YEAR ENDER: मेरीकॉम, पीवी सिंधु, हिमा दास… इन महिला खिलाड़ियों ने दिखाया दम

‘मैग्नीफिशेंट मेरी’ के नाम से मशहूर भारतीय महिला मुक्केबाज एमसी मेरीकॉम इस साल सुर्खियों में रहीं. 36 साल की मेरीकॉम विश्व महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप-2019 के सेमीफाइनल में हार के बावजूद इस साल कीर्तिमान रचने में कामयाब रहीं. दरअसल, 51 किलोग्राम भारवर्ग के सेमीफाइनल (12 अक्टूबर, उलान उदे- रूस) में उन्हें तुर्की की बुसेनाज काकिरोग्लू के खिलाफ हार झेलनी पड़ी. इस हार के साथ ही छह बार की विश्व चैम्पियन मेरीकॉम को इस बार कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा. महिला विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में मेरीकॉम का यह 8वां पदक रहा.

 

मेरीकॉम के नाम इस साल जुड़ा बड़ा रिकॉर्ड

पुरुष और महिला दोनों विश्व चैम्पियनशिप की बात करें, तो मेरीकॉम ने सर्वाधिक 8 पदक अपने नाम कर लिये. यानी महिला या पुरुषों दोनों वर्गों ने सर्वाधिक विश्व चैम्पियनशिप पदक अब मेरीकॉम के नाम हैं. उन्होंने पुरुष मुक्केबाज क्यूबा के फेलिक्स सेवॉन (1986-1999) को पीछे छोड़ा, जिनके नाम विश्व चैम्पियनशिप में 7 पदक थे.

स्मृति मंधाना

साल के आखिर में भारत की सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने बड़ा सम्मान दिया. उन्हें आईसीसी की वर्ष-2019 की वनडे और टी-20 दोनों टीमों में स्थान मिला. मंधाना के साथ साल की वनडे टीम में झूलन गोस्वामी, पूनम यादव और शिखा पांडे हैं और टी-20 में ऑलराउंडर दीप्ति शर्मा हैं और बाएं हाथ की स्पिनर राधा यादव हैं.

हरमनप्रीत कौर

भारतीय महिला टी-20 की कप्तान हरमनप्रीत कौर 100 टी-20 इंटरनेशनल खेलने वाली पहली भारतीय बल्लेबाज बन गईं. मजे की बात है कि हरमनप्रीत कौर महिला और पुरुष दोनों वर्गों में यह उपलब्धि हासिल करने वाली पहली भारतीय हैं. हरमनप्रीत कौर के बाद रोहित शर्मा ने अपना 100वां टी-20 इंटरनेशनल मैच खेला.

पीवी सिंधु

ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधु ने स्विट्जरलैंड में बीडब्ल्यूएफ बैडमिंटन वर्ल्ड चैम्पियनशिप-2019 के फाइनल में जापान की नोजोमी ओकुहारा को मात देकर इतिहास रच दिया. 25 अगस्त को वर्ल्ड चैम्पियनशिप 2019 के फाइनल में सिंधु ने जीत दर्ज करते हुए गोल्ड मेडल जीता. सिंधु वर्ल्ड चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बनीं. बता दें कि इससे पहले बैडमिंटन वर्ल्ड चैम्पियनशिप में भारत के लिए महिला और पुरुष वर्गों में से अब तक किसी ने गोल्ड मेडल नहीं जीता था.

हिमा दास

भारत की युवा एथलीट हिमा दास ने जुलाई में शानदार प्रदर्शन किया. हिमा ने एक महीने (जुलाई) में पांच स्वर्ण पदक अपने नाम किए. हिमा ने दो जुलाई को पोलैंड में, सात जुलाई को पोलैंड में ही कुंटो एथलेटिक्स मीट में, 13 जुलाई को क्लाइनो (चेक गणराज्य में), 17 जुलाई को चेक रिपब्लिक में टाबोर ग्रां प्री में और 21 जुलाई को चेकगणराज्य में ही नोवे मेस्टो नाड मेटुजी ग्रां प्री में गोल्ड जीता.

जीएस लक्ष्मी

भारत की जीएस लक्ष्मी आईसीसी मैच रेफरी के अंतरराष्ट्रीय पैनल में शामिल होने वाली पहली महिला बनीं. 51 साल की लक्ष्मी घरेलू महिला क्रिकेट में 2008-09 से मैच रेफरी की भूमिका निभाती रही हैं.

मनु भाकेर

भारतीय निशानेबाज मनु भाकेर और सौरभ चौधरी की जोड़ी ने 27 मार्च को बड़ी उपलब्धि हासिल की है. ताइपे के ताओयुआन में 12वीं एशियाई एयरगन चैम्पियनशिप में इस जोड़ी ने दस मीटर एयर पिस्टल मिश्रित टीम में क्वालिफिकेशन में विश्व रिकॉर्ड बनाया और बाद में इस स्पर्धा का स्वर्ण पदक भी जीता. क्वालिफिकेशन में 17 साल की मनु और 16 साल के सौरभ ने मिलकर 784 अंक बनाए तथा रूस की वितालिना बातसरासकिना और आर्तम चेर्नोसोव के पांच दिन ही पहले यूरोपीय चैम्पियनशिप में बनाए गए रिकॉर्ड को तोड़ा.

विनेश फोगाट

महिला पहलवान विनेश फोगाट 17 जनवरी 2019 को प्रतिष्ठित लॉरियस वर्ल्ड स्पोटर्स अवॉडर्स के लिए नामांकित होने वाली पहली भारतीय बनीं. विनेश को महान गोल्फर टाइगर वुड्स के साथ ‘वर्ल्ड कमबैक ऑफ द ईयर (साल में वापसी करने वाली सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी)’ कैटेगरी में नामांकित किया गया था.

 

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram