(हमीरपुर बुलेटिन) हमीरपुर में ठंड से 24 घंटे में चार लोगों की मौत, पढ़े दिनभर की खबर

1- कोहरे की धूंध में तीन वाहनों की भिड़न्त, चालक की मौत

शनिवार को कोहरे की धुंध में डम्पर, ट्रक और डीसीएम में भीषण टक्कर हो गई, जिससे डीसीएम चालक की मौके पर मौत हो गयी। इस घटना से बांदा मार्ग पर जाम लग गया। घटना की सूचना पाते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। दोनों क्षतिग्रस्त वाहनों को सड़क से किनारे कराकर आवागमन बहाल कराया गया।

कानपुर देहात के मूसानगर थाना क्षेत्र के नगीना गांव निवासी आशीष उर्फ अनिरुद्ध कुमार (42वर्ष) पुत्र वीरेन्द्र कुमार डीसीएम चालक था। वह माल की आपूर्ति करने बांदा गया था। सुबह वह डीसीएम लेकर वापस लौट रहा था, तभी हमीरपुर जिले के सुमेरपुर थाना क्षेत्र के टेढ़ा गांव के पास कोहरे की धुंध में सामने से आ रहे डम्पर, ट्रक से भिड़ने के बाद डीसीएम से  टक्करा गयी। सड़क हादसे में डीसीएम चालक की मौके पर मौत हो गयी। घटना के बाद दो वाहनों के चालक मौके से भाग गए। घटना के बाद बांदा मार्ग पर जाम लग गया। सूचना पाते ही सुमेरपुर थाने की पुलिस और यूपी-112 मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव कब्जे में लेने के साथ ही मार्ग पर आवागमन बहाल कराया।
2 – हमीरपुर में ठंड से 24 घंटे में चार लोगों की मौत
उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में शनिवार को न्यूनतम पारा एक डिग्री सेल्सियस और नीचे लुढ़क गया। ठंड की चपेट में आने से एक किसान की मौत हो गई।  पिछले चौबीस घंटे के अंदर ठंड से चार लोगों की मौत हो चुकी है। कोहरा और धुंध के कारण लोग घरों से बाहर नहीं निकले।

हमीरपुर में न्यूनतम तापमान 3 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। मौसम की मार से ठिठुरे जिले में बिंवार थाना क्षेत्र के छानी गांव निवासी सतीश कुमार उर्फ पंकज (33) की ठंड से मौत हो गई। वह खेत में पानी लगाने शुक्रवार देररात गए थे। ठंड लग जाने के बाद परिजन उन्हें अस्पताल ले गए। जहां शनिवार सुबह उन्होंने दम तोड़ दिया।

इससे पहले जिले के राठ कस्बे के चौबट्टा मुहाल निवासी हरीशंकर गुप्ता की पुत्री स्मिता (19), पठानपुरा मुहाल निवासी सुग्गा (65) और  हमीरपुर सदर के मेरापुर गांव निवासी लल्लू निषाद (61) की ठंड लगने से मौत हो चुकी है। ठंड के कहर में जिले में अभी तक ठंड से 18 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें हमीरपुर में एक, सुमेरपुर क्षेत्र में सात, मौदहा में दो, राठ क्षेत्र में छह, पत्यौरा में एक, मेरापुर में एक व्यक्ति की मौत ठंड से हो चुकी है। सार्वजनिक स्थानों पर अलाव नहीं जलने पर लोग प्रशासन को कोस रहे हैं।
3 – लखनऊ से आयी एक्सपर्ट टीम ने घटनास्थल पर दोहराया क्राइम सीन
-रेलवे ट्रैक पर स्टेट मेडिको लीगल टीम ने क्राइम सीन रिपीट कर लिये फोटो व वीडियो शाट
-एक सप्ताह के अंदर आयेगी जांच रिपोर्ट 

लखनऊ से आई स्टेट मेडिको लीगल टीम ने शनिवार को शाम यहां घटनास्थल पहुंचकर क्राइम सीन दोहराया और वीडियो फोटो लेकर मामले की जांच में जुट गयी है। टीम पूरे मामले का जांच कर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। उधर पुलिस के हाथ अभी तक कोई भी ठोस सबूत नहीं लगे है। जिससे तस्वीर साफ भी होती जा रही है कि छात्रा अकेले ही रेलवे ट्रैक की तरफ गयी है।

उल्लेखनीय है कि 25 दिसम्बर को हमीरपुर जिले के सुमेरपुर थाना क्षेत्र के पंधरी गांव निवासी अमर ङ्क्षसह की पुत्री खुशबू सिंह (17) का शव रेलवे ट्रैक पर मिला था। अगले दिन छात्रा का दो डाक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम कराया गया था। इस पोस्टमार्टम से परिजन संतुष्ट नहीं हुये। दोबारा पोस्टमार्टम कराने और घटना का खुलासा करने की मांग को लेकर शुक्रवार को परिजनों ने ग्रामीणों के साथ बांदा मार्ग पर जाम लगाकर हंगामा काटा था। मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी व पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने परिजनों की मांग पर दोबारा शव का पोस्टमार्टम कराने का निर्णय लिया। शुक्रवार को देर शाम तक हमीरपुर में छात्रा के शव का पोस्टमार्टम राजकीय महिला अस्पताल की डा.पूनम सचान समेत चार डाक्टरों के पैनल ने किया था। देर रात शव गांव ले जाया गया। किसी तरह के बवाल की आशंका को देखते हुये कई थानों का पुलिस बल गांव में तैनात किया गया। घटना की गंभीरता को देखते हुये डीआईजी दीपक कुमार भी मौके पर आकर क्राइम सीन दोहराये जाने के लिये स्टेट मेडिकल टीम को पत्र भिजवाया गया।
शनिवार को दोपहर बाद स्टेट मेडिको लीगल के एक्सपर्ट जी.खान के नेतृत्व में एक टीम घटनास्थल पहुंची। उन्होंने क्राइम सीन को दोहराते हुये जांच पड़ताल की। टीम के एक्सपर्ट जी.खान ने बताया कि क्राइम सीन करके हर पहलू को देखा गया है। उसके वीडियो शाट और फोटो भी लिये गये है। पुलिस के उपलब्ध कराये गये फोटो, पोस्टमार्टम रिपोर्ट तथा पंचनामा का मिलान कराया जायेगा। और विश्लेषण करके जांच रिपोर्ट प्रस्तुत की जायेगी। उन्होंने बताया कि हत्या अथवा आत्महत्या, यह कहना अभी उचित नहीं है। क्योंकि ट्रेन की टक्कर से लगने वाली चोटों व हत्या करने वाली चोटों में काफी अंतर होता है। इसके बाद टीम मुख्यालय लौट गयी।

घटनास्थल पर अपर पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह व सीओ सदर अनुराग सिंह, थानाध्यक्ष सुमेरपुर श्रीप्रकाश यादव, क्राइम ब्रांच तथा स्वाट टीम भी मौजूद रही। उधर पुलिस के सूत्रों ने दावा किया है कि कुछ ठोस सबूत हाथ लगे है जिससे स्पष्ट हो रहा है कि छात्रा अकेली रेलवे ट्रैक की ओर जाती दिखी है। दोबारा पोस्टमार्टम में भी दुष्कर्म का मामला स्पष्ट नहीं हो सका है। इसके लिये स्लाइड भी बनाकर जांच के लिये भेजी गयी है।

4 – लखनऊ से आयी एक्सपर्ट टीम ने दोहराया क्राइम सीन

-रेलवे ट्रैक पर स्टेट मेडिको लीगल टीम ने क्राइम सीन रिपीट कर लिये फोटो
व वीडियो शाट
-एक सप्ताह के अंदर आयेगी जांच रिपोर्ट

सुमेरपुर हमीरपुर। लखनऊ से आई स्टेट मेडिको लीगल टीम ने शनिवार को शाम यहां घटनास्थल पहुंचकर क्राइम सीन दोहराया और वीडियो फोटो लेकर मामले की जांच में जुट गयी है। टीम पूरे मामले का जांच कर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। उधर पुलिस के हाथ अभी तक कोई भी ठोस सबूत नहीं लगे है। जिससे तस्वीर साफ भी होती जा रही है कि छात्रा अकेले ही रेलवे ट्रैक की तरफ गयी है।

उल्लेखनीय है कि 25 दिसम्बर को हमीरपुर जिले के सुमेरपुर थाना क्षेत्र के पंधरी गांव निवासी अमर ङ्क्षसह की पुत्री खुशबू सिंह (17) का शव रेलवे ट्रैक पर मिला था। अगले दिन छात्रा का दो डाक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम कराया गया था। इस पोस्टमार्टम से परिजन संतुष्ट नहीं हुये। दोबारा पोस्टमार्टम कराने और घटना का खुलासा करने की मांग को लेकर शुक्रवार को परिजनों ने ग्रामीणों के साथ बांदा मार्ग पर जाम लगाकर हंगामा काटा था। मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी व पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने परिजनों की मांग पर दोबारा शव का पोस्टमार्टम कराने का निर्णय लिया। शुक्रवार को देर शाम तक हमीरपुर में छात्रा के शव का पोस्टमार्टम राजकीय महिला अस्पताल की डा.पूनम सचान समेत चार डाक्टरों के पैनल ने किया था। देर रात शव गांव ले जाया गया। किसी तरह के बवाल की आशंका को देखते हुये कई थानों का पुलिस बल गांव में तैनात किया गया। घटना की गंभीरता को देखते हुये डीआईजी दीपक कुमार भी मौके पर आकर क्राइम सीन दोहराये जाने के लिये स्टेट मेडिकल टीम को पत्र भिजवाया गया। शनिवार को दोपहर बाद स्टेट मेडिको लीगल के एक्सपर्ट जी.खान के नेतृत्व में एक टीम घटनास्थल पहुंची। उन्होंने क्राइम सीन को दोहराते हुये जांच पड़ताल की। टीम के एक्सपर्ट जी.खान ने बताया कि क्राइम सीन करके हर पहलू को देखा गया है। उसके वीडियो शाट और फोटो भी लिये गये है। पुलिस  के उपलब्ध कराये गये फोटो, पोस्टमार्टम रिपोर्ट तथा पंचनामा का मिलान कराया जायेगा। और विश्लेषण करके जांच रिपोर्ट प्रस्तुत की जायेगी। उन्होंने बताया कि हत्या अथवा आत्महत्या, यह कहना अभी उचित नहीं है।

क्योंकि ट्रेन की टक्कर से  लगने वाली चोटों व हत्या करने वाली चोटों में काफी अंतर होता है। इसके बाद टीम मुख्यालय लौट गयी। घटनास्थल पर अपर पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह व सीओ सदर अनुराग सिंह, थानाध्यक्ष सुमेरपुर श्रीप्रकाश यादव, क्राइम ब्रांच तथा स्वाट टीम भी मौजूद रही। उधर पुलिस के सूत्रों ने दावा किया है कि कुछ ठोस सबूत हाथ लगे है जिससे स्पष्ट हो रहा है कि छात्रा अकेली रेलवे ट्रैक की ओर जाती दिखी है। दोबारा पोस्टमार्टम में भी दुष्कर्म का मामला स्पष्ट नहीं हो सका है। इसके लिये स्लाइड भी बनाकर जांच के लिये भेजी गयी है।

5 – दोबारा पोस्टमार्टम के बाद चौथे दिन हुआ अंतिम संस्कार
-मजिस्ट्रेट व भारी पुलिस फोर्स रहा छात्रा के अंतिम संस्कार में
-चार डाक्टरों के पैनल में भी दुष्कर्म की पुष्टि नहीं, बनाई स्लाइड
-रेलवे ट्रैक पर मिला था छात्रा का संदिग्ध अवस्था में शव

सुमेरपुर हमीरपुर। रेलवे ट्रैक पर मिली छात्रा के शव का दोबारा पोस्टमार्टम कराने के बाद चौथे दिन शनिवार को मजिस्ट्रेट व पुलिस की मौजदूगी में गांव में ही अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार होने के बाद भी पुलिस व प्रशासन ने राहत की सांस ली। वहीं शुक्रवार की रात गांव में कई थानाक्षेत्रों का पुलिस बल मौजूद रहा। उधर लखनऊ से आई स्टेट मेडिको लीगल टीम ने घटना स्थल पर पहुंचकर क्राइम सीन दोहराते हुए रिपोर्ट तैयार की है। यह हत्या है या आत्महत्या इसका विश्लेषण करके घटना का खुलासा करने की बात कही है।

बीते 25 दिसंबर को पंधरी गांव निवासी अमर सिंह की पुत्री खुशबू 17 का शव कस्बे के रेलवे ट्रैक में मिला था। 26 दिसंबर को छात्रा का पोस्टमार्टम कराया गया। इस पोस्टमार्टम से परिजन संतुष्ट नजर नहीं आए और दोबारा पोस्टमार्टम कराने के लिए 27 दिसंबर को बांदा रोड जाम कर अड़ गए।

इस पर जिलाधिकारी के आदेश पर चार डाक्टरों के पैनल से छात्रा का दोबारा पोस्टमार्टम कराया गया। देर रात शव पुनः गांव लाया गया। किसी तरह के बवाल की आशंका के मद्देनजर रात में कई थानों का पुलिस बल गांव में तैनात रहा। शनिवार को सुबह सदर एसडीएम राजेश चौरसिया, सीओ सदर अनुराग सिंह ने परिजनों को उचित न्याय का भरोसा दिलाकर चौथे दिन दोपहर में अंतिम संस्कार कराया। छात्रा का शव गांव में ही पैतृक जमीन पर दफन किया गया। अंतिम संस्कार के बाद पुलिस व प्रशासन ने राहत की सांस ली।

गांव में फिलहाल शांति का माहौल है। उधर घटना के खुलासे के लिए पुलिस ने शनिवार को कई
संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। जिसमें मृतका की एक सहेली से भी पूछताछ की गई। लेकिन कोई खास सुराग हाथ नहीं लगा। पूछताछ के बाद कई लोगों को घर में रहने की हिदायत देकर छोड़ दिया गया। सदर विधायक पहुंचे मृतका के घर सुमेरपुरः सदर विधायक युवराज सिंह शनिवार को मृतक छात्रा के घर पहुंचकर परिजनों को सांत्वना देते हुए हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया।
उन्होंने बताया कि घटना की निष्पक्ष जांच कराने के लिए जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक से मिलकर न्याय दिलाएंगे। छात्रा के अंतिम संस्कार के बाद भाजपा जिलाध्यक्ष बृजकिशोर गुप्ता व सदर विधाक ने मृतका के माता पिता से मिलकर हर संभव मदद दिलाने की बात कही।

समाजवादी पार्टी के प्रतिनिधि मंडल ने पंधरी गांव पहुंचकर मृत छात्रा के परिजनो को ढांढस बंधाते हुये हर संभव मदद का आश्वासन दिया। प्रतिनिधि मण्डल ने कहा कि न्याय न मिलने पर पार्टी सड़को में उतरकर संघर्ष करेगी। इस मौके पर सपा नेता पुष्पेन्द्र सिंह यादव, इदरीश खान,
कुलदीप शुक्ला, मौदहा चेयरमैन रामकिशोर मामा, डा. मनोज प्रजापति सहित आदि
लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram