यात्री घायल हुआ है । सभी को उपचार के लिए कस्बे के
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया । हालत नाजुक होने पर सभी
को सदर अस्पताल रिफर किया गया।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।
बीती रात नेशनल हाईवे में इंगोहटा के समीप कोहरे के कारण दो लोडर
आमने-सामने टकरा गए। जिसमें एक लोडर  सड़क के नीचे चला गया। घटना की सूचना
पाकर इंगोहटा पुलिस चौकी के सिपाही मौके पर पहुंचे और दोनों वाहनों में
फंसे तीन लोगों को बाहर निकाल कर एंबुलेंस की मदद से उपचार के लिए
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भिजवाया। घायलों में लोडर चालक अर्जुन 24 वर्ष
पुत्र चेतराम निवासी बिंदकी फतेहपुर, शैलेंद्र 32 वर्ष पुत्र मन्नू लाल
निवासी घाटमपुर तथा यात्री महेंद्र कुमार 38 वर्ष पुत्र महेश कुमार
निवासी इमिलिया थोक सुमेरपुर शामिल है। घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद
सदर अस्पताल रिफर कर दिया गया । हालत नाजुक होने पर शैलेंद्र को कानपुर
रिफर किया गया है । क्षतिग्रस्त वाहन हाईवे किनारे पड़ा है

12- गोवंश ने 55 बीघे की फसल कर डाली चट

भरुआ सुमेरपुर। गुरुवार की रात इंगोहटा में आधा दर्जन किसानों की अन्ना
गोवंश ने 55 बीघे की फसल चट कर डाली । सुबह खेतों की दुर्दशा देखकर
किसानों में हड़कंप मच गया । किसानों ने बताया कि पंचायत में चार सौ गोवंश
अन्ना घूम कर किसानों की फसलें लगातार चौपट कर रहा है । प्रशासन इनको बंद
कराने में नाकामयाब साबित हुआ है ।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।
बीती रात इंगोहटा गांव में अन्ना गौवंश ने किसान सरवर की 10 बीघा गेहूं ,
छुट्टन की 15 बीघा गेहूं , लल्लू की 5 बीघा गेहूं , महेश कुमार की 10
बीघा गेहूं, कामता प्रसाद की 5 बीघा गेहूं तथा रघुवर प्रसाद की 10 बीघा
गेहूं की फसल नष्ट कर डाली है । किसानों का आरोप है कि गांव में चार सौ
गौवंश अन्ना घूम रहा है । जो प्रतिदिन किसानों की फसल चौपट कर रहा है ।
अभी तक इस गौवंश ने सैकड़ों बीघे की की फसल चौपट कर डाली है । किसानों ने
बताया कि तमाम शिकायतों के बाद यहां पर अन्ना गौवंश पूर्ण रूप से
संरक्षित नहीं कराया गया है । इससे किसानों के सामने बड़ी मुसीबत खड़ी हो
गई है । किसान ठंड और बारिश में भी खेतों में मौजूद रहकर रात गुजारने को
मजबूर है । गांव के सैकड़ों किसानों ने खेतों पर डेरा जमा रखा है । इसके
बाद ही मौका पाते ही अन्ना गोवंश फसलें नष्ट कर जाता है । इससे किसान
परेशान है।

13- गोशालाओं की अव्यवस्था देख प्रमुख सचिव भड़के, अफसरों को लगाई लताड़

भरुआ सुमेरपुर । प्रदेश के प्रमुख सचिव पशुधन ने शुक्रवार को अस्थायी
गोशालाओं का निरीक्षण कर कमियां पाये जाने पर अधिकारियों और कर्मचारियों
को जमकर फटकार लगाई है। उन्होंने कहा कि यदि गोशालाओं में व्यवस्थायें
नहीं सुधरी तो सख्त कार्यवाही की जायेगी।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।
उत्तर प्रदेश पशुधन विभाग के प्रमुख सचिव बीएल मीणा ने सुमेरपुर ब्लाक के
ग्राम पंचायत पारा रैपुरा एवं पंधरी गांव में बनाये गये अस्थायी गोशालाओं
का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान ठंड से बचाव के पुख्ता इंतजाम न
होने और संरक्षित गौवंश की टैगिंग न होने पर अधिकारियों को जमकर फटकारा।
उन्होंने चेतावनी देते कहा कि गोशालाओं में सभी जरूरी व्यवस्थायें तत्काल
की जाये। प्रमुख सचिव के औचक निरीक्षण से पशुपालन विभाग के चिकित्सकों
में हड़कंप मच गया । उन्होंने डाक्टरों के ड्रेस कोड में न होने पर
नाराजगी जताई। ग्राम पंचायत पारा रैपुरा में साफ-सफाई की व्यवस्था ठीक न
होने पर उन्होंने खंड विकास अधिकारी को तत्काल सफाई कराने के निर्देश दिए
। उन्होंने कहा कि सभी जगहों पर नर एवं मादा गोवंश को अलग-अलग रखने की
व्यवस्था की जाए । साथ ही ठंड से बचाव के लिए स्थाई शेड बनाने के निर्देश
दिए । उन्होंने पशुपालन विभाग के सचल वाहन की चिकित्सा किट का भी अवलोकन
करने के बाद पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ पंकज सचान के कार्यों को सराहा।
इसके बाद वह मुख्यालय के लिए रवाना हो गए। निरीक्षण के दौरान मुख्य पशु
चिकित्सा अधिकारी डॉ देवेंद्र सिंह यादव, उप मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी
डॉ सोम तिवारी, बीडीओ रत्नेश सिंह , डॉ पंकज सचान,ग्राम प्रधान अरविंद
उर्फ बाले गुप्ता, बिहारी लाल प्रजापति , पंचायत सचिव अरविंद पाल आदि
मौजूद रहे।

 

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram