(हमीरपुर बुलेटिन) रेलवे स्टेशन के ट्रैक पर पांच महीने बाद दौड़ी इंटरसिटी एक्सप्रेस, पढ़ें दिनभर की खबरें

1-  हमीरपुर – दबंगों ने आग लगाकर फूंका मकान, छह के खिलाफ थाने में तहरीर

हमीरपुर । मुस्करा थाना क्षेत्र के चंदौरा गांव में एक खेतिहर मजदूर किसान का मकान आग लगाकर फूंकने और बैलगाडियों को तोड़फोड़ कर तालाब में फेंकने की घटना को लेकर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। घटना के बाद पीड़ित किसान खुले आसमान के नीचे आ गया है। लेखपाल ने तहसीलदार के निर्देश पर घटनास्थल पहुंचकर जांच की है।
मुस्करा क्षेत्र के चंदौरा गांव निवासी अयोध्या यादव के मकान में गांव के ही राम प्रकाश राजपूत, सनत राजपूत, हरि सिंह राजपूत, पुष्पेन्द्र राजपूत, विक्रम राजपूत व मनीष राजपूत ने पिछली देर रात धावा बोलकर जानवर वाले मकान में आग लगा दी। बैलगाडियों को तोडफोड़ कर उसे तालाब में फेंक दिया गया। आग की लपटें देख  परिवार ने शोर मचाया जिससे गांव के तमाम लोग एकत्र होकर आग बुझाने में जुट गये। मवेशियों को रस्सी से काटकर बाहर निकाला गया। आग में मकान जलकर खाक हो गया। इस घटना की आज थाने में तहरीर दी गयी। जिस पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। घटना की जानकारी पर राजस्व विभाग के लेखपाल कमलेश वर्मा ने पहुंचकर नुकसान का सर्वे किया है।
लेखपाल ने बताया कि मकान में आग से कृषि यंत्र और जानवरों का भूसा सहित अन्य सामान पूरी तरह से जल गया है। इसकी रिपोर्ट तहसीलदार की सौंपी जायेगी। किसान ने बताया कि इस घटना में लाखों का नुकसान हुआ है। वहीं थानाध्यक्ष बांके बिहारी सिंह ने बताया कि किसान की तहरीर पर मामले की जांच करायी जा रही है। छह लोगों पर मुकदमा दर्ज है, आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी।
झक्कास खबर
झक्कास खबर
2-  हमीरपुर – रेलवे स्टेशन के ट्रैक पर पांच महीने बाद दौड़ी इंटरसिटी एक्सप्रेस
हमीरपुर । देश में कोरोना संक्रमण काल में जनपद के रागौल रेलवे स्टेशन के ट्रैक पर गुरुवार को इंटरसिटी एक्सप्रेस चलायी गयी। पांच महीने बाद इस एक्सप्रेस सेवा के शुरू होने पर स्टेशन में सवारियों के न आने के कारण सन्नाटा पसरा रहा। आम लोगों को इस यात्री ट्रेन के संचालन की जानकारी भी नहीं होने से एक भी सवारी स्टेशन में नहीं दिखी।
कोविड 19 महामारी को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने 24 मार्च से पूरे देश में लाकडाउन घोषित कर दिया था। जिसमें यात्री गाड़ियों का संचालन बंद हो गया था। पांच महीने बाद रेलवे ने कानपुर से मानिकपुर (चित्रकूट धाम) इंटरसिटी एक्सप्रेस का संचालन गुरूवार से शुरू किया है। यह ट्रेन अपने पुराने निर्धारित समय पर रागौल स्टेशन पहुंची, जहां एकमात्र सवारी इस ट्रेन से उतरी। लेकिन ट्रेन से बांदा की ओर जाने के लिए स्टेशन पर एक भी सवारी नजर नहीं आयी। जिसका सबसे बड़ा कारण लोगों को जानकारी न होना बताया जा रहा है।
इधर रेलवे सूत्रों से मिली जानकारी में बताया गया है कि इस ट्रेन के किराए में बेतहाशा बढ़ोतरी की गई है। साथ ही टिकट की बुकिंग प्लेटफार्म की खिड़की के बजाय अब आनलाइन कराना होगा। इस ट्रेन के पुनः संचालन शुरू होने पर जहां लोगों ने खुशी जताई है। वहीं किराए में बेतहाशा वृद्धि लोगों के लिए बड़ी परेशानी का कारण साबित हो रहा है।
3-  हमीरपुर – तहसील कर्मियों में जमकर मारपीट, तहसीलदार ने शुरू की जांच
हमीरपुर । मौदहा तहसील भवन में गुरुवार को कर्मचारियों के बीच जमकर मारपीट हो गयी, जिससे तहसील में अफरातफरी मच गयी। इस घटना पर तहसीलदार ने कड़ी नाराजगी जताते हुये मामले की जांच शुरू करायी है।
 मौदहा तहसील में तैनात रहे कर्मचारी ज्ञानेन्द्र कुटार का बीते डेढ़ माह पूर्व यहीं के एक साथी कर्मचारी से विवाद के बाद जूतमपैजार हुआ था। इस घटना के चलते मौदहा एसडीएम ने ज्ञानेन्द्र कुटार को निलंबित कर दिया था। कुछ दिनों तक निलंबित रहने के बाद किसी तरह से इसको बहालकर इसे सरीला तहसील में सम्बद्ध कर दिया गया था। आज दोपहर ज्ञानेंन्द्र मौदहा तहसील पहुंच गया और वहाँ पर कर्मचारियों से अपनी खुन्नस निकालने के लिए गाली गलौज शुरू कर दी।
 थोड़ी ही देर में तहसील में काम कर रहे कुछ कर्मचारी उसके पास पहुंच गए और दोनों पक्षों में गाली गलौज शुरू हो गई तथा देखते ही देखते मारपीट होने लगी। यह तमाशा देख यहां मौजूद लोगों में अफरातफरी मच गई। लोगों ने किसी तरह से मामले को शांत कराया है। तहसीलदार रामानुज शुक्ला ने बताया कि प्रकरण संज्ञान में है और मामले की जांच करायी जा रही है। इस घटना में दोषी कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी।
4-  हमीरपुर – कोरोना संक्रमण काल में खाद्यान्न पाकर सैकड़ों गरीबों के चेहरे खिले
हमीरपुर । कुरारा कस्बे में गुरुवार को सैकड़ों बेसहारा और निराश्रितों को खाद्यान्न की किटें वितरित की गयी। खाद्यान्न पाकर गरीबों के चेहरे खुशी से खिल उठे है।
कुरारा कस्बे के बेरी रोड स्थित एक गेस्टहाउस में माईसेम संस्था ने एक सौ पचास से अधिक गरीबों को खाद्यान्न बांटा है। कार्यक्रम का आयोजन समाजसेवी रमेश चन्द्र शिवहरे ने किया जिसमें एरिया इंचार्ज दिग्नेश श्रीवास्तव ने गरीबों को खाद्यान्न वितरण करने के बाद बताया कि कोरोना महामारी के दौरान गरीबों की मदद करने के लिये माई सेम सीमेंट कम्पनी ने आटा, दाल, चाय, चीनी, नमक और चावल आदि का वितरण किया है। कार्यक्रम में भाजपा जिलाध्यक्ष बृजकिशोर गुप्ता ने कहा कि कम्पनी ने गरीब बेसहारा लोगों की मदद इस महामारी के समय करके बड़ा ही पुनीत कार्य किया है। ऐसे कार्य सबको करने चाहिये। इस मौके पर जिला इंचार्ज माई सेम अक्षित बंसल होल सेलर, रवीन्द्र गुप्ता, प्रमोद, अभिषेक साहू मौजूद रहे।
5-  हमीरपुर – गल्ला व्यापारी से दिनदहाड़े लूट, व्यापारियों में गहराया आक्रोश
हमीरपुर । कुरारा कस्बे के मनकी स्टैण्ड के पास गुरुवार को गल्ला की खरीद करने वाले गल्ला व्यापारी का हजारों रुपये से भरा बैग दिनदहाड़े अज्ञात बदमाश ले गये। इस घटना से व्यापारियों में हड़कंप मच गया है। घटना की तहरीर पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।
कुरारा कस्बा के निवासी प्रेम नारायण प्रेमी बाजार के दिन मनकी स्टैण्ड के पास फुटकर गल्ला खरीदने का काम करते है। कस्बे में गुरुवार को साप्ताहिक बाजार का दिन होने के कारण ये पैंतालीस हजार रुपये बैग में रखकर गल्ला की खरीद कर रहे थे, तभी अज्ञात लोग उनका बैग दुकान से ले गये। दिनदहाड़े हुयी इस वारदात से व्यापारी सकते में आ गये। घटना की तहरीर व्यापारी ने कुरारा थाने में दे दी है।
व्यापारियों ने कहा कि अब तो दिनदहाड़े इस तरह की घटनायें हो रही है। ऐसे में व्यापारी अपने को असुरक्षित महसूस कर रहा है। कुरारा थानाध्यक्ष एके सिंह ने बताया कि घटना की जांच करायी जा रही है।
6-  हमीरपुर – आनलाइन पढ़ाई से तनाव में आकर 10वीं की छात्रा ने लगाई फांसी, मौत
हमीरपुर । राठ कस्बे के पठानपुरा मुहाल में गुरुवार को शाम हाईस्कूल की एक छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इस घटना से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर घटना की जांच शुरू कर दी है। परिजनों का कहना है कि स्कूल बंद होने पर छात्रा पढ़ाई को लेकर चिंतित थी। इसीलिये उसने फांसी लगा ली है।
राठ कस्बे के पठानपुरा मुहाल निवासी नृपत सिंह मुस्करा ब्लाक के दामूपुरवा गांव स्थित परिषदीय स्कूल में अध्यापक है। उसका एक पुत्र और पांच पुत्रियां है। तीसरे नम्बर की पुत्री अर्चना (18), चौथे नम्बर की पुत्री प्रियंका (17) राठ कस्बे में जीआरवी इण्टरकालेज में हाईस्कूल की छात्रा है। नृपत सिंह ने बताया कि कोरोना संक्रमण काल में स्कूल बंद चल रहे है। स्कूलों में आनलाइन पढ़ाई चल रही है। दो पुत्रियां भी आनलाइन पढ़ाई कर रही थी मगर ये ज्यादा कारगर नहीं है। इसीलिये दोनों पुत्रियां तनाव में चल रही थी।
 पढ़ाई ठप होने से उन्हें आगामी बोर्ड परीक्षा में अच्छे अंक आने की उम्मीद नहीं थी इसीलिये तनाव में आकर प्रियंका ने अपने घर में शाम को दुपट्टे से फांसी लगा ली है। फांसी के फंदे से नीचे उतारकर परिजन उसे सीएचसी ले गये जहां डाक्टरों ने देखते ही मृत घोषित कर दिया। पुत्री की मौत पर मां सुमन देवी और परिजनों का रो रोकर बुरा हाल था। राठ कोतवाली के इंस्पेक्टर केके पाण्डेय ने बताया कि घटना की जांच पड़ताल करायी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram