(हमीरपुर बुलेटिन) हमीरपुर में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, दो चिकित्सकों समेत 29 संक्रमित, पढ़ें दिनभर की खबरें

1-  हमीरपुर – डीएम ने निर्माण कार्यों की बोगस स्थिति पर अफसरों को लगायी फटकार

हमीरपुर । जिलाधिकारी ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट मीटिंग हाल में मुख्यमंत्री की घोषणाओं से सम्बन्धित एवं 50 लाख से अधिक की लागत से कराये जा रहे निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक में कमियां पाये जाने पर अधिकारियों को जमकर फटकार लगायी। उन्होंने कहा कि यदि सुधार नहीं लाया गया तो दोषी अभियंताओं को बख्शा नहीं जायेगा।

जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने कहा कि मुख्यमंत्री की घोषणाओं से सम्बंधित सभी कार्य प्राथमिकता, समयबद्ध व गुणवत्तापूर्ण ढंग से पूर्ण किया जाए। इसमें किसी तरह की लापरवाही न बरती जाए। उन्होंने कहा कि सभी कार्यदायी संस्थाओं द्वारा निर्माण श्रमिकों की सूची श्रम विभाग को उपलब्ध कराई जाए तथा 90 दिन का कार्य पूर्ण करने वाले श्रमिकों का श्रम विभाग में शत प्रतिशत पंजीयन सुनिश्चित कराया जाए। नई सड़कों का निर्माण तथा पुरानी सड़कों का सुदृढ़ीकरण कार्य प्राथमिकता के साथ किया जाए। धनराशि की कमी के कारण जिन परियोजनाओं में कार्य नहीं हो पा रहा है, उसके सम्बंध में शासन को पत्र लिखा जाए। जिन परियोजनाओं में संपूर्ण धनराशि मिल गई है उनको शीघ्र पूर्ण किया जाए। सभी प्रकार की परियोजनाओं में धनराशि व्यय होने के बाद उसका उपभोग प्रमाण पत्र अवश्य दिया जाए। उन्होंने कहा कि विभिन्न परियोजनाओं में जो धनराशि अवमुक्त की जा रही है उसके सापेक्ष भौतिक प्रगति अवश्य प्राप्त होनी चाहिए।
लोक निर्माण विभाग द्वारा अपने कार्यों में धीमी प्रगति पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की तथा प्रगति में सुधार करने का निर्देश दिया। कहा कि सभी कार्यदायी संस्थाओं द्वारा नए प्रारूप पर समस्त सूचनाएं गंभीरतापूर्वक पढ़कर त्रुटि रहित भरी जाएं। जनपद की रैंकिंग प्रभावित ना हो इसके लिए सभी कार्य समय से पूर्ण किए जाए। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी कमलेश कुमार वैश्य, जिला विकास अधिकारी विकास, विभिन्न कार्यदायी संस्थाओं के अधिशासी अभियंता तथा अन्य विभागों के जिलास्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।
झक्कास खबर
झक्कास खबर
2 –  हमीरपुर –सात वर्षों से फरार ईनामी अपराधी गिरफ्तार
राठ कोतवाली पुलिस ने सात वर्षों से फरार पांच हजार रुपये के ईनामी अपराधी को गुरुवार के दिन गिरफ्तार कर लिया है।
राठ कोतवाल केके पाण्डेय ने बताया कि वर्ष 2013 में मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ जनपद के टीला नरेनी गांव निवासी भूरे उर्फ भूरा यादव पुत्र स्व.छोटेलाल यादव के खिलाफ कोतवाली राठ में अपहरण का मामला दर्ज था। इस मामले में इसके खिलाफ वारंट जारी था। गिरफ्तारी के लिये इस अपराधी पर पांच हजार रुपये का ईनाम भी घोषित हुआ था। इसकी गिरफ्तारी के लिये टीम गठित थी।
कोतवाली के उपनिरीक्षक संजय मिश्रा व हेड कान्सटेबिल बृजेन्द्र सिंह ने कोतवाली क्षेत्र में विगहना गांव से छापेमारी कर गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इस अपराधी को आज जेल भेज दिया है।
3 –  हमीरपुर – बुन्देलखंड में मत्स्य पालकों को अब ब्याज दर पर मिलेगा ऋण
हमीरपुर – योगी सरकार ने बुन्देलखंड के मत्स्य पालकों को भी अन्य किसानों की तरह बेहतर काम करने के लिये कम ब्याज दर पर ऋण की व्यवस्था करायी है। इसके लिये मत्स्य पालन करने वाले किसानों को अब किसान क्रेडिट (केसीसी) मुहैया कराया जायेगा।

शासन ने हमीरपुर समेत सभी सातों जनपदों को केसीसी वितरित करने का लक्ष्य निर्धारित कर दिया है। जिसमें हमीरपुर में 1390, महोबा में 512, बांदा में 1140, चित्रकूट में 1054, झांसी में 1044 व ललितपुर में 825 मतस्य पालकों को केसीसी वितरित किया जायेगा। शासन की इस पहल से मछली पालन व्यवसाय को बढ़ाना मिलेगा साथ ही इस व्यवसाय से जुड़े लोग आर्थिक स्थिति से मजबूत हो सकेंगे।
उल्लेखनीय है कि सरकार किसानों को खेती के ऋण के लिए केसीसी (किसान क्रेडिट कार्ड) देती है। इस पर किसानों को सस्ते दर पर कर्ज मिलता है। कर्जमाफी और अनुदान की योजनाओं के लिए भी केसीसी को आधार माना जाता है। अब सरकार ने मछली पालन करने वालों को भी केसीसी उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। इसके लिए प्रति हेक्टेयर तालाब पर किसान को दो लाख रुपये तक की ऋण सीमा स्वीकृत होगी। इस ऋण पर मत्स्य पालक को वैसे तो नौ प्रतिशत ब्याज देना होगा, लेकिन अगर ऋण की किस्त जमा करने की स्थिति ठीक है तो उसे अंत में तीन प्रतिशत की छूट मिलेगी।
 इसके अलावा दो प्रतिशत सब्सिडी भी दी जाएगी। इस तरह उसे नौ की बजाए केवल चार प्रतिशत ब्याज ही देना होगा। अगर कोई मत्स्य पालक व्यक्ति सामान्य कृषक है और उसके पास पहले से ही केसीसी है तो भी वह इस नई योजना में शामिल किया जाएगा। परंतु उसके लिए नया केसीसी स्वीकृत करने की बजाय पुराने केसीसी पर ही ऋण सीमा बढ़ा दी जाएगी। ऐसे मत्स्य पालक किसान को प्रति हेक्टेयर तीन लाख रुपये की ऋण सीमा मिलेगी।
हमीरपुर में मत्स्य पालकों को केसीसी वितरित कराये जाने के सम्बन्ध में सहायक निदेशक मत्स्य आशा वर्मा को  गुरुवार को शाम कई बार फोन किया गया लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया। इससे लगता है कि इस जनपद में मत्स्य पालकों के लिये सरकार की यह योजना अभी जमीन पर नहीं दौड़ायी गयी है।
जनपदवार    आवंटित केसीसी वितरण का लक्ष्य
जनपद           लक्ष्य
हमीरपुर           1390
महोबा          512
बॉदा                 1140
चित्रकूट         1054
झॉसी                 1044
जालौन         1424
ललितपुर          825
योगः-          7417
4 –  हमीरपुर – अंग्रेजों पर हमला करने में क्रांतिकारी वाघा जतिन को मिली थी मौत
हमीरपुर । सुमेरपुर कस्बे में गुरुवार को वर्णिता संस्था के तत्वाधान में याद करो कुर्बानी कार्यक्रम के तहत युवा क्रांतिकारी वाघा जतिन की पुण्यतिथि मनाते हुये साहित्यकारों ने उन्हें याद किया।

वर्णिता संस्था के अध्यक्ष डा.भवानीदीन ने कहा कि बाघा जतीन के बारे में यही कहा जा सकता है कि बड़ी मुश्किल से होता है। चमन में दीदावर पैदा अर्थात ज्योतिंद्र नाथ मुखर्जी जैसे युवा क्रांतिकारी देशभक्त बहुत मुश्किल से पैदा होते हैं। जतीन का जन्म 7 दिसंबर 1879 को कुष्टिया,बंगाल में हुआ था। पिता का नाम उमेश चंद्र मुखर्जी और मां का नाम सरस्वती देवी था। जतीन का वास्तविक नाम ज्योतीन्द्र नाथ मुखर्जी था। जतीन ने कृष्ण नगर के वर्नाक्यूलर स्कूल से 1898 में मैट्रिक की परीक्षा पास की ,तत्पश्चात उसकी स्वामी विवेकानंद से भेंट हुई। स्वामीजी से संवाद होने के बाद उसे जीवन का लक्ष्य प्राप्त हो गया।
 जतीन बचपन से ही शरीर से बहुत मजबूत थे। दो या तीन घटनाओं से जतीन के शारीरिक बल, सूझबूझ और उसके देश के प्रति सोच की पुष्टि होती है। कम उम्र मे ही उसने स्कूल में अपने से डेढ गुना अधिक के स्कूली छात्र पहलवान को अखाड़े में पटक दिया था। एक बुढ़िया की मदद करना, कम उम्र में ही एक बिदके हुए घोड़े को वश में करना, सफर में दो गोरो को धुनना जैसी घटनाओं ने उसे चर्चित बना दिया था। उसके बाद उसकी अपने मामा के रहते हुए एक दिन जंगल में एक खूंखार शेर से भिड़ंत हो गई। उसे अपने हसिये से मार दिया। तबसे उसका नाम बाघा जतीन हो गया। जतीन कोलकाता के युगान्तर जैसे क्रांतिकारी दल से जुड़े ही नहीं अपितु आगे चलकर उसके प्रमुख मुखिया हो गए ।
 सरकार ने जब बंगाल का विभाजन कर दिया तो सारे देश में बंगाल विभाजन के विरोध में आंदोलन चला। जिसमे जतीन ने खुलकर भाग लिया। जतीन ने कई जगह नौकरी भी की,जतीन की अरविंद घोष जैसे क्रांतिकारी से कोलकाता में भेट हुई। जतीन महिलाओं का बहुत सम्मान करते थे। वे मल्ल युद्ध मे माहिर थे। अरविंद घोष और स्वामी विवेकानंद के भाई भूपेंद्र दत्त से भी जतीन के अच्छे सम्बन्ध हो गये थे। वे अनुशीलन समिति से जुड गये थे। गोरों से लडने के लिये क्रांतिकारियों को शस्त्र सन्ग्रह और बम निर्माण की आवश्यकता पड़ती थी। हथियारों की खरीद के लिये देशभक्त डकैती डालते थे। गार्डन रीच जैसी डकैती में जतीन का प्रमुख हाथ था। क्रांतिकारी पुलिस ऑफिसर नंदलाल बनर्जी, पुलिस प्रासी क्यूटर आशुतोष विश्वास को मार चुके थे।
 अब देश वीरों का शत्रु शम्सुल आलम की बारी थी। जिस को मारने के लिए जतीन ने वीरेंद्र दत्त गुप्ता का चयन किया था। इस तरह से कई हत्या और डकैती में पुलिस को बाघा जतीन की तलाश थी। 9 सितंबर 1915 को पुलिस और बाघा जतीन के साथियों के साथ मुठभेड़ हुई। जिसमें जतीन बुरी तरह से घायल हो गए और 10 सितंबर 1915 को वीरगति को प्राप्त हो गए । उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। कार्यक्रम मेंअवधेश कुमारगुप्त एडवोकेट ,राजकुमार सोनी सरार्फ, कल्लू चौरसिया ,राधारमण गुपत आशीष गुप्ता, लल्लन गुप्ता,अरविंद, दिलीप अवस्थी, वृंदावनलाल,गुप्ता गौरीशंकर,प्रान्शू सोनी आदि मौजूद रहे।
5 – हमीरपुर – शौचालय में आवास बनाकर रहने के मामले की जांच शुरू
हमीरपुर । सुमेरपुर क्षेत्र के ग्राम पंचायत धुंधपुर में एक विधवा के शौचालय में आवास बनाकर रहने के मामले को लेकर यहां गुरुवार को जिलाधिकारी ने जांच के निर्देश दिये है।

शौचालय को आवास बनाकर रहने का मामला प्रकाश में आने के बाद जांच के लिए गए प्रशासनिक अधिकारियों के सामने महिला की हकीकत का पर्दाफाश हो गया। पति की मौत के बाद ज्यादातर समय मायके में रहने के कारण विधवा सरकारी सहायता पाने से वंचित रही। ग्राम प्रधान ने एक पखवाड़े के अंदर एक कमरा तैयार कराने का आश्वासन अधिकारियों को दिया है। विधवा पेंशन सहित राशन कार्ड आदि योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए आवश्यक कार्रवाई शुरू कराई गई है।
ग्राम पंचायत धुन्धपुर की विधवा पार्वती निषाद के शौचालय में रहने का मामला प्रकाश में आया था। इस पर जिलाधिकारी के निर्देश पर डीपीआरओ राजेंद्र प्रकाश, डीएसओ रामजतन यादव, बीडीओ अभिमन्यु सेठ एवं एडीओ पंचायत सत्य प्रकाश गुप्ता के साथ गांव पहुंचे। और पार्वती से मिलकर हकीकत परखी।
पार्वती ने बताया कि वह ज्यादातर अपने मायके बड़ागांव में रहती है। संतान न होने तथा पति के स्वर्गवासी हो जाने से मायका ही सहारा बचा था। बताया कि दो वर्ष पूर्व बारिश में मकान ढह जाने से वह बचा सामान शौचालय में रखकर मायके लौट गई थी। कभी कभार आने पर वह इसी शौचालय के बाहर चूल्हा बनाकर खाना बना लेती है और यहीं पर सो जाती है। एडीओ पंचायत ने बताया कि महिला के गांव में न रहने के कारण उसे सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिला है। जबकि देवर, जेठ सहित सभी को सरकारी सुविधाएं प्राप्त हो रही हैं। इनके आवास प्लस में भी नाम शामिल है।
उन्होंने बताया कि विधवा महिला के पास किसी बैंक में खाता नहीं है। पंचायत सचिव को खाता खुलवाने के साथ विधवा पेंशन, राशन कार्ड बनवाने के निर्देश तत्काल प्रभाव से दिए गए हैं। ग्राम प्रधान प्रतिनिधि कालीदीन निषाद ने एक पखवारे में एक कमरा तैयार कराकर रहने का पुख्ता इंतजाम करने का आश्वासन दिया है।
एडीओ पंचायत ने बताया कि सास मीडिया के नाम बने राशन कार्ड में विधवा का नाम दर्ज है। फिलहाल उसे पांच किग्रा खाद्यान्न मिल रहा है। अलग से राशन कार्ड की कार्रवाई की जा रही है। आवास प्लस की सूची में नाम शामिल करके आवास दिलाने की कार्रवाई शुरू की गई है।
इस मौके पर पंचायत सचिव विरेंद्र पाल, रोजगार सेवक आदि लोग मौजूद रहे।
6 – हमीरपुर – पूर्व सैनिक परिषद ने मृत पूर्व सैनिक को दी श्रद्धांजलि
हमीरपुर । राठ नगर के मुहाल बुधौलियाना निवासी पूर्व फौजी की मौत पर पूर्व सैनिक सेवा परिषद के पूर्व सैनिक सदस्यों ने आकर सैनिक सम्मान के साथ उनकी शव यात्रा में सम्मलित होकर उन्हें अंतिम विदाई दी। जिसमें कानपुर, उन्नाव, बांदा, झांसी व जालौन के पूर्व सैनिक शामिल हुये।

पूर्व सैनिक सेवा परिषद जिला सचिव कैप्टन एसएन खरे ने बताया कि गुरुवार को नगर के मुहाल बुधौलियाना निवासी पूर्व सैनिक सोहनलाल सोनी का आकस्मिक निधन हो गया। जिसकी जानकारी उनके समूह को होने पर पूर्व सैनिकों ने दूरदराज से आकर उनका पूरे सैनिक सम्मान के साथ उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की और उनकी शव यात्रा में शामिल हुये। इसके बाद उनके घर आकर दुखी परिवार को सांत्वना देकर ईश्वर से पुण्यात्मा को अपने चरणों मे जगह देने की प्रार्थना की। इस दौरान पूर्व सैनिकों में कैप्टन जयसिंह, सूबेदार जागेश्वर प्रसाद, आदित्य शर्मा, धूराम राजपूत, हबीब खान, गनर संतोष कुमार, नायक महेश यादव, मिश्रीलाल आदि सहित कानपुर, बांदा, उन्नाव, झांसी व जालौन के पूर्व सैनिक मौजूद रहे।
7 – हमीरपुर – युवक को मारपीट कर कपड़े उतारकर बनाया वीडियो, मुकदमा दर्ज
हमीरपुर । जरिया थाना क्षेत्र के पचखुरा गांव में एक हिर्स्ट्रीशीटर अपराधी ने अपने साथियों के साथ एक युवक को अगवा करने के बाद उसे जमकर पीटा और कपड़े उतारकर उसका वीडियो भी बनाकर रंगदारी मांगी गयी। गुरुवार को घटना की वीडियो वायरल होने पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी है।

जरिया क्षेत्र के पचखुरा गांव निवासी बाबी यादव पुत्र दीप सिंह यादव ने आज बताया कि अपने दोस्तों के साथ वह कस्बे के पहाड़ी तालाब के पास बैठा था तभी अतरौली गांव निवासी दबंग राहुल अपने साथी जरिया गांव निवासी दीपक राजपूत, ममना गांव निवासी सहदीप, सरीला निवासी विक्की राजपूत, सरीला निवासी ओमप्रकाश, रामसहोदर,भगवती कुशवाहा आदि के साथ आये और उसे अवैध तमंचों के बल पर उसे ग्राम पहाड़ी स्थित पहाड़ पर ले गए और उसे मार पीट करते हुए उसके कपड़े उतार कर उसका वीडियो भी बनाया। आरोप लगाया कि उक्त दबंगों ने उससे पचास हजार रुपये की रंगदारी भी मांगी। न देने पर परिवार सहित जान से मारने की धमकी भी दी। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। जरिया थानाध्यक्ष विक्रमाजीत सिंह ने बताया कि मामले की रिपोर्ट दर्ज कर घटना की जांच करायी जा रही है।
8 – हमीरपुर में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, दो चिकित्सकों समेत 29 संक्रमित
हमीरपुर । जनपद में गुरुवार को दो चिकित्सकों समेत 29 लोग करोना से संक्रमित पाये गये। जिसमें अकेले हमीरपुर शहर में ही 10 नये मामले सामने आये है। पिछले चौबीस घंटे के अंदर कोरोना के 44 नये संक्रमित मरीजों के मिलने से स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी सकते में आ गये है। जनपद में इन नये केसों के बाद संक्रमितों की संख्या अब 805 पार कर गयी है। वही राहत वाली बात है कि इस महामारी से 600 मरीज ठीक भी हो चुके है।

गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने रैपिड एंटीजेन किट से तो सुभाष बाजार में जांच की। जांच में एक परिवार की दंपति सहित पांच लोग संक्रमित पाए गए। जिससे मोहल्ले वालों में हड़कंप मचा है। वहीं किंग रोड मोहल्ले के एक परिवार के तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं रमेड़ी मोहल्ले में दो लोग संक्रमित मिले हैं। सुमेरपुर कस्बे के पूर्व दो चिकित्सा अधिकारी व एक गर्भवती महिला संक्रमित पाई गई है। वहीं छानीखुर्द व बुजुर्ग में दो दो, कल्ला गांव में एक व नई बस्ती निवासी एक महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। राठ के सिकंदरपुरा मोहल्ला निवासी एक 60 वर्षीय वृद्ध संक्रमित पाया गया है। सरीला में पांच, मौदहा में तीन व कुरारा में एक संक्रमित पाया गया है। सीएमओ डा.आरके सचान ने बताया कि सभी संक्रमितों को सुमेरपुर स्थित पॉलिटेक्निक कालेज में संचालित एलवन हास्पिटल में भर्ती कराया गया है। वहीं एक गर्भवती महिला को बांदा मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram