(हमीरपुर बुलेटिन) हमीरपुर में गौवंश के मरने का सिलसिला जारी, 8 गायें मरी पढ़े दिनभर की खबर

1- हमीरपुर में गौवंश के मरने का सिलसिला जारी, 8 गायें मरी

-ग्रामीणों ने वीडियो बनाकर जिलाधिकारी को भेजा, अधिकारियों को लगाई गयी कड़ी लताड़

सुमेरपुर हमीरपुर। गोशालाओं में ठंड से कोई इंतजाम न किये जाने के कारण रविवार को फिर 8 गौवंश की मौत हो गयी। इसी बीच ग्रामीणों ने मृत गायों का वीडियो बनाकर जिलाधिकारी को भेज दिया। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुये चेतावनी दी और अधिकारियों के साथ गोशालाओं की जमीनी हकीकत देखी।

जिले में बारिश के बाद ठंड एवं कोहरे का प्रकोप बढऩे से आवारा गौवंश के मरने का सिलसिला तेज हो गया है। सुमेरपुर क्षेत्र के इंगोहटा, पलरा, टिकरौली के बाद विदोखर पुरई गांव में गोशाला में बंद पांच गौवंश ने ठंड की चपेट में आकर दम तोड़ दिया। ग्राम प्रधान ने सभी मृत गौवंश को चुपचाप दफन करवा दिया। लेकिन कुछ ग्रामीणों के वीडियो बनाकर जिलाधिकारी को भेजने के बाद अधिकारी सकते में आ गये। जिलाधिकारी की कड़ी फटकार के बाद परियोजना निदेशक चित्रसेन सिंह एवं खंड विकास अधिकारी रत्नेश सिंह गांव पहुंचे और गोशाला की अव्यवस्था देख ग्राम प्रधान चन्द्र प्रकाश यादव को जमकर लताड़ा।

 

अधिकारियों की फटकार के बाद ग्राम प्रधान व सचिव गोशाला में व्यवस्थायें दुरुस्त करने में जुट गये है। उधर क्षेत्र के इंगोहटा में गोशाला से छोड़े गये गौवंश अधिकारियों की फटकार के बाद दोबारा गोशाला में बंद कर दिये गये है लेकिन गांव के कई किसानों की फसलें गौवंश ने चट कर दी है। जिले के मौदहा क्षेत्र के अरतरा गांव में गोशाला में तीन गायें ठंड से मर गयी।

वहीं तमाम गायें बीमार भी हो गयी है। एसडीएम के निर्देश पर पशु चिकित्सकों ने बीमार गौवंश का इलाज भी शुरू कर दिया है। साथ ही लापरवाह कर्मचारियों के खिलाफ भी कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये है। अरतरा

गांव में बने गोशाला में तीन सौ अधिक गौवंश के लिये भूसा और चारे के कोई प्रबन्ध नहीं है। वहीं ठंड से बचाने के लिये भी गोशाला में टीनशेड या छाये की व्यवस्था नहीं की गयी है। ठंड की चपेट में आकर तीन गायों की मौत हो गयी जबकि तमाम गौवंश बीमार पड़ गये है।

ग्राम पंचायत सचिव दुर्गेश नंदन पाण्डेय ने बताया कि कुछ गौवंश बीमार हो गये है। पशु डाक्टरों को बुलवाया गया है। तीन गौवंश ठंड से मरे है। राठ क्षेत्र में भी दर्जनों गौवंश के मरने की खबरें है।

 

2 – यमुना नदी में मासूम की डूबकर मौत, पुलिस का सर्च आपरेशन जारी

हमीरपुर ब्यूरो। जिले में शनिवार को यमुना नदी में एक मासूम की डूबकर मौत हो गयी। घटना की सूचना पाते ही यूपी-112 व इलाकाई पुलिस मौके पर पहुंची और नदी में गोताखोरों की मदद से सर्च आपरेशन चलाया लेकिन अभी तक मासूम का कोई पता नहीं चल सका। इस घटना से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। जिले के सुमेरपुर थाना क्षेत्र के पत्यौरा गांव निवासी जयराम निषाद का पुत्र भारत (9) यमुना नदी नहाने गया था। नहाते समय वह गहरे पानी में समा गया। प्रत्यक्षदर्शियों ने इस घटना की तुरंत सूचना यूपी-112 व थाना प्रभारी को दी जिस पर मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थानीय गोताखोरों की मदद से नदी में सर्च आपरेशन चलाया। मगर मासूम बालक का अभी कोई पता नहीं चल सका। गांव के राममिलन निषाद ने बताया कि वह नदी में अपने कपड़े धो रहा था तभी भारत ने पीछे से नदी में छलांग लगा दी। एक मिनट बीतने के बाद भी वह पानी से बाहर नहीं निकला। उसे बचाने के लिये वह भी नदी में कूदा और दस मिनट तक उसे नदी में खोजा गया लेकिन उसका कोई पता नहीं चल सका। गांव से भी पांच नावें मासूम की खोजबीन में लगायी गयी मगर अभी तक उसका कोई पता नहीं चल पाया है। सुमेरपुर थानाध्यक्ष श्रीप्रकाश यादव भी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और नदी में सर्च आपरेशन चलाया मगर पुलिस के हाथ खाली है। मासूम की खोजबीन के लिये पुलिस और स्थानीय गोताखोर अभी भी यमुना नदी में सर्च आपरेशन चला रहे है। भारत गांव के ही प्राथमिक स्कूल में कक्षा एक में पढ़ता था। उसकी मौत से परिजन बदहवाश है।

3 – घटिया निर्माण पर जिलाधिकारी ने ईओ को लगायी फटकार

– जिलाधिकारी ने किया अन्ना गौवंश स्थल का निरीक्षण

सुमेरपुर-हमीरपुर। लगातार अन्ना गौवंश के मरने की सूचनाओं से आहत जिलाधिकारी डा. ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने रविवार को कस्बे के निर्माणाधीन कान्हा गौआश्रय स्थल एवं गायत्री विद्या मंदिर इण्टर कालेज के पीछे बनायी गयी अस्थाई गौशाला का निरीक्षण किया। कान्हा गौवंश आश्रय स्थल के निर्माण में गुणवत्ता खराब पाये जाने पर उन्होने नाराजगी जाहिर करते हुये अधिशाषी अधिकारी को कड़ी फटकार लगाते हुये गुणवत्ता ठीक कराने के निर्देश दिये है। साथ ही उन्होने अस्थाई गौशाला में ठण्ड से बचने के लिये छाया का और इंतजाम कराने के निर्देश दिये है।

जिलाधिकारी डा. ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने सबसे पहले गायत्री विद्या मंदिर इण्टर कालेज के पीछे बनी अस्थाई गौशाला का निरीक्षण किया। यहां पर छाया का पर्याप्त इंतजाम न होने पर वह असंतुष्ट नजर आये। उन्होने अधिशाषी अधिकारी रवि कुमार यादव से कहा कि वह छाया का जल्द इंतजाम कराये। उन्होने कहा कि खुले में बैठने वाले गौवंश को जूट के बोरों से ढका जाये। ताकि सर्दी से बचाव हो सके। उन्होने कहा कि छाया के नीचे बैठने वाले गौवंश को बचाने के लिये नीचे पुलाव डाला जाये। साथ ही जिलाधिकारी ने कहा कि साड़ो के साथ साथ छोटे बछड़ो को अलग रखने का भी पुष्ता इंतजाम करें। उसके बाद उन्होने कान्हा पशु आश्रय स्थल का निरीक्षण किया। यहां तक सड़क निर्माण न होने पर जिलाधिकारी एक किमी. पैदल चलकर गये। निर्माण में गुणवत्ता ठीक न होने पर उन्होने ईओ के साथ ठेकेदार को कड़ी फटकार लगाते हुये गुणवत्ता ठीक करने के निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी के साथ अपर जिलाधिकारी विनय प्रकाश श्रीवास्तव, एसडीएम सदर राजेश कुमार चौरसिया, पशु चिकित्साधिकारी डा. पंकज सचान सहित अन्य कर्मचारी मौजूद रहे। यहां से लौटने के बाद जिलाधिकारी मौदहा चले गये। इसके पूर्व जिलाधिकारी के इंगोहटा, बिदोखर जाने की सम्भावना थी। लेकिन वह यहां नही गये।

इससे अधिकारियों ने राहत की सांस ली। इंगोहटा में परियोजना निदेशक चित्रसेनbसिंह, खण्ड विकास अधिकारी रत्नेश सिंह, नायाब तहसीलदार विजय प्रताप सिंह पूरे दिन डेरा जमायें रहे। पुलिस चौकी इंचार्ज शनि कुमार चर्तुवेदी ने गांव में भ्रमण कर गौवंश छोड़ने वालो को सख्त चेतावनी दी।

मौदहा हमीरपुर:कस्बें मे एक करोड़ बीस लाख से निर्मित हो रहे गौशाले का स्थलीय निरीक्षण करने पहुँचे ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने कार्य धीमी गति पर नाराजगी जताते हुए निदेर्शित किया है कि 23 जनवरी तक निर्माण पूरा होना चाहिए और यदि निर्माण मे मानक की कमी पाई गई तो कठोर कार्यवाई की जायेगी। उनके काफिले मे ए0डी0एम0, एस0डी0एम0 तथा आरईएस के अधिशासी अभियंता थे।

कस्बे के कप्सा मार्ग चंद्रावल पुल के निकट 7 बीघे मे निर्मित हो रहे गौशाला के निर्माण कार्य की धीमी गति की रिपोर्ट जिलाधिकारी को भेजी थी। आज जब जिलाधिकारी इसके निरीक्षण को पहुँचे तभी यहां कार्य की गति धीमी और मजदूरों की कम संख्या मिलने पर निर्माण एजेंसी पर नाराजगी जताई। उन्होनें कहा कि मजदूरों की संख्या बढ़ाई जाये यहां तक की आवस्यकता पड़ने पर दो पाली मे रात दिन कार्य कराया जाये। जिससे निर्धारित समया 23 जनवरी तक उक्त कार्य पूरा किया जा सके। उन्होंने सभी निर्माण कार्य एक-एक करके देखे और निर्देश दिए कि गुणवत्ता मे किसी प्रकार का समझौता नही हो सकता। यदि कार्य मे गड़बड़ी पाई गई तो कठोर कार्यवाही भी होगी। इस अवसर पर पी0डी0/बी0डी0ओ0 व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

4 – नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ सोमवार को मुस्लिम समाज निकालेगा तिरंगा यात्रा

हमीरपुर ब्यूरो। नागरिकता संशोधन बिल (एनआरसी) व सीएबी के खिलाफ यहां हमीरपुर में विरोध शुरू हो गया है। जिले के कुछ इलाकों में संविधान विरोधी काले कानून के विरोध में लोगों ने सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया था लेकिन अब जिला मुख्यालय में मुस्लिम समाज ने सोमवार को संविधान बचाओ तिरंगा यात्रा निकालकर विरोध प्रदर्शन करने का एलान किया है। तहरीके उलमाए बुन्देलखण्ड हमीरपुर व डा.अम्बेडर मूवमेंट के तत्वाधान में नगर के अमन शहीद स्थित अलाव मैदान में नागरिका संशोधन बिल के खिलाफ एकत्र होकर विरोध प्रदर्शन करने की तैयारी शुरू कर दी गयी है। समाज के लोगों से अधिक से अधिक संख्या में इस विरोध प्रदर्शन में शामिल होने का आवाहन किया गया है। संविधान विरोधी काले कानून को लेकर संविधान बचाओ तिरंगा यात्रा निकालकर जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर लोग विरोध दर्ज करायेंगे।

 

5 – बीहड़ इलाके में किसानों ने लहराई उम्मीदों की फसल, कृषि वैज्ञानिक ने किया निरीक्षण

हमीरपुर ब्यूरो। जिले में बीहड़ इलाके में तमाम किसानों ने बीहड़ इलाके मेंउम्मीदों की फसल लहरायी है। रविवार को कृषि वैज्ञानिक ने बीहड़ में बसे गांव पहुंचकर फसलों का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि ऊबड़ खाबड़ जमीन में फसलें तकनीकी सलाह से करने से किसानों की आर्थिक स्थिति सुधरेगी।

जिले के सुमेरपुर ब्लाक के नजरपुर गांव में बीहड़ में मुदाओं को उत्पादक बनाने और बीहड़ में हरियाली का नियोजन रिटायर्ड मृदा विशेषज्ञ एम.हबीब खान ने तैयार किया है। गांव के कल्लू सिंह व मुन्नी देवी ने तकनीकी सलाह पर बीहड़ में हरियाली लाने का सपना साकार कर दिया है। इस ऊबड़ खाबड़ जमीन को पहले किसानों ने समतलीकरण किया फिर इसे खेती योग्य बनाया। कृषि वैज्ञानिक डा.एसपी सोनकर ने बीहड़ इलाके में पहुंचकर किसानों की उम्मीदों की फसलों का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि दो साल के प्रयास के बाद गांव में सुजान सिंह ने कृषि फार्म माडल में अमरूद का बाग एक हेक्टेयर में तथा बाग के साथ सह फसली माडल तैयार कर चना व सब्जी की फसलें तैयार की है। पशुपालन को बढ़ावा देने के लिये गाय भी पाली गयी है। मौजूदा में मचान 50 मीटर लम्बी बनाकर पांच फसलों एक साथ करने के माडल की तैयारी किसान ने की है।

इसे 2020 में फरवरी माह तक प्रारम्भ किया जायेगा। कृषि वैज्ञानिक ने बताया कि कृषिगत नियोजन किसान के खेत से ही बनाकर चलना सफलता की कुंजीहै। ऐसे ही माडल जिसमें प्रेरणादायक फसल प्रणाली से उद्यमीकरण की ओर फल और सब्जी के साथ अन्य सस्य फसलों को उत्पादन करने से किसानों की आर्थिक स्थित सुधरेगी।

 

6 – तुर्की की प्याज की मची धूम, देशी प्याज से ज्यादा हो रही डिमांड

सुमेरपुर हमीरपुर। अब तुर्की से आयी प्याज नासिक की देशी प्याज को मात दे रही है। गुणवत्ता ठीक होने और टिकाऊ होने के कारण यह प्याज लोगों के मध्य लोकप्रिय भी होती जा रही है। सुमेरपुर कस्बे में देशी प्याज को मात देने के लिये अब सब्जी विक्रेता अपनी दुकान में तुर्की से आयात होकर आई प्याज को कानपुर से मंगवाया है। यह प्याज देखने में देशी प्याज की तुलना में काफी ठीक है। साइज में यह प्याज देशी प्याज से काफी बड़ी है। रबी के सीजन में तुर्की में उगाई गयी यह प्याज नासिक की खरीफ सीजन में उगाई है जो ज्यादा टिकाऊ है। इसका स्वाद भी काफी तीखा है। यह देशी प्याज से महज 10 रुपये प्रति किलो ज्यादा महंगी है। टिकाऊ होने के कारण यह देशी प्याज की तुलना में ज्यादा पसंद की जा रही है। सब्जी विक्रेता निसार राइन ने रविवार को बताया कि टिकाऊ होने के कारण इस प्याज को कानपुर से लाया गया है क्योंकि इसके जल्द खराब होने की संभावना कम है। वहीं मौजूदा समय में आ रही देशी प्याज ज्यादा टिकाऊ नहीं है और जल्द खराब हो जाती है। इसी वजह से तुर्की की टिकाऊ प्याज को ग्राहक भी पसंद कर रहा है। ग्राहक संतोष कुमार, भोला प्रसाद, रवीन्द्र कुमार, उमेश गुप्ता, रामसजीवन सहित अन्य लोगों ने बताया कि नासिक की देशी प्याज से ज्यादा तीखापन तुर्की की प्याज में है। इसका स्वाद भी बेहतरीन है।

7 – फरार अपराधी की होगी कुर्की

सुमेरपुर-हमीरपुर। पिछले एक वर्ष से अपहरण के मामले में फरार चल रहे अभियुक्त के घर की कुर्की के आदेश अदालत ने दिये है। अदालत के आदेश पर पुलिस ने कुर्की की तैयारी करते हुये अपराधी के आवास पर नोटिस चस्पा किया है।

इंगोहटा पुलिस चौकी इंचार्ज शनि कुमार चतुर्वेदी ने बताया कि बिदोखर पुरई निवासी राजनारायन प्रजापति एक वर्ष से अपहरण के मुकदमें में फरार चल रहा है। अदालत ने कुर्की का आदेश किया है। कोर्ट के आदेश का नोटिस अपराधी के आवास पर चस्पा करके कुर्की की तैयारी शुरू की गयी है।

 

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram