(हमीरपुर बुलेटिन) शरद पूर्णिमा पर पवित्र नदियों में पूजा-अर्चना करने का दौर, जुटे श्रद्धालु, पढ़े दिनभर की पूरी खबरें

हमीरपुर । जिले में रविवार को शरद पूर्णिमा पर यहां यमुना और पवित्र नदियों में श्रद्धालुओं ने स्नान कर पूजा अर्चना की। प्राचीन मंदिरों में भी श्रद्धालु विधि विधान से पूजा और अनुष्ठान कर रहे हैं वहीं आर्यसमाज मंदिर में भी हवन कर शरद पूर्णिमा का पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा हैं।
जिले में सुबह से ही शरद पूर्णिमा पर्व की धूम मची हुयी है। हमीरपुर नगर में पतालेश्वर मंदिर के पास यमुना तट पर महिलाओं और पुरुषों ने डुबकी लगाकर सूर्य भगवान को अर्घ्य दिया। मंदिर में यमुना नदी के जल से भगवान भोले नाथ और अन्य देवियों की मूर्तियों का जलाभिषेक कर पूजा अर्चना की गयी। हाथी दरवाजा, पुराना जमुना घाट के अलावा नगर से पांच किमी दूर मेरापुर के पास यमुना और बेतवा नदी के संगम पर भी बड़ी संख्या में लोगों ने स्नान कर पूजा अर्चना की। स्नान और ध्यान करने के बाद श्रद्धालुओं ने मंदिरों में पहुंचकर दान दक्षिणा भी पुजारी को दिया। इधर सुमेरपुर, मौदहा, कुरारा, मुस्करा, राठ व सरीला क्षेत्र में भी शरद पूर्णिमा के पर्व पर पवित्र नदियों व तालाबों में स्नान करने का दौर जारी है।
झलोखर गांव में एतिहासिक तालाब व भगत तालाब में भी सैकड़ों श्रद्धालुओं में स्नान कर शरद पूर्णिमा की पूजा की। सिंह महेश्वरी मंदिर, गायत्री तपोभूमि व गायत्री मंदिर में भी शरद पूर्णिमा पर पूजा अर्चना का दौर शुरू हो गया हैं। यहां के पंडित दिनेश दुबे ने बताया कि  वर्ष भर में शरद पूर्णिमा, सबसे बड़ा पर्व हैं जिसमें नदियों में स्नान कर श्रद्धालुओं को पूरे उत्साह के साथ पूजा अर्चना करनी चाहिये। उन्होंने बताया कि शरद पूर्णिमा की देर शाम चावल की खीर बनाना चाहिये और इसे पूरा रात खुले आसमान के नीचे रखकर चन्द्रमा की आराधना और ध्यान करनी चाहिये। इससे जातक के जीवन में खुशी आती है।
उन्होंने बताया कि खीर को सूर्याेदय होने से पहले ही पूजा अर्चना के बाद घर के सभी लोगों को खानी चाहिये। ऐसी मान्यता हैं कि शरद पूर्णिमा की रात में अमृत की वर्षा होती हैं। हमीरपुर के पंडित सिद्ध गोपाल अवस्थी ने बताया कि शरद पूर्णिमा के दिन घर में लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिये। इससे घर में धन धान में बढ़ोत्तरी होती हैं और घर में लोग खुशहाल रहते हैं। उन्होंने बताया कि शरद पूर्णिमा की पूजा अर्चना करने के बाद सफेद चीजों जैसे चावल, दूध से बनी मिठाई, वस्त्र, चांदी का टुकड़ा आदि भी मंदिर में किसी पुजारी को भेंट करने से व्यक्ति स्वस्थ और हर मुसीबत से सुरक्षित होता है।
2- दो मोटर साइकिलों की टक्कर में मासूम समेत दो लोगों की मौत

-पांच अन्य घायल झांसी मेडिकल कालेज के लिये रेफर 
हमीरपुर । हमीरपुर जिले में रविवार को दो मोटर साइकिलों की सीधी टक्कर में मासूम समेत दो लोगों की मौत हो गयी वहीं पांच अन्य गंभीर रूप से घायल हो गये। घायलों को एम्बुलेंस की मदद से सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां सभी घायलों को हालत नाजुक होने पर मेडिकल कालेज झांसी के लिये रेफर कर दिया गया है। जिले के राठ-पनवाड़ी मार्ग मेें ये रविवार को दोपहर बाद हुई इस दुर्घटना से काफी देर तक आवागमन बाधित रहा।
चिकासी थाना क्षेत्र के रिहुंटा गांव निवासी दिलीप कुमार (21) पुत्र जगत सिंह अहिरवार अपनी बहन बचरौली कुरारा हमीरपुर निवासी श्रीमती उमा (30) पत्नी पूरन कुमार तथा छोटी बहन रोशनी (18) के साथ मोटरसाइकिल से बड़ी बहन गिरजा के घर सैदपुर जा रहा था। वहीं मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के नौगांव थाना क्षेत्र के तिंदनी गांव निवासी तुलसी (18) पुत्री जुम्मन भइयालाल (21) के साथ मोटर साइकिल से जरिया थाना क्षेत्र के रिंगवारा गांव जा रही थी। श्रीमती नन्हीं (40) पत्नी जुम्मन व मासूम पुत्र सूरज (4) भी मोटरसाइकिल में सवार था। जैसे ही मोटरसाइकिल चालक भइयालाल पनवाड़ी मार्ग पर सैदपुर गांव के निकट ट्रैक्टर को ओवर टेक किया तो सामने से आ रही दिलीप कुमार की मोटरसाइकिल से सीधी भीषण टक्कर हो गयी जिससे सभी लोग घायल हो गये।
घटना की सूचना पाते ही यूपी-100 व पुलिस मौके पर पहुंची और एम्बुलेंस व निजी वाहनों के माध्यम से घायलों को राठ स्थित सरकारी अस्पताल में लाया गया जहां अस्पताल की इमरजेंसी में तैनात डा.आलोक कुमार ने घायल दिलीप कुमार तथा मासूम सूरज को देखते ही मृत घोषित कर दिया। श्रीमती उमा, रोशनी, नन्हीं, भइयालाल व तुलसी को हालत बिगड़ने पर झांसी मेडिकल कालेज के लिये रेफर कर दिया। घायल नन्हीं पत्नी जुम्मन ने बताया कि पुत्री तुलसी की शादी भइयालाल के साथ तय हो गयी है। गुढ़ा चरखारी (महोबा) निवासी भइयालाल के साथ पुत्री तुलसी मोटर साइकिल से झाड़ फूंक कराने रिंगवारा गांव जा रही थी तभी यह हादसा हो गया। राठ कोतवाली के इंस्पेक्टर मनोज कुमार शुक्ला ने बताया कि शवों को कब्जे में लेकर मर्चरी हाउस भेजा गया हैं।
3 – मोटर साइकिल से गिरी महिला को ट्रक ने रौंदा, मौत

हमीरपुर । जिले में रविवार को कानपुर-बांदा रेल मार्ग पर रेलवे क्रासिंग के अंडर ब्रिज में बने मोड़ पर स्पीड ब्रेकर पार करते समय मोटर साइकिल में सवार महिला गिर गयी जिसे पीछे से आ रहे ट्रक ने उसे रौंद डाला जिससे उसकी मौके पर मौत हो गयी।
कानपुर नगर के गोविन्द नगर निवासी रामरतन की पत्नी दयावती (53) का मायका यहां मौदहा क्षेत्र के टिकरी गांव में है। यहां उसका पुत्र जितेन्द्र रहता हैं। वह गांव में अध्यापक हैं। दयावती कानपुर से पैसेंजर ट्रेन से मायके आ रही थी। वह रेलवे स्टेशन इचौली पर उतरी और अपने पुत्र जितेन्द्र को फोन कर बुलाया। जितेन्द्र अपनी मां को मोटर साइकिल पर बैठाकर गांव लौट रहा था तभी रेलवे ब्रिज में मोड़ के पास स्पीड ब्रेकर पार करते समय दयावती नीचे गिर पड़ी और पीछे से आ रहे ट्रक के पहिये के नीचे आ गयी जिससे उसकी मौके पर मौत हो गयी।
अंडर ग्राउन्ड रेलवे ब्रिज का निर्माण तो कराया गया है लेकिन बारिश में इस ब्रिज पर पानी भर जाने से कई दिनों तक एक दर्जन गांवों के लोगों का मौदहा से सम्पर्क कट जाता हैं। ब्रिज पर जलभराव के कारण दो लोगों की मौत भी हो चुकी है।
4 – बीच तालाब पानी में ही कंस, बकासुर और कालिया नाग समेत कई दैत्यों का हुआ वध 
हमीरपुर । हमीरपुर जिले में रविवार को शाम एक गांव में सैकड़ों साल पुरानी परम्परा का झिझरिया मेला तालाब में शुरू हो गया है। बीच तालाब में पानी में ही श्रीकृष्ण लीला का मनमोहन सजीव मंचन करते हुये कंस और बकासुर सहित कई दैत्यों के वध की लीला देखने के लिये भारी जनसैलाब उमड़ा है।

जिले के सरीला तहसील क्षेत्र के पवई गांव में करीब 401 वर्ष पुरानी परम्परा में गांव शाम चार बजे झिझरिया मेला का आगाज किया गया। पहले तो शंकर सहित कई देवी देवताओं की शोभायात्रा गाजेबाजे के साथ पूरे गांव में निकाली गयी फिर एतिहासिक तालाब किनारे शोभायात्रा का समापन हुआ। बीच तालाब में पानी में ही श्रीकृष्ण लीला का सजीव मंचन किया गया। लीला का मंचन गांव की महिलाओं और पुरुषों ने किया। कंस की सेनाओं का प्रदर्शन तालाब में किया गया फिर श्रीकृष्ण के कालिया नाग, वकासुर, अघासुर सहित अन्य दैत्यों के वध का सजीव लीला सम्पन्न हुयी। यहां पूरी रात शरद पूर्णिमा पर पानी में रामलीला का मंचन होगा जिसके लिये कलाकारों ने तैयारी शुरू कर दी हैं।
ग्राम प्रधान प्रतिनिधि रामगोपाल ने बताया कि श्रीकृष्ण की लीला व अन्य लीलाओं का मंचन दिन में पानी में सम्पन्न हो गयी हैं अब रात में रामलीला का मंचन तालाब में होगा। उन्होंने बताया कि रात में स्वांग और ताजिये भी निकाले जायेंगे। क्योंकि यहां की लीला हिन्दु और मुस्लिमों की एकता का प्रतीक हैं। दोनों वर्गों के लोग ही लीला में भाग लेते है। जरिया थाने के प्रभारी निरीक्षक रामजीत गौड़ ने बताया कि इस गांव में ये एतिहासिक लीला हैं जिसे झिझरिया का मेला कहा जाता हैं। दिन में लीला सकुशल सम्पन्न हो गयी हैै अब शरद पूर्णिमा की पूरी रात यहां तालाब में पानी में रामलीला और स्वांग निकालने की लीला का मंचन होगा। उन्होंने बताया कि गांव में सुरक्षा के लिहाज से पर्याप्त पुलिस बल तैनात किया गया हैं। इसी तरह से जिले के कुरारा क्षेत्र के भैसापाली गांव में जलविहार महोत्सव की धूम रातभर रही। लाला हरदौल के स्वरूप का चित्रण किया गया। इसके अलावा टेशू, झिंझियां और सुआटा की लीलायें होगी जो कातिक मास तक चलेगी। इसमें सुआटा राक्षस को मार कर टेशू झिंझियां से शादी करेगा। शादी होते ही यह महोत्सव सम्पन्न हो जायेगा।
बुन्देलखण्ड की अनूठी प्रथा है झिझरिया मेला
पवई गांव के सरपंच आशा देवी के पति रामगोपाल ने गुरुवार को बताया कि बुन्देलखण्ड के हमीरपुर में यह कार्यक्रम 400 से अधिक सालों से बीच तालाब पानी में ही आयोजित होता है। उन्होंने बताया कि रामलीला, श्रीकृष्ण लीला का सजीव मंचन पानी में करने की परम्परा है जिसमें गांव के लोग ही अभिनव करते है। यह कार्यक्रम रात भर चलेंगे जिसे देखने के लिये आसपास के दर्जनों गांवों से भारी संख्या में लोगों की भीड़ जुटी।
पानी में सजीव लीला करने को गांव के ही पुरुषों ने  किया  अभिनय
गांव के प्रधान प्रतिनिधि रामगोपाल ने बताया कि एतिहासिक लीला सम्पन्न कराने के लिये दो लाख रुपये की व्यवस्था की गयी है। उन्होंने बताया कि गांव के डा. मंगल सिंह कंस का अभिनय करेंगे और खेमचद्र राजपूत कालिया नाग, शिवप्रसाद पूतना व अमरचन्द्र राजपूत बकासुर आदि दैत्यों का अभिनय करेंगे। इन्द्रेश सिंह ने श्रीकृष्ण की भूमिका निभाई और सूरज प्रसाद ने शंकर जी का अभिनय करेंगे। प्रधान प्रतिनिधि ने बताया कि रात में रामलीला का सजीव लीला पानी में किया जायेगा जिसके लिये तालाब में व्यवस्था की जा रही है।
आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram