(हमीरपुर बुलेटिन) जुमे की नमाज के बाद भीड़ ने पुलिस पर किया पथराव, पुलिस ने भीड़ पर भांजी लाठियां, पढ़े दिनभर की खबर

1 – हमीरपुर में ट्रक की टक्कर से मोटरसाइकिल सवार दो युवक मरे
शव रौंदते हुये निकल गये कई ट्रक
जिले में शुक्रवार को कानपुर-सागर नेशनल हाइवे-34 में तेज रफ्तार ट्रक ने मोटरसाइकिल सवार दो युवकों को रौंद डाला जिससे दोनों की मौके पर मौत हो गयी। घटना के बाद कई ट्रक शवों को कुचलते हुये निकल गये। घटना की जानकारी होते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भिजवाया गया।
कानपुर नगर के घाटमपुर क्षेत्र के भदरस गांव निवासी राहुल साहू 22) पुत्र स्व.बनवारी लाल साहू व रामजी (25) पुत्र महादेव मिश्रा गुरुवार को रात में मोटरसाइकिल से सुमेरपुर कस्बा गये थे। यहां राहुल की बहन श्रीमती सत्यवती पत्नी कामता प्रसाद रहती है। ये दोनों रात में रुके रहे। शुक्रवार को सुबह दोनों मोटरसाइकिल से वापस जाने लगे तभी बहन ने राहुल को मना किया कि ठंड बहुत है अभी मत जाओ। रामजी ने जाने की जिद करते हुये कहा कि वह जल्दी गांव नहीं पहुंचा तो होटल नहीं खुलेगा। बताते है कि दोनों मोटरसाइकिल से जा रहे थे तभी बेतवा पुल पार कुछेछा के पास राठ तिराहे में कानपुर-सागर नेशनल हाइवे में एक अज्ञात ट्रक ने दोनों को रौंद डाला जिससे दोनों की मौके पर मौत हो गयी। घटना के बाद कोचिंग पढऩे जा रहे कुछ छात्रों ने घटना की सूचना 108 एम्बुलेंस के एमटी अमन कुमार को दी। सूचना पाते ही एम्बुलेंस मौके पर पहुंची।
स्थानीय पुलिस भी घटनास्थल पहुंची। पुलिस ने एम्बुलेंस से दोनों शवों को मर्चरी हाउस भिजवाया। बताया जाता है कि घटना के बाद कई ट्रक शवों को कुचलते हुये आगे निकल गये। घटना की जानकारी होते ही परिजन मर्चरी हाउस आये। मृतक रामजी के पिता ने बताया कि पुत्र गांव में ही होटल किये था। ये अपने साथी के साथ कल घर से सुमेरपुर गया था।

2 जुमे की नमाज के बाद भीड़ ने पुलिस पर किया पथराव, पुलिस ने भीड़ पर भांजी लाठियां

-नागरिकता संशोधन एक्ट (सीएए) के विरोध में नारेबाजी कर पुलिस के साथ की धक्कामुक्की
जिले में नागरिकता संशोधन एक्ट (सीएए) को लेकर शुक्रवार को बड़ी संख्या में  समुदाय विशेष के लोगों ने रोक के बावजूद सड़क पर उतरकर हिंसक प्रदर्शन करते हुए पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए लाठीचार्ज कर भीड़ को तितर-बितर कर दिया। इस घटना से कस्बे में दुकानें बंद हो गयीं। भीड़ के तेवर देख जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने मौलानाओं के साथ रूट मार्च कर सभी से शांति व्यवस्था बनाये रखने की अपील की। फिलहाल मुस्लिम बाहुल्य इलाकों और मुख्य स्थानों पर भारी पुलिस बल मुस्तैद कर दिया गया है।
नागरिकता संशोधन एक्ट लोकसभा में पास होने के बाद जिले के मौदहा कस्बे के युवकों ने सोशल मीडिया में शुक्रवार को विरोध प्रदर्शन करने की सूचना दी थी। जुमे की नमाज को देखते पूरे कस्बे और मस्जिदों के पास बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती की गयी थी। पुलिस और प्रशासन के अधिकारी लगातार पूरे कस्बे में भ्रमण भी करते रहे। जुमे की नमाज होने के बाद देवी चौराहा व मौदहा कस्बा में अचानक सैकड़ों की संख्या में मुस्लिम युवक हाथों मेें तख्तियां लेकर नारेबाजी शुरू कर दी और जुलूस निकालने का प्रयास किया गया। भीड़ में आस-पास के गांवोंं के भी युवक थे।
भीड़ सड़क पर प्रदर्शन करने के लिये आगे बढ़ी तो पुलिस ने बल ने लाठी भांजते हुए भीड़ को तितरबितर कर दिया। इसके बाद तमाम युवक रहमानिया इण्टरकालेज के पास पहुंचकर नारेबाजी करने लगे और जुलूस निकालने लगे। इस पर पुलिस बल ने भीड़ को रोकने की कोशिश की मगर विरोध जता रही भीड़ ने पुलिस के साथ धक्कामुक्की शुरू कर दी। पुलिस ने भीड़ पर लाठीचार्ज कर दिया जिससे प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया।
 पथराव से पुलिस पीछे हटी लेकिन थोड़ी ही देर बाद पुलिस ने भीड़ को लाठी भांजते हुये खदेड़ दिया।
 पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने बताया कि कस्बे में विरोध प्रदर्शन कर माहौल बिगाडऩे वालों की वीडियोग्राफी करा ली गयी है और उन्हें चिह्नित किया गया है। मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी की कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने बताया कि इन सभा के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जायेगी। पुलिस ने घटना के बाद एक दर्जन लोगों को हिरासत में लिया है, फिलहाल कस्बे में अभी भी माहौल गर्म है।
बवाल की आशंका से बंद रही इन्टरनेट सेवा
नागरिकता संशोधन एक्ट (सीएए) को लेकर विरोध प्रदर्शन को देखते शुक्रवार को सुबह से ही इन्टरनेट सेवायें बंद रही। व्हाटसएप, फेसबुक सहित अन्य सोशल मीडिया नेटवर्क भी दिन भर फेल रहा। सुबह से ही लोग घरों में दुबके रहे।
जाम लगाकर भीड़ ने की की नारेबाजी
बिंवार थाना क्षेत्र में भीड़ ने सड़क जाम कर नारेबाजी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इससे कुछ घंटे तक जाम लगा रहा। कम्हरिया गांव में नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ लोगों ने एकत्र होकर नारेबाजी की बिंवार-मौदहा मार्ग को जाम कर दिया जाम के कारण काफी देर तक आवागमन बाधित रहा। बिंवार थानाध्यक्ष आरके वर्मा ने बताया कि केवल बैरियर लगाकर नवयुवकों को आगे जाने से रोका गया था। किसी तरह का कोई प्रदर्शन थाना क्षेत्र में नहीं हुआ है।

3-  शिक्षण पद्धति होनी चाहिये माडल टीचिंगः निरीक्षक

हमीरपुर ब्यूरो। हमीरपुर में सरस्वती विद्यामंदिर इण्टरकालेज में तीन दिवसीय वार्षिक निरीक्षण कार्यक्रम में शुक्रवार को कानपुर प्रांत के झांसी संभाग के निरीक्षक राधेश्याम द्विवेदी ने विद्यार्थियों व शिक्षकों से कहा कि हमारी शिक्षण पद्धति माडल टीचिंग होनी चाहिये और टी.एल.एम.का
प्रयोग अवश्य करना चाहिये।

झांसी संभाग के निरीक्षक ने विद्यालय के वार्षिक निरीक्षण के आखिरी दिन सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हमें विद्या भारती के चारो आयामों और क्रिया शोध पर भी बल देना चाहिये। कार्यक्रम में निरीक्षक व छिबरामऊ सरस्वती विद्यामंदिर इण्टरकालेज के प्रधानाचार्य धर्मवीर सिंह ने समीक्षा बैठक में कहा कि हमे अपने आचरण का मूल्यांकन अवश्य करना चाहिये ताकि सद्
आचरण एवं संस्कारित शिक्षा के माध्यम से हम उसे पूर्ण विद्यार्थी बनाया जा सके। उन्होंने आदर्श पाठ्य योजना व पंच पदीय शिक्षण पद्धति पर बल देते हुये कहा कि यदि हम इन सभी पद्धतियों का प्रयोग करते है तो हम बालक का सर्वांगीण विकास करने में सक्षम हो सकते है। इस मौके पर विद्यालय के प्रधानाचार्य रमेश चन्द्र ने सभी को सम्मानित भी किया।
4 – ठंड से फिर दो लोगों की मौत
बिंवार हमीरपुर। शुक्रवार को ठंड की चपेट में आकर फिर एक किशोर समेत दोलोगों की मौत हो गयी। ठंड के कहर में मरने वालों की संख्या अब एक दर्जन हो गयी है। बिंवार कस्बे के सुरही मुहाल निवासी छोटे (13) पुत्र बच्चा सिंह की ठंड से मौत हो गयी। उसका शव घर के आंगन में पड़ा मिला। परिजनों ने बताया कि ये रात में ठीक था। इसकी मौत ठंड लगने से हुयी है।
घटना से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। बिंवार कस्बे के ही चौखटा मुहाल निवासी शंभू दयाल नामदेव की पैंसठ वर्षीय पत्नी की भी ठंड लगने से मौत हो गयी। जिले में अभी तक ठंड से एक दर्जन लोगों की मौत हो चुकी है। शुक्रवार को यहां का तापमान 8 डिग्री सेल्सियस रहा वहीं अधिकतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। दिन भर आसमान में बदली छायी रही। शाम होते ही हमीरपुर में कोहरे की धुंध छा गयी जिससे सड़कों पर वाहनों की रफ्तार में ब्रेक लगा
है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram