(हमीरपुर बुलेटिन) बीएड प्रवेश परीक्षाः 381 अभ्यर्थियों ने छोड़ी परीक्षा, पढ़ें दिनभर की खबरें

1- हमीरपुर – उम्मीद की बारिश न होने से किसानों की धड़कने बढ़ी

हमीरपुर, 09 अगस्त (हि.स.)। बरसात के दो महीने गुजर चुके, लेकिन अभी तक जनपद की दो मुख्य नदियां यमुना और बेतवा सूखी पड़ी हैं। औसतन देखा जाये तो पिछले साल की तुलना में इस बार बारिश बहुत कम हुयी है। उम्मीद की बारिश न होने के कारण नदी, तालाब, और पोखर आदि सब सूखे पड़े हैं। जिससे आने वाले समय में जलस्तर और नीचे सरकने की संभावना है।
पिछले तीन सालों में सबसे कम बारिश अभी तक मौसम विभाग ने रिकार्ड की है। इससे जन जीवन प्रभावित हो रहा है। वहीं अब किसानों की निगाहें अगस्त माह पर टिकी है। यदि इस महीने में भी अच्छी बारिश नहीं हुयी तो फसलों को भारी नुकसान होना तय है।
जनपद में औसत वर्षा 800 से 900 मिलीमीटर है। जबकि जून में 70 से 80 और जुलाई में 300 से 350 मिमी बारिश होती है। मौसम विभाग के अनुसार इस साल जनपद में पिछले दो माह में 295 मिमी बारिश हो चुकी है, जो 65 प्रतिशत है। अगस्त में अच्छी बरसात नहीं हुई तो फसलों के लिहाज से हालात बिगड़ जाएंगे। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि बाकी बचे मानसूनी सीजन में अच्छी बारिश हो सकती है।
धान को तो दोगुना पानी चाहिए
कृषि वैज्ञानिक डाॅ.चंचल ने रविवार को बताया कि जनपद में अभी उड़द, मूंग, तिल, मूंगफली, ज्वार, बाजरा आदि की फसलें लगाई गई हैं। अभी सिर्फ इतना पानी इन फसलों को मिल रहा है कि यह जिंदा रह सकें। अगर आगे पानी नहीं गिरता है तो दिक्कत होगी। कहा कि जनपद में धान की खेती भी काफी वृहद स्तर पर होने लगी है। जिसके लिए दोगुना पानी चाहिए होता है।
नहीं हुई बारिश, नलकूप से लगा है पानी
पत्योरा निवासी किसान रामप्रकाश निषाद ने बताया कि गत वर्ष अच्छी बारिश हुई थी। लेकिन इस साल बारिश कमजोर है। कहा कि पहली बार एक बीघा में धान की फसल लगाई है। लेकिन बारिश न होने से नलकूप से पानी लगाना पड़ता है। अभी तक दोनों नदियां यमुना व बेतवा सूखी पड़ी हैं। तालाबों में भी पानी नहीं भरा है। जिससे फसलें बर्बाद होने की चिंता सता रही है।
तीन साल में जनपद में हुई बारिश
वर्ष             जून      जुलाई   अगस्त    सितंबर
2017-18   – 23.33-  177.00   -94.33  – 50.33
2018-19   – 21.33 -396.00 – 231.67 – 120.33
2019-20   – 84.33 – 320.33 – 343.33 – 226.00
2020-21   – 94.57 – 200.67 – 09
धान को सप्ताह में पानी मिलना चाहिएः डाॅ.सरस
जिला कृषि अधिकारी डाॅ.सरस कुमार तिवारी ने रविवार को बताया कि धान को सप्ताह में एक दिन पानी मिल जाना चाहिए। उड़द, मूंग, तिल, ज्वार आदि फसलों को सप्ताह भर पानी मिलता रहना चाहिए। वर्ना फसलों को नुकसान पहुंच सकता है। कहा कि अगस्त में अच्छी बारिश होने के आसार हैं।

2- हमीरपुर – मार्ग में मिला अज्ञात व्यक्ति का रक्त रंजित शव

हमीरपुर । चिकासी थाना क्षेत्र में उरई मार्ग पर रविवार को एक अज्ञात व्यक्ति का रक्त रंजित शव मिला है। पुलिस की शुरुआती जांच में ये दुघर्टना का मामला सामने आया है। फिलहाल पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा है।
थाना क्षेत्र के रहंक गांव के पास उरई मार्ग पर एक अधेड़  व्यक्ति का शव मिला है। घटना की सूचना पाते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले की जांच की। अभी तक मृतक की शिनाख्त नहीं हो सकी है। पंचनामा भरकर शव पोस्टमार्टम के लिये भेजा गया है। इधर राठ कोतवाली के इंस्पेक्टर केके पाण्डेय ने बताया कि चिकासी थाने के कान्सटेबिल ने इस घटना का मेमो भेजा है। मृतक की शिनाख्त नही हो सकी है। अज्ञात वाहन की टक्कर से ये घटना हुयी है।

3- हमीरपुर – बीएड प्रवेश परीक्षाः 381 अभ्यर्थियों ने छोड़ी परीक्षा

-सैनिटाइजर कर मास्क लगाने के बाद ही परीक्षा केन्द्रों में अभ्यर्थियों को मिला प्रवेश 
हमीरपुर । हमीरपुर शहर के चार कालेजों में बीएड प्रवेश परीक्षा रविवार को करायी गयी। 1300 परीक्षार्थियों में 381 ने परीक्षा ही छोड़ दी। वहीं परीक्षा देकर बाहर निकले तमाम परीक्षार्थियों ने कहा कि प्रश्नपत्र अच्छा था लेकिन एक ही सवाल तीन-तीन बार रिपीट किया गया है। जिसे हल किया गया है। परीक्षा केन्द्रों में मास्क के साथ सैनिटाइजर लेकर ही परीक्षार्थियों को प्रवेश दिया गया।
बीएड की प्रवेश परीक्षा शहर के चार केंद्रों में आयोजित हुई। जिला विद्यालय निरीक्षक श्याम सरोज वर्मा ने बताया कि राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में 500 छात्रों में 182 गैरहाजिर रहे। राजकीय महिला डिग्री कालेज में 200 छात्रों में 49 अनुपस्थित रहे। जीआईसी परीक्षा केंद्र में 81 परीक्षा में सम्मिलित नहीं हुए। जबकि इस केंद्र में 300 छात्रों को परीक्षा देनी थी।
 जीजीआईसी केंद्र में 300 छात्रों में 69 ने परीक्षा छोड़ दी। डीआईओएस ने बताया कि 919 छात्रों ने दोनों पालियों में परीक्षा दी। परीक्षा देकर निकले संदीप कुमार ने कहा कि सुबह की पाली में आए पेपर में एक ही सवाल तीन बार आया है। जिसे उन्होंने आसानी से हल कर लिया। कहा कि ऐसा लगता है कि प्रश्न पत्र जल्दबाजी में तैयार किया गया है। जिसका उन लोगों को फायदा मिला है।
परीक्षा के अतिरिक्त नोडल अधिकारी डा.सत्येंद्र सिंह व नोडल समन्वयक डा.स्वामी प्रसाद रहे। जिला विद्यालय निरीक्षक ने बताया कि  शासन के निर्देशों के तहत परीक्षा में शामिल होने आए प्रतिभागियों को मास्क लगाकर केंद्र में गए। वहीं हैंड सैनिटाइजर भी साथ ले जाना पड़ा। उड़न दस्ता टीम ने सभी केंद्रों का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि परीक्षा केन्द्रों में बीएड प्रवेश परीक्षा सामाजिक दूरी के बीच सम्पन्न करायी गयी है।
साप्ताहिक बंदी के कारण चाय पानी को तरसे अभ्यर्थी
बीएड प्रवेश परीक्षा में शामिल हुये अभ्यर्थियों को आज यहां साप्ताहिक बंदी के कारण चाय पानी को तरसना पड़ा। साप्ताहिक बंदी के कारण आज शहर में सभी होटल और दुकानें बंद रही। तमाम अभ्यर्थियों ने बताया कि बीएड प्रवेश परीक्षा के दौरान दुकानें खुलनी चाहिये ताकि लोगों को खाने पीने की चीजें मिल सके लेकिन ऐसा नही हुआ। अभ्यर्थी चाय और पानी के लिये इधर उधर भटकते रहे।

4- हमीरपुर – स्कूल भवन की छत भरभराकर ढहने से मजदूर की मौत

-कुछ ही दिनों पूर्व स्कूल में सटरिंग लगाकर डाली गयी थी छत
हमीरपुर । कुरारा क्षेत्र के बरौली गांव में रविवार को, निर्माणाधीन सरकारी विद्यालय भवन की छत भरभराकर ढह जाने से एक मजदूर की दबकर मौत हो गयी। इस घटना से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा है।
क्षेत्र के बेरी गांव के मजरे इंदपुरी निवासी विनोद कुमार (25) पुत्र राम खिलावन निषाद बरौली गांव में ही निर्माणाधीन स्कूल पर मजदूरी करता था। स्कूल की छत हाल में ही डाली गयी थी। तमाम मजदूर इसकी सटरिंग खोली जा रही थी तभी छत भरभराकर नीचे गिर गयी जिससे विनोद कुमार मलबे में दब गया। आननफानन उसे मलबे से बाहर निकालकर सदर अस्पताल भेजा लाया गया जहां डाक्टरों ने गंभीर हालत होने पर कानपुर रेफर कर दिया। कानपुर ले जाते समय इसकी रास्ते में मौत हो गयी। मृतक दो साल की बच्ची का पिता था। इसके भाई लालाराम निषाद ने बताया कि घटना की जानकारी होते ही मौके पर पहुंचे तो भाई विनोद के सिर पर लोहे की सरिया घुसी थी। इस घटना की सूचना पाकर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।
 इधर बीडीओ रामसिंह ने आज शाम बताया कि ग्राम पंचायत स्तर से प्रधान और सचिव राज्य वित्त आयोग की धनराशि से ये निर्माण कार्य करा रहे है। उन्होंने बताया कि घटना संज्ञान में है और रिपोर्ट मांगी जा रही है। ग्राम पंचायत सचिव मनीष कौशिक ने बताया कि उनकी ड्यूटी कोरोना जिला कन्ट्रोल रूम में पिछले बीस दिनों से लगी है। इसलिये वह मौके पर निर्माण कार्य का जायजा लेने नहीं जा सके है। उन्होंने बताया कि प्रधान ही वहां सब कुछ देख रहे है।

5- हमीरपुर – पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों को किया सम्मानित

कोरोना महामारी के दौरान कार्य करने वाले योद्धाओं का बढ़ाया मनोबल 
हमीरपुर । राठ कस्बे के उत्सव पैलेस में अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद द्वारा कोरोना महामारी के दौरान कार्य करने वाले कोरोना योद्धाओं का सम्मान समारोह कार्यक्रम आयोजित किया गया।
 सम्मान समारोह का शुभारंभ वैश्य एकता परिषद के प्रदेश महासचिव केजी अग्रवाल कोरोना वारियर्स को सम्मानित कर शुभारंभ किया। इस दौरान नगर पालिका के ईओ केके मिश्रा, सीएचसी अधीक्षक डा.आरके कटियार और कोतवाल केके पांडेय को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। इसके बाद पुलिस कर्मियों, नगर पालिका कर्मी सहित स्वास्थ्य कर्मियों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया।
इस दौरान सीएचसी अधीक्षक ने कहा कि राठ क्षेत्र में कोरोना महामारी के दौरान सभी का सहयोग रहा है। कहा सीएचसी में इलाज कराने आ रहे मरीजों से पहले कोरोना की जांच फिर इलाज कराने की अपील की। थानाध्यक्ष ने कहा कि व्यापार मंडल और नगर पालिका का पूरा सहयोग रहा है। नगर में साफ सफाई की व्यवस्था की गई है।
 कहा कि इस महामारी से बचने की आवश्यकता है। लोग घरों में ही रहे। बिना मास्क लगाये घरों से न निकलें। इस मौके पर अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद के नगर अध्यक्ष उमाशंकर गुप्ता पप्पू धौहल, संरक्षक काशी प्रसाद गुप्ता, डा.रामगोपाल गुप्ता, जिलाध्यक्ष ब्रजेंद्र सोनी भोले आदि लोग मौजूद रहे। संचालन प्रदीप गुप्ता ने किया।

6- हमीरपुर – कोरोंना की भेंट चढ़ी प्रधान मंत्री आवास योजना

हमीरपुर। प्रधान मंत्री आवास योजना के लाभार्थी खाते में 10 माह से एक भी पैसा न आने से परेशान हैं। उनका कहना है कि निर्माण के लिए आखिर कब तक इंतजार करना पड़ेगा।
 आवास योजना के लाभार्थी अमीन खान सुमेरपुर ने बताया कि कालोनी स्वीकृत होने के बाद उसकी 50 हजार की पहली किस्त  अक्टूबर 2018 में आयी थी। यह धन खर्च करने के 10 माह बाद भी दूसरी डेढ़ लाख की किस्त अधर में लटक गयी है। अब खाते में पैसा ही नहीं आ रहा है। इसी तरह पहली  दूसरी व तीसरी किस्त से काफी लोग वंचित है। किसी का आधा निर्माण हो पाया है किसी का शुरु ही नहीं हो पाया है। किसी ने उधार लेकर निर्माण पूरा करा लिया मगर पैसा नहीं आ रहा है तो लोग परेशान हैं।
 आवास की सूची में शामिल अन्य लोगों ने बताया कि कोरोंना संक्रमण के कारण लाक डाउन होने से चार माह सारी गतिविधियों ठप रही है किन्तु अब जब कार्यालय खुल रहे हैं तो किस्तों का पैसा मुहैया कराना चाहिए मगर ऐसा कुछ भी नहीं हो रहा है। कुछ लोगों ने बताया कि कालोनी के चक्कर में उन्होने अपने कच्चे निर्माण हटा दिए हैं। जगह खाली पड़ी है पैसा ही नहीं आ रहा है तो निर्माण कार्य अधर में लटक कर रह गए हैं। पैसा भेजा जाएगा या नहीं भेजा जाएगा। यदि भेजा जाएगा तो कब तक भेजा जाएगा। यह जानकारी कोई देने वाला नहीं है। जिससे पूंछो तो यही जवाब मिलता है कि बस इन्तजार करो। लोगों ने इस कार्य के लिए विभागीय अधिकारियों से पहल करने की मांग की है।

6- हमीरपुर – 65 स्थानों पर व्यर्थ बह रहा पाइप लाइन का पानी

हमीरपुर । कस्बा सुमेरपुर में लोगों की प्यास बुझाने के लिए नलकूप व टंकी से जितना पानी छोड़ा जाता है उसका चौथा हिस्सा पानी पब्लिक के हाँथ नहीं लग पाता क्योंकि वह जगह जगह लीकेज होने के कारण बेकार बह जाता है। वर्तमान समय में कस्बे में 65 से अधिक स्थानों पर पाइप लाइन लीकेज है जिसे ठीक कराने का काम प्रारंभ कर दिया गया है।
 गौर तलब है कि पूरे कस्बे में आधा दर्जन नलकूप व एक पानी की टंकी से पानी की सप्लाई दी जा रही है। फिर भी कई वॉर्ड ऐसे है जहां लोगों को पानी नहीं मिल पाता है। कही कहीं ऊंचे स्थानो में पानी नहीं चढ़ पाता है। लीकेज के चलते पाइप लाइन की अंतिम सीमा तक पानी ही नहीं पहुंच पाता है। लोग पानी के लिए परेशान रहते हैं वही जगह जगह लीकेज  होने से जल भराव होता है। कीचड़ रहता है। सड़के व रास्ते खराब बने रहते हैं।
जल संस्थान कार्यालय के गेट से मनचाहा पानी बह रहा है उसकी वजह यह है कि नगर में पानी के टैंकरों से भी सप्लाई दी जाती है। टैंकर जब पानी लेकर निकलते हैं तो पानी फैलता है। कुछ पानी भरने में फैलता है। यही पानी बाहर निकल कर रास्ता खराब कर रहा है। जल संस्थान की ओर से बताया गया है कि पाइप ज्वाइंटर की कमी होने से लीकेज ठीक नहीं हो पा रहे थे अब यह सामग्री उपलवढ़ हो गयी है। अब सभी लीकेज ठीक कराने का काम शुरू हो गया है जल्द ही सभी लीकेज ठीक हो जाएंगे।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram