26 जनवरी का इतिहास – 26 January Today Historical Events

26 जनवरी का दिन वैसे तो हर भारतवासी के लिए गौरवमय और काफी महत्वपूर्ण दिन है, क्योंकि इसी दिन 1950 को भारत का संविधान लागू हुआ था और हम इसे गणतंत्र दिवस के रुप में मनाते हैं।
इसके अलावा भी 26 जनवरी की तारीख कई महत्वपूर्ण ऐतिहासिक घटनाओं की ग्वाह बनी। यही नहीं इस दिन कई ऐसे व्यक्तियों ने जन्म लिया, जिन्होंने विश्व स्तर पर अपनी पहचान बनाई।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

इस दिन नए प्रांत की स्थापना हुई, शांति संधि हुई इसके अलावा 26 जनवरी से जुड़े कई और महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में हम आपको अपने इस आर्टिकल में बताएंगे, जो कि इस प्रकार हैं-

26 जनवरी का इतिहास – 26 January Today Historical Events

6 जनवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ – Important events of January 26

फ्रांस ने इंग्लैड के ख़िलाफ़ 1666 में युद्ध की घोषणा की।
ब्रिटेन, नीदरलैंड, ऑस्ट्रेलिया और सार्डिनिया ने फ्रांस विरोधी संधि पर साल 1748 में हस्ताक्षर किए।
हांगकांग 1841 में ब्रिटिश कब्जे में चला गया।
ब्रिटिश जनरल चार्ल्स गार्डन 1845 में सूडान में मारे गये।
मिशगन को अमेरिका का 1837 में 26वां प्रांत बनाया गया। इससे पहले फ्रांस की हार के बाद यह ब्रिटिश शासन के अधीन था, अमेरिकी क्रांतिकारी युद्द के बाद मिशगन को संयुक्त राज्य को सौंपा गया था।
दक्षिण अफ्रीका में 1905 में हुयी खुदाई में दुनिया का सबसे बड़ा 3106 कैरेट का हीरा कलिनन मिला।
ब्रिटिश शासन के अंतर्गत भारत में 1930 में पहली बार स्वराज दिवस मनाया गया।
1931 में ‘सविनय अवज्ञा आंदोलन’ के दौरान ब्रिटिश सरकार से बातचीत के लिए महात्मा गांधी रिहा किया गया।
ऑस्ट्रिया और हंगरी ने 1931 में ‘शांति संधि’ पर हस्ताक्षर किये।
पौलैंड और जर्मनी के बीच 1934 में दस वर्षीय अनाक्रमण संधि हुई।
सन 1950 में भारत एक संप्रभु लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित हुआ और भारत का संविधान लागू हुआ।
स्वतंत्र भारत के पहले और अंतिम गवर्नर जनरल चक्रवर्ती राजगोपालाचारी ने 1950 में अपने पद से त्यागपत्र दिया और डॉ. राजेंद्र प्रसाद देश के पहले राष्ट्रपति बने।
उत्तर प्रदेश के सारनाथ स्थित अशोक स्तंभ के शेरों को 1950 में राष्ट्रीय प्रतीक की मान्यता मिली।
वर्ष 1937 में गठित भारतीय संघीय न्यायालय (‘फैडेरल कोर्ट ऑफ इंडिया’) का नाम 1950 में बदलकर सर्वोच्च न्यायालय (‘सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया’) कर दिया गया
दक्षिणी अवाजी द्धीप के पास 1958 में जापानी नाव ननकई डूब गई , जिससे करीब 167 लोगों की मौत हो गई।
मोर के अद्भुत सौंदर्य के कारण भारत सरकार ने 26 जनवरी 1963 को इसे राष्ट्रीय पक्षी घोषित किया।
युद्ध में शहीद सैनिकों की याद में दिल्ली के इंडिया गेट पर 1972 में राष्ट्रीय स्मारक ‘अमर जवान ज्योति’ की स्थापना की गयी।
पूर्वोत्तर भारत में हवाई यातायात सुगम बनाने को ध्यान में रखते हुए 1981 में हवाई सेवा वायुदूत प्रारम्भ हुई।
पर्यटकों को विलासितापूर्ण रेल यात्रा का आनंद दिलाने के लिए 1982 में भारतीय रेल ने पैलेस ऑन व्हील्स सेवा शुरू की।
पाकिस्तान के रावलपिंडी में 1994 में प्रथम महिला पुलिस थाने का उद्घाटन।
महिलाओं के यौन शोषण पर विश्व सम्मेलन का बांग्लादेश के ढाका में 1999 में आयोजन।
सन 2000 में कोंकण रेलवे परियोजना पूर्ण हुई और प्रथम यात्री गाड़ी चलाई गयी।
गुजरात के भुज में 2001 में हुए जबरदस्त भूकंप में हजारों लोगों की जाने गयी।
साल 2001 में संगीतकार लता मंगेश्कर को भारत का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न दिया गया।
26 जनवरी, 2001 को प्रख्यात शहनाई वादक उस्ताद बिस्मिल्ला ख़ाँ को देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया।
2003 के गणतंत्र दिवस समारोह में ईरान के राष्ट्रपति ‘सैयद मोहम्म्द खातमी’ शामिल हुए।
माइक्रोसॉफ्ट अध्यक्ष बिल गेट्स को ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ ने 2004 में ‘नाइट’ की उपाधि प्रदान करने की घोषणा की।
अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजई ने 2004 में देश ने नए संविधान पर हस्ताक्षर किए।
2008 में 59वें गणतन्त्र दिवस के अवसर पर देश की पहली महिला राष्ट्रपति प्रतिभाताई पाटिल ने परेड की सलामी ली।
एन.आर. नारायणमूर्ति को 2008 में फ्रांस सरकार के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘द ऑफिसर ऑफ द लीजन ऑफ ऑवर’ से सम्मानित किया गया।
भारत की पहली महिला राष्ट्रपति एवं क्रमानुसार 12वीं राष्ट्रपति प्रतिभाताई पाटिल ने 2010 में पद्म पुरस्कार पाने वाली 130 व्यक्तियों के नामों की घोषणा की। इनमें रंगमंच जगत् की किंवदंति इब्राहिम-अल-क़ाज़ी और जोहरा सहगल, ऑस्कर विजेता ए आर रहमान और रसूल पोकुटटी, मशहूर अदाकार रेखा और आमिर ख़ान, फार्मूला़ रेसर नारायण कार्तिकेयन, बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के गुरु रमाकांत आचरेकर और क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग शामिल हैं।
2014 में अंडमान और निकोबार द्धीप समूह में एक पर्यटक नाव डूब गई जिसमें लगभग 21 लोग मारे गए।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

26 जनवरी को जन्मे व्यक्ति – Born on 26 January

26 जनवरी की तारीख बेहद महत्वपूर्ण इसलिए भी है, क्योंकि इस दिन रानी गाईदिनल्यू, देवनाथ पांडे ‘रसाल’, प्रदीप सोमासुंदरन समेत तमाम खास शख्सियत ने जन्म लिया।

1915 में भारतीय महिला स्वतंत्रता सेनानी रानी गाइदिनल्यू का जन्म।
1918 राजनीतिज्ञ भगवत दयाल शर्मा का जन्म।
1923 में प्रसिद्ध कवि देवनाथ पाण्डेय ‘रसाल’ का जन्म।
1933 को निर्देशक अनिल गांगुली का जन्म।
1967 में भारतीय पार्श्वगायक प्रदीप सोमासुंदरन का जन्म।

26 जनवरी को हुए निधन – Died on 26 January

यह दिन बेहद यादगार इसलिए है कि क्योंकि इस दिन कई खास लोग इस दुनिया को छोड़ कर चले गए और इतिहास के पन्नों में अपना नाम हमेशा के लिए दर्ज कर गए।

प्रसिद्ध कायचिकित्सक एडवर्ड जेनर की मृत्यु 1823 में हुयी।
भारत के स्वतंत्रता-संग्राम के राष्ट्रवादी क्रान्तिकारी मानवेन्द्र नाथ राय की मृत्यु 1954 में हुयी।
स्वतंत्रता सेनानी माधव श्रीहरि अणे की मृत्यु 1968 में हुयी।
प्रख्यात इतिहासकार विलियम दाएकिन की मृत्यु 2005 में हुयी।
पंजाबी, हिंदी और उर्दू भाषाओं में लिखने वाले प्रसिद्ध साहित्यकारक करतार सिंह दुग्गल की मृत्यु 2012 में हुयी।
2012 में राजनीतिज्ञ एमओएएच फारूक की मृत्यु।
अभिनेता माइक कोनर्स की 2017 में मृत्यु।
रुस के राजनीतिज्ञ एजेक्जेंडर मिखाइलोविच कदाकिन की 2017 मृत्यु।

26 जनवरी के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव – Important events and
festivities of 25 January

यह तो हम सभी जानते हैं कि 26 जनवरी के दिन भारत का संविधान लागू होने की वजह से इसे गणतंत्र दिवस के रुप में हर साल मनाते हैं। इसके अलावा 26 जनवरी को अंतराष्ट्रीय सीमा शुल्क दिवस और जम्मू और कश्मीर की स्थापना दिवस के रुप में भी बनाते हैं।

गणतंत्र दिवस
अंतराष्ट्रीय सीमा शुल्क दिवस
जम्मू और कश्मीर स्थापना दिवस

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram