IPSOS – देश में 19 फीसदी लोग ही सीएए के खिलाफ हैं, जबकि 75 फीसदी केंद्र के साथ

दिल्ली से लेकर देश भर में नागरिकता विवाद पर इन दिनों विरोध के स्वर उठे हैं। जगह-जगह CAA, NRC के खिलाफ प्रदर्शन भी मुखर हुए। कुछ जगह इन प्रदर्शनों ने हिंसा का रूप भी लिया। ऐसे में माना जा रहा है कि लोग बड़े स्तर पर मोदी सरकार द्वारा लाए संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ हैं।इसी बीच, शुक्रवार को IPSOS – TIMES NOW का एक पोल आया है। सर्वे में बताया गया है कि देश में 19 फीसदी लोग ही सीएए के खिलाफ हैं, जबकि 75 फीसदी ने इसे केंद्र का सही कदम करार दिया है। वहीं, छह प्रतिशत लोगों ने कहा कि वह इस पर कुछ भी नहीं कह सकते हैं।

Delhi Assembly Elections 2020 से ऐन पहले आए इस पोल में लोगों से कुछ सवाल भी पूछे गए। ‘क्या आप CAA के बारे में जानते हैं?’ पर 27% लोगों ने कहा अच्छे/गहराई से। 22 फीसदी ने माना कि उन्हें इस बारे में ठीक-ठाक जानकारी है, जबकि 12 प्रतिशत जनता ऐसी रही, जिसे इस मुद्दे पर कुछ ही चीजें पता हैं। 11 फीसदी को इस पर थोड़ी सूचना और 28% इस बारे में रत्ती भर भी नहीं जानते हैं।

सर्वे में पूछा गया कि क्या सरकार ने CAA के बारे में पूरी और सही जानकारी मुहैया कराई? 56 फीसदी लोगों ने कहा- हां। 26 प्रतिशत बोले कि आंशिक जानकारी थी। 13 प्रतिशत ने बताया कि सरकार ने कुछ भी नहीं बताया। और, पांच फीसदी को तो इस बारे में मालूम भी नहीं है। शाहीन बागवासियों द्वारा जारी धरना प्रदर्शन पर क्या राय है? 21 फीसदी लोग बोले कि वे जो कर रहे हैं, वह न्यायोचित है। 55 फीसदी ने इसे गलत ठहराया, जबकि 24 फीसदी ने कहा कि उन्हें इस बारे में पता नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram