11 अक्टूबर का इतिहास – 11 October Today in History

देश और दुनिया के इतिहास में 11 अक्टूबर कई कारणों से महत्वपूर्ण है आईये आज हम उन्हीं कारणों पर एक फिर से एक नज़र डालते हैं।

11 अक्टूबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
ईसाई धर्मगुरु पोप लियो दशम ने 1521 ई. में इंग्लैंड के राजा हेनरी अष्टम को धर्मरक्षक की पदवी दी थी।
जार पीटर महान रूस की राजगद्दी पर 1689 ई. को बैठा था।
अमेरिका के संस्थापकों में से एक बेंजामिन फ्रैंकलिन इंग्लैंड से अमेरिका के फिलाडेल्फिया में 1726 ई. को पहुँचे थे।
कलकत्ता (अब कोलकाता) में 1737 ई. को भूकंप से 3 लाख लोगों की मौत हुई, आधा शहर इस प्राकृतिक आपदा में तबाह हो गया था।
अमेरिकी आविष्कारक थॉमस एल्वा एडीसन ने अपने पहले आविष्कार के पेटेंट के लिए 1869 ई. को आवेदन किया। इस इलेक्ट्रिक मशीन का इस्तेमाल वोटों की गिनती के लिए किया गया था।
कलकत्ता (अब कोलकाता) में 1737 को सबसे खतरनाक चक्रवात तूफान आया।
अमेरिकी खोजकर्ता थॉमस एडीसन ने 1869 में अपनी पहली आविष्कार पर एक पेटेंट के लिए आवेदन किया। इस इलेक्ट्रिक मशीन का इस्तेमाल वोटों की गिनती के लिए किया गया था।
अमेरिकी आविष्कारक डेविड हेंडरसन हॉस्टन ने 1881 में कैमरों के पहले रोल फिल्म का पेटेंट कराया।
मिल्स ने 1887 ई. में स्वचालित सीढ़ियों का पेटेंट हासिल किया था।
थियोडोर रूजवेल्ट हवाई जहाज में यात्रा करने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति 1910 में बने।
न्यूयॉर्क में राजनीतिक अभियान के लिए पहला प्रसारण 1932 को किया गया।
‘प्रोफेसर क्विज’ के नाम से रेडियो पर पहले क्विज कार्यक्रम का प्रसारण 1936 ई. को हुआ था।
अमेरिकी राष्ट्रपति रूजवेल्ट ने 1939 में अल्बर्ट आइंस्टीन को पत्र लिखकर अमेरिका के परमाणु कार्यक्रम को तेजी से विकसित करने का आग्रह किया।
च्यांग काई शेकी की सरकार और माओत्से तुंग की कम्युनिस्ट पार्टी के बीच चीनी गृहयुद्ध 1945 ई. को शुरू हुआ था।
अमेरिका का पहला मानवयुक्त ओपोलो मिशन ‘अपोलो 7’ के प्रक्षेपण का कक्षा से पहली बार टेलीविजन प्रसारण 1968 में किया गया।
मध्य अमेरिका का सबसे बड़ा देश पनामा ने 1972 ई. को अपना नया संविधान अमल में लाया था।
माओत्से तुंग की पत्नी जियांग क्वींग और चार अन्य लोगों को चीनी सरकार का तख्ता पलट की साजिश रचने के आरोप में 1976 ई. को गिरफ्तार कर लिया गया था।
अमेरिकी अंतरिक्ष वैज्ञानिक कैथरीन डी सुलिवन 1984 को अंतरिक्ष में सैर करने वाली पहली महिला अंतरिक्ष यात्री बनी। वह अंतरिक्ष शटल चैलेंजर पर सवार थीं।
भारत की शांति सेना ने 1987 को श्रीलंका में ऑपरेशन पवन की शुरुआत की. यह अभियान लिट्टे का कब्‍जा खत्‍म कर जाफना को मुक्‍त कराने के लिए छेड़ा गया था
अमेरिका में कोलोराडो सुप्रीम कोर्ट ने 1994 को राज्य में समलैंगिक विरोधी अधिकारों को असंवैधानिक घोषित कर दिया।
दक्षिण अफ़्रीकी क्रिकेट बोर्ड द्वारा 2000 में हैन्सी क्रोनिए पर आजीवन प्रतिबंध।
त्रिनिदाद में जन्में भारतीय मूल के ब्रिटिश लेखक विद्याधर सूरज प्रसाद नॉयपाल को वर्ष 2001 के नोबेल साहित्य पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा 2001 में की।
नेपाल नरेश ज्ञानेन्द्र ने 2002 में लोकेन्द्र बहादुर को प्रधानमंत्री नियुक्त किया।
तीसरे अंतरिक्ष पर्यटक ग्रेगोरी ओल्सन पृथ्वी पर 2005 को लौटे।
ब्रिटेन के उपन्यासकार डोरिस लैसिंग को 2007 में वर्ष 2007 के साहित्य के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया।
बेल्जियम के एक नेत्रहीन ड्राइवर ने 2008 में धरती पर सबसे तेज गति से गाड़ी चलाने का नया विश्व रिकार्ड बनाया था.
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने 2008 को नौगाँव स्टेशन से हरी झण्डी दिखाकर कश्मीर की घाटी में चलने वाली पहली रेलगाड़ी को रवाना किया।

11 अक्टूबर को जन्मे व्यक्ति
प्रसिद्ध गांधीवादी विचारक और शिक्षाविद मगन भाई देसाई का जन्म 1889 में हुआ।
लोकनायक के नाम से प्रसिद्ध राजनेता और स्वतंत्रता सेनानी जयप्रकाश नारायण का जन्म 1902 में हुआ।
समाजसेवी चंडिका अमृतराव देशमुख का जन्‍म 1916 हुआ था।
‘राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ’ के मज़बूत स्तंभ और प्रख्यात समाजसेवक नानाजी देशमुख का जन्म 1916 में हुआ।
भारतीय अभिनेता अमिताभ बच्चन का जन्म 1942 में हुआ।
भारतीय वैज्ञानिक विजय पी. भटकर का जन्म 1946 में हुआ।

11 अक्टूबर को हुए निधन 
जेम्स प्रेसकॉट जूल का निधन 1889 में हुआ वे अँग्रेज़ भौतिक वैज्ञानिक जिनके नाम पर ऊर्जा का मात्रक का नामकरण जूल किया गया।
महान संगीतज्ञ ऐंटन ब्रॉटनर का निधन 1896 में हुआ।
विवेकानन्द की सहयोगी तथा शिक्षिका तथा समाज सेविका सिस्टर निवेदिता का निधन 1911 में हुआ।
प्रसिद्ध उपन्यासकार, प्रसिद्ध उपन्यास लिज़ौंपो तेख़िबला ज़ाँकोक्तो (ज़ॉमॉख़ीज़ युज़ेनक्लिमो कॉकतो का निधन 1963 में हुआ।
ख़ूबसूरत और गोलमाल सहित 120 से अधिक हिन्दी फ़िल्मों में काम करने वाली प्रसिद्ध अभिनेत्री दीना पाठक का निधन 2002 में हुआ।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram