15 अक्टूबर आज का इतिहास – Historical Events on October 15

स्तों आज जानते हैं 15 अक्टूबर का इतिहास के कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं के बारेंमे, उन लोगों के जन्मदिन के बारेमें जिन्होंने दुनिया में आकर बहुत बड़ा नाम किया साथ ही उन मशहूर लोगों के बारेंमे जो इस दुनिया से चले गए।

15 अक्टूबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
मुग़ल शासक औरंगजेब ने 1686 को बीजापुर के साथ शांति समझौते पर हस्ताक्षर किये।
प्रास और फ्रांस की सेनाओं के मध्य लड़ाई 1806 को आरंभ हुई। इससे एक दिन पहले नेपोलियन ने छह दिवसीय युद्ध में प्रॉस की सेना को पराजित किया था।
नेपोलियन बोनापार्ट हार के बाद निर्वासित जीवन व्यतीत करने 1815 को सेंट हेलेना द्वीप पहुंचे।
कनाडा स्थित फ्रेंच बहुल क्षेत्र क्यूबेक में 1866 को जबरदस्त आग लगने से 2500 मकान जलकर खाक।
अलफ्रेड ड्राइफ़स पर पेरिस में 1894 को मुक़द्दमा आरंभ हुआ। वह यहूदी मूल का फ्रांसीसी अफ़सर था जिस पर चलाया जाने वाला मुक़द्दमा 19वीं शताब्दी में फ्रांस की बहुचर्चित घटना बन गयी।
प्रथम विश्व युद्ध के दौरान नीदरलैंड की प्रसिद्ध नृत्यांगना माता हारी को 1917 में जर्मनी के लिए जासूसी करने के आरोप में फ्रांसीसी सैनिकों ने गोली मारी।
वर्ष का पांचवा उष्णकटिबंधीय तूफ़ान लीवर्ड द्वीप के उत्तर में 1923 को आया।
अमेरिकी राष्ट्रपति काल्विन कूलीड्ज ने 1924 में स्टेच्यु ऑफ लिबर्टी को राष्ट्रीय स्मारक घोषित किया।
टाटा कंपनी ने टाटा सन्स लिमिटेड नामक देश की पहली एयरलाइन की शुरुआत 1932 में की।
टाटा एयरलाइन (जो कालांतर में एयर इंडिया बन गया) की पहली उड़ान 1935 भरी।
त्रिपुरा राज्य को भारत में 1949 को सम्मिलित किया गया।
मिस्त्र की संसद ने स्वेज नहर समझौते को 1951 में रद्द करने के फैसले पर मुहर लगाई।
अफ्रीकी देश ट्यूनीशिया ने 1958 में मिस्र के साथ राजनयिक संबंध समाप्त किए।
सोवियत संघ के नेता निकिता खुर्श्चेव की सेवानिवृति ने 1964 को पूरे विश्व को चौंका दिया.
अनवर सदत मिस्त्र के राष्ट्रपति 1970 को चुने गए।
सोवियत संघ ने 1978 में पूर्वी कजाखस्तान क्षेत्र में परमाणु परीक्षण किया।
उज्ज्वला पाटिल 1988 में पूरी दुनिया की समुद्री यात्रा करने वाली एशिया की प्रथम महिला बनी।
सोवियत संघ के राष्ट्रपति मिखाइल गोर्बाचेव को 1990 में नोबेल शांति पुरस्कार दिया गया।
फिजी व्यापक परीक्षण प्रतिबंध संधि की पुष्टि करने वाला प्रथम देश 1996 को बना।
अरुंधति राय को 1997 में उनके उपन्यास ‘द गॉड आफ़ स्माल थिंग्स’ के लिए ब्रिटेन के सबसे प्रतिष्ठित बुकर पुरस्कार के लिए चुना गया।
ग़रीबी उन्मूलन के लिए भारत की फ़ातिमा बी को 1998 में संयुक्त राष्ट्र पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
चीन ने 12 हज़ार किलोमीटर तक मार करने वाले ‘डी.एफ़.-41 आईसीबीएम’ नामक प्रक्षेपास्त्र का सफल परीक्षण 1999 को किया, जनरल जोसेफ़ रॉलस्टन नाटो के सर्वोच्च वाइस कमांडर नियुक्त।
संयुक्त राष्ट्र संघ ने 2006 में उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लगाया।
अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार अमेरिका के तीन अर्थशास्त्रियों- लियोनिड हरविक्ज, इरिक मस्किन और रोजर मायरसन को 2007 में प्रदान किया गया।
रिजर्व बैंक ने 2008 को सीआरआर में एक फ़ीसदी की कटौती की घोषणा की। अरविन्द अदिग को उनकी पुस्तक ‘द हाइट टाइगर’ के लिए वर्ष 2008 का बुकर पुरस्कार प्रदान किया गया।
ब्रिटिश लेखिका हिलेरी मेंटल को 2012 में उनके उपन्यास “ब्रिंग अप द बडीज़” के लिए मैन बुकर पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
फिलीपीन्स में 2013 को 7.2 की तीव्रता वाले भूकंप से 215 से अधिक लोगों की मौत।

15 अक्टूबर को जन्मे व्यक्ति
मुग़ल शासक अकबर का जन्म 1542 में हुआ।
प्रसिद्ध उपन्यास द गॉडफादर के रचयिता मारियो ग्येनल्यूगी पूजो का जन्म 1920 में हुआ।
इतालवी कैथोलिक पादरी लुइजी जिउसानी का जन्म 1922 में हुआ।
प्रसिद्ध संगीतकार (शंकर जयकिशन) शंकर का जन्म 1922 में हुआ
भारत के 11वें राष्ट्रपति अब्दुल कलाम का जन्म 1931 में हुआ।
प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ एवं छत्तीसगढ़ के दूसरे मुख्यमंत्री रमन सिंह का जन्म 1952 में हुआ।
भारतीय निर्देशक मीरा नायर का जन्म 1957 में हुआ।

15 अक्टूबर को हुए निधन
मध्यकालीन भारत का एक विद्वान् साहित्यकार और फ़ारसी का प्रसिद्ध कवि फ़ैज़ी का निधन 1595 में हुआ।
एक कवि, उपन्यासकार, निबन्धकार और कहानीकार सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला का निधन 1961 में हुआ।
पद्म भूषण से सम्मानित प्रसिद्ध चित्रकार एवं मूर्तिकार देवी प्रसाद राय चौधरी का निधन 1975 में हुआ।
भारत के स्वतंत्रता संग्राम में क्रान्तिकारियों की प्रमुख सहयोगी दुर्गा भाभी का निधन 1999 में हुआ।
कंबोडिया के राजा नोरोदम शिनौक का निधन 2012 में हुआ।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *