(हमीरपुर बुलेटिन) पुलिस ने मकान में आग की लपटों में घिरे तीन बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाला, पढ़े दिनभर की खबर

1 – पुलिस ने मकान में आग की लपटों में घिरे तीन बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाला

जिले में एक रिहायशी मकान में भीषण आग लगने से महिला क्षेत्र पंचायत सदस्य की जलकर मौत हो गयी। बचाने में उसका पति भी आग से झुलस गया। घटना की सूचना पर पुलिस व दमकल गाड़ी मौके पर पहुंची। कड़ी मशक्कत के बाद सोमवार को आग पर काबू पाया जा सका। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेजते हुए कार्रवाई की।

मुस्करा कस्बे के चार थोक मुहाल निवासी क्षेत्र पंचायत सदस्य सुनीता (45) के घर में रविवार की देर रात करीब ढाई बजे अचानक भीषण आग लग गयी। आग में मकान पूरी तरह धूं-धूं कर जलने लगा। पड़ोसियों ने घटना की सूचना थाना पुलिस और दमकल विभाग को दी। मुस्करा प्रभारी निरीक्षक रीता सिंह पुलिस बल व दमकल गाड़ी भी आग बुझाने पहुंची। बताया जा रहा है कि आग की लपटों में क्षेत्र पंचायत सदस्य सुनीता घिर गयी जिसे बचाने के लिये उसका पति कृष्ण कुमार राजपूत उर्फ फुक्का ने कोशिश की तो वह भी झुलस गया। उसके तीन बच्चे भी मकान में फंस गये। पुलिस ने तीनों को सुरक्षित बाहर निकाला। आग की लपटों में घिरकर क्षेत्र पंचायत सदस्य को जब तक बाहर निकाला जाता, उससे पहले ही उसकी मौत हो गयी। मृतका के झुलसे पति को इलाज के लिये पुलिस ने सदर अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम भेजा। मुस्करा की प्रभारी ने बताया कि घर में आग लगने के कारणों को पता किया जा रहा है।

2 – सीएए को काला कानून बताकर मुस्लिम धर्म गुरुओं ने की नारेबाजी

हमीरपुर में सोमवार को दोपहर बड़ी संख्या में मुस्लिमों ने नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ सड़क पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया। मुस्लिम समाज के लोगों ने एनआरसी व सीएए को काला कानून बताते हुये चेतावनी दी कि ऐसे कानून को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

हमीरपुर में तहरीके उल्मा-ए-बुन्देलखंड के तत्वावधान में बड़ी संख्या में मुस्लिमों ने अमन शहीद स्थित अलाव मैदान में एकत्र होकर नागरिकता कानून के खिलाफ नारेबाजी। यहां से नारेबाजी करते हुये तिरंगा लिये प्रदर्शनकारियों ने पावरहाउस, बस स्टाप, आकिल तिराहा, किंग रोड, कोतवाली रोड तक जबरदस्त मार्च किया। कारी इफ्तिखार रजा इमाम सूफीगंज ने कहा कि सीएए एक काला कानून है जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। बली अहमद साबरी ने कहा कि एनआरसी व सीएए कानून लाकर सरकार हम सभी को बर्बाद करना चाहती है लेकिन इसे हम सहन नहीं करेंगे। लाला प्रधान ने कहा कि हमारे पुरखों का भी खून देश को आजाद करने में लगा है लेकिन यह सरकार दूसरे मुल्क के लोगों को यहां का नागरिक बनाना चाहती है जो हम होने नहीं देंगे।

नायब शहर काजी अजमत अली ने विरोध प्रदर्शन में कहा कि यह मुल्क जितना हिन्दू, सिख, ईसाई का है उतना ही मुस्लिमों का भी है। हम मुल्क को अपने ईमान का हिस्सा भी मानते हैं। ऐसे में इस मुल्क को सरकार बरबादी की राह पर लिये जा रही है। कजियाना जामा मस्जिद के कारी यासीन ने कहा कि इस मुल्क को हमारे पुरखों ने नहीं छोड़ा, न ही पाकिस्तान गये तो हम पर सरकार शक कैसे कर सकती है। विरोध प्रदर्शन के बाद राष्ट्रपति को सम्बोधित एक ज्ञापन अपर जिलाधिकारी विनय प्रकाश श्रीवास्तव को देकर मुस्लिमों ने एनआरसी व सीएए का विरोध किया। इस मौके पर असद खान गोलू, अनीस अहमद, हाफिज नदीम, चौधरी हसन, सलीम वारसी, फारुख साबरी सहित बड़ी संख्या में मुस्लिम समाज के लोग मौजूद रहे।

3 – हमीरपुरः गोशाला में फिर ठंड से दो गायें मरी, ट्रैक्टर से बांधकर फेंकी गयी गायें

-मानवता को शर्मसार करने वाली घटना से ग्रामीणों में गहराया आक्रोश

जिले में सोमवार को फिर गोशाला में बंद दो गायों की ठंड लगने से मौत हो गयी। ग्राम प्रधान ने ट्रैक्टर से बांधकर मृत गाये गांव के बाहर फिंकवा दी जिससे ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त हो गया है। जनपद के अन्य गोशालाओं में भी कई गौवंश के मरने की खबरें है।

आवारा गौवंश के संरक्षण के लिये योगी सरकार ने हर जनपद में करोड़ों की धनराशि अवमुक्त की थी। यहां हमीरपुर जिले में भी लाखों की धनराशि अवमुक्त करने के बाद गोशालाओं में गौवंश भूख और ठंड से मर रहे है। ताजा मामला ललपुरा थाना क्षेत्र के पौथियां गांव में सामने आया है जहां गोशाला में बंद भूख और ठंड से दो गायों की मौत हो गयी। ग्राम प्रधान ने आनन-फानन मृत गायों को ट्रैक्टर से बांधकर गांव के बाहर फिंकवा दिया है।

गांव के विनय महाराज ने बताया कि गोशाला में ठंड से बचाव के लिये कोई इंतजाम नहीं किये गये हैं। गौवंश भी भूखे रहते हैं। उन्होंने बताया कि भूख और ठंड से गोशाला में गायों की मौत होने के बाद मानवता को शर्मसार करने वाला कृत्य किया गया। जिस किसी ने मृत गाय को ट्रैक्टर से बांधकर घसीटते देखा वह दंग रह गया। इससे पहले करगांव में भी कई गौवंश ठंड से मर गये थे जिसके बाद ट्रैक्टर से बांधकर गांव के बाहर फिंकवा दिया गया था।

गौरतलब है कि सुमेरपुर, मौदहा, कुरारा व राठ क्षेत्र में अभी तक दो दर्जन से अधिक गौवंश की ठंड लगने से मौत हो चुकी है इसके बाद भी गोशालाओं में गौवंश को ठंड से बचाने के कोई इंतजाम नहीं किये जा रहे हैं। खुले आसमान के नीचे गोशालाओं में खड़ी गायें भी भूख के कारण मर रही है।

4 – आरएसएस ने पहली बार 24 घंटे का अखंड दंड प्रहार महायज्ञ का किया आगाज

– आज के ही दिन 90 हजार पाक सैनिकों के समर्पण पर आरएसएस ने मनाया विजय दिवस

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने पाकिस्तान सेना के समर्पण को विजय दिवस के रूप में मनाते हुये हमीरपुर जिले में पहली बार 24 घंटे का अखंड दंड प्रहार महायज्ञ का आयोजन किया। इस महायज्ञ में पांच सौ स्वयंसेवकों हिस्सा ले रहे है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के 24 घंटे तक का अखंड दंड प्रहार महायज्ञ हमीरपुर जिले के सुमेरपुर कस्बे के युग चेतना महाविद्यालय प्रांगण में शुरू हुआ। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला प्रचारक विकास ने बताया कि 16 दिसम्बर 1971 को पाकिस्तान के 90 हजार सैनिकों ने भारतीय सेना के समक्ष आत्मसमर्पण किया था। भारतीय सेना का मनोबल ऊंचा रखने के उद्देश्य से स्वयंसेवक संघ इस दिन को विजय दिवस के रूप में मनाते हुये अखंड दंड प्रहार का कार्यक्रम शुरू किया गया है। इस वर्ष इस कार्यक्रम को वृहद रूप देकर 24 घंटे का अनवरत कार्यक्रम स्वयंसेवकों ने किया है।

उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में जिले के खंडों, ब्लाकों के पांच सौ स्वयंसेवक हिस्सा ले रहे है। जिला प्रचारक ने बताया कि जनपद में इस तरह का यह पहला आयोजन है। जिसमें 24 घंटे का अखंड रामायण पाठ भी कराया जा रहा है। कार्यक्रम का समापन मंगलवार को होगा। कार्यक्रम में जिला कार्यवाह मातादीन, जिला प्रचार प्रमुख मनीष शुक्ला, सह जिला कार्यवाह राजेश शुक्ला, रमाकांत शुक्ला, ओमेश सिंह, कैलाश द्विवेदी, सुनील व्यास, ब्रजकिशोर, उदय, हेमंत बाजपेई, सुशील कुमार गुप्ता, विनय तिवारी, संजय त्रिपाठी, रज्जू आर्य, भाजपा युवा मोर्चा पूर्व जिलाध्यक्ष राजकुमार शुक्ला, भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के क्षेत्रीय महामंत्री मुनीर खान, मण्डल अध्यक्ष अरिमर्दन सिंह, महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ अनिल पांडेय, प्रवक्ता अंजना श्रीवास्तव, शबनम, प्रीती, मोहनी, पूजा, आशीष, रावेंद्र आदि लोग मौजूद रहें।

5 – अध्यापकों की निगरानी में मिड डे मील के बाद बच्चों को बांटी गई आयरन की गोली

जिले में सोमवार को एनीमिया मुक्त भारत अभियान के तहत सोमवार को जनपद के परिषदीय स्कूलों के छात्र-छात्राओं को मिड डे मील के बाद आयरन की गोलियां खिलाई गई। जनपद के सभी स्कूलों में अभियान के तहत बच्चों को एक-एक आयरन की गोली अध्यापकों की निगरानी में खिलाई गई। इसके साथ ही छात्र-छात्राओं को आयरन की कमी से होने वाली रोगों के प्रति भी जागरूक किया गया।

केंद्र सरकार ने एनीमिया के खिलाफ अभियान की शुरुआत की है। इस अभियान का उद्देश्य आने वाली पीढ़ी को स्वस्थ रखने का है। जिसके तहत सरकारी स्कूलों के साथ-साथ आंगनबाड़ी केंद्रों और हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटरों में खास दिनों में बच्चों को एनीमिया से बचाने के लिए आयरन की गोलियां खिलाई जाती है। प्रत्येक सप्ताह सोमवार के दिन परिषदीय स्कूलों के छात्र-छात्राओं को मिड डे मील खाने के बाद आयरन की गोलियां अध्यापकों की निगरानी में दी जाती है। सोमवार को जनपद के सभी परिषदीय स्कूलों में बच्चों को आयरन की गोलियां दी गई। बच्चों ने भी नारे लगाए आयरन की गोली खाएंगे, एनीमिया को हराएंगे।

6 -हमीरपुर में 53 बीघे फसल नष्ट कर गया अन्ना गौवंश

जिले में सोमवार को गौवंश ने आधा दर्जन किसानों की 53 बीघे में बोयी गयी मटर एवं गेहूं की फसल को चटकर दिया है। किसानों का आरोप है कि अभी भी गांव में तीन सैकड़ा से ज्यादा अन्ना गौवंश छुट्टा घूम रहे हैं लेकिन प्रशासन कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है।

सुमेरपुर क्षेत्र के इंगोहटा में अन्ना गौवंश ने गांव के किसान महावीर यादव की चार बीघा गेहूं, रामसरन सिंह की दस बीघा गेहूं, जमूडा खान की चार बीघा गेहूं, रामसनेही की दस बीघा मटर, अशोक मिश्रा की दस बीघा मटर, बडे अनुरागी की दस बीघा मटर, स्वामीदीन की पांच बीघा गेहूं एवं मटर की फसल को चट कर दिया है। इससे किसानों में हड़कम्प मच गया है। किसानों का आरोप है कि गांव में तीन सैकड़ा अन्ना गौवंश छुट्टा घूम रहा है। इनको संरक्षित करने का कार्य नहीं किया गया है। ग्राम पंचायत विकास अधिकारी नीतेश सिंह चंदेल का कहना है कि अन्ना गौवंश पूरी तरह से संरक्षित है। गांव के पशु पालको ने अपने पालतू गौवंश छोड़ रखे है। यही गांव में घूमकर फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। उन्होंने बताया कि अन्ना गौवंश छोड़ने वालो की सूची बनाकर पुलिस को सौंपी गयी हैं। परंतु पुलिस ने इनके खिलाफ प्रभावी कार्यवाही नही की है। इससे इनके हौसले बुलंद है।

7 – जिलाधिकारी की सख्ती पर शुरू हुआ गौवंश आश्रय स्थलों पर शेड बनाने का कार्य

जिले में सोमवार को जिलाधिकारी की फटकार के बाद सुमेरपुर विकास खण्ड क्षेत्र की ग्राम पंचायतों में बनाये गये अस्थाई अन्ना गौवंश संरक्षण केन्द्रों में ठण्ड एवं बारिश से गौवंश को बचाने के लिये टीन शेड टप्पर लगाकर छाया बनाने का कार्य तेज हो गया है लेकिन अभी तक कहीं भी बनकर तैयार नहीं हुआ है।

बिदोखर पुरई एवं इंगोहटा में बीती रात एक गौवंश ने फिर दम तोड़ दिया है। ठण्ड एवं बारिश से लगातार गौवंश के मरने की खबरों से खफा जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने मातहतों को कड़ी फटकार लगाते हुये तत्काल गौवंश संरक्षण केन्द्रों में छाया बनाने के सख्त निर्देश दिये हैं। जिलाधिकारी के सख्त रूख से ज्यादातर ग्राम पंचायतों में गौवंश को ठण्ड एवं बारिश से बचाने की कयावद शुरू कर दी है। सभी अस्थाई गौशालाओं में बांस, बल्ली का इंतजाम कराकर ग्राम प्रधान टीन व टप्पर लगावाने में जुट गये है। लेकिन अभी तक किसी भी अन्ना गौवंश संरक्षण केन्द्र में छाया का पुख्ता इंतजाम नही हो सका है। उधर इंतजाम न होने से अन्ना गौवंश ठण्ड ठिठुरने को मजबूर है। बिदोखर पुरई, इंगोहटा आदि गांवो में छाया का इंतजाम न होने से गौवंश प्रतिदिन बीमार होकर मर रहा है। बीती रात इंगोहटा व बिदोखर पुरई में एक-एक बीमार गौवंश ने ठण्ड की चपेट में आकर दम तोड़ा है जिन्हें आनन फानन में रात में ही गौ आश्रय स्थल से बाहर निकालकर दफना दिया गया है।

ब्लाक के पशु आश्रय संरक्षण केन्द्र के नोडल अधिकारी चन्द्र कुमार सिंह चंदेल ने कहा कि ग्राम प्रधानों एवं ग्राम पंचायत सचिवों को तत्काल ब्यवस्था करने के निर्देश दिये गये हैं। गौवंश के मरने की खबर उनके पास नहीं है। इंगोहटा के पंचायत सचिव नीतेश सिंह चंदेल ने भी गौवंश के मरने का खंडन करते हुये बताया कि छाया के इंतजाम कराये जा रहे है। चंदपुरवा बुजुर्ग के ग्राम प्रधान प्रतिनिधि रामबिहारी कुशवाहा ने बताया कि गौवंश को ठण्ड से बचाने के लिये स्वयं की पचास हजार की धनराशि खर्च करके इंतजाम कराया गया है।

8 – घरेलू गैस कनेक्शन के लिए लाइन डालने पर 15 फिट सड़क धंसी
– हादसे से बचाव के लिए फूलारानी मार्ग को किया गया बंद

हमीरपुर शहर में सोमवार को शाम घरेलू गैस कनेक्शन के लिए डाली जा रही अंडर ग्राउंड गैस पाइप लाइन से पेयजल पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हो गई। जिसके पानी के रिसाव से करीब 15 फिट सड़क धंस गई। जिससे रमेड़ी तरौस से फूलारानी बेतवा पुल को जाने वाला मार्ग अवरुद्घ हो गया। इसे देखने के लिए लोगों की खासी भीड़ जमा हो गई।

पेयजल, टेलीफोन, मोबाइल, बिजली की अंडर ग्राउंड लाइनें डालने के बाद अब घरेलू गैस कनेक्शन के लिए अंडर ग्राउंड लाइन डाली जा रही है। सोमवार की शाम करीब छह बजे मुख्यालय के रमेड़ी तरौस मोहल्ले के पास मशीन से गैस लाइन डालते समय मोहल्ला निवासी सिद्घा प्रधान के आवास के सामने पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त हो गई। जिसके रिसाव से सड़क के नीचे मिट्टी का कटान हो गया और करीब 15 फिट तक सड़क धंस गई। सड़क में दो बड़े बड़े होल भी हो गए। जिससे साफ दिखाई दे रहा कि सड़क नीचे से पूरी तरह से खोखली हो गई। मोहल्ले के लोगों ने आवागमन को रोक कर सड़क के दोनों ओर बांस, बल्ली और मेजें लगा दी है। इसे देखने के लिए वहा काफी संख्या में लोग एकत्र हो गए। नगर पालिका अध्यक्ष कुलदीप निषाद ने कहा कि सड़क की शीघ्र मरम्मत कराई जाएगी।

9 – नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में प्रदर्शन, सपा नेता समेत सैकड़ों लोगों पर मुकदमा दर्ज

जिले में एनआरसी व कैब के खिलाफ सड़क पर उतरकर प्रदर्शन करने के मामले में सोमवार की शाम को पुलिस ने सपा नेता समेत 15 नामजद समेत ढाई सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

जिले के राठ कस्बे में रविवार को रात सपा की पूर्व विधायक अम्ब्रेश कुमारी व सपा युवजन सभा के जिलाध्यक्ष सत्यपाल यादव सहित तमाम कार्यकर्ताओं ने सैकड़ों मुस्लिम लोगों के साथ एनआरसी व कैब के खिलाफ सड़क पर उतरकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की थी। कस्बे के पड़ाव से लेकर चुंगी तक सड़कों पर सरकार विरोधी प्रदर्शन होता रहा। इस मामले को लेकर सोमवार के दिन राठ कोतवाली में पन्द्रह नामजद समेत ढाई सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। कोतवाल मनोज कुमार शुक्ला ने बताया कि धारा-144 लागू होने के बाद भी यहां सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया गया था जिसे लेकर मुकदमा दर्ज किया गया है।

 

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram