कृषि कानून के विरोध में युवा कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने कृषि भवन पर किया प्रदर्शन, श्रीनिवासन ने कहा मोदी अपनी मन की बात करते किसानों की नहीं सुनते

– वीरेन सिंह
नई दिल्ली। केंद्र सरकार द्वारा पारित किये गए नए कृषि कानून के विरोध में सोमवार को भारतीय युवक कांग्रेस द्वारा नई दिल्ली स्थित कृषि भवन पर विशाल प्रदर्शन किया गया। इस मौके पर प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए भारतीय युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी. वी. श्रीनिवास ने कहा कि हाड़कपाती ठंड में जब कोरोना के डर से आम जनता दिल्ली छोड़ रही है, वही देशभर का किसान दिल्ली के सभी प्रवेश मार्गो पर मुस्तैदी से जमा हुआ है और सरकार से इन कानूनों को वापस करने की मांग को लेकर अहिंसात्मक आंदोलन कर रहा है। विगत 25 दिनों में 25 से ज्यादा किसान की इस आंदोलन में मौतें हो चुकी हैं लेकिन केंद्र सरकार इन किसानों को चिंता नहीं दिख रही है। ऊपर से देश के प्रधानसेवक नरेंद्र मोदी अपने मन की बात तो कर रहे लेकिन किसानों की मन की बात नहीं सुन रहे।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

वहीं इस विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व दिल्ली युवक कांग्रेस के प्रभारी भैया पवार ने किया। इस मौके पर श्रीनिवासन ने कहा कि मैं इस सरकार को यह याद दिलाना चाहता हूं कि किसानों ने अंग्रेजों की निष्ठुर सरकार को भी आज के ठीक 100 साल पहले कृषि संबंधी तीन कठिया कानून को वापस करने के लिए मजबूर कर दिया था तो यह काले अंग्रेजों वाली मोदी सरकार किस घमंड में चूर है?

भारतीय युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रभारी व एआईसीसी के संयुक्त सचिव कृष्णा अल्लावरु ने कहा कि राज्यसभा में भाजपा के पास बहुमत ना होने के बावजूद भी जिस धूर्तता और तानाशाही से इन कानूनों को राज्यसभा से पारित कराया गया वह लोकतंत्र की हत्या है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार किसानों के इस आंदोलन पर संसद में जवाब देने से कतरा रही है, इसीलिए संसद का शीतकालीन सत्र भी आहूत नहीं कर रही।
दिल्ली युवक कांग्रेस के प्रभारी पवार ने कहा कि पिछले 2 वर्ष से भारत के कई राज्यों में अंबानी और अडानी जमीनों का अधिग्रहण करके अनाज भंडारण के गोदामों का निर्माण कर रहे हैं। इससे साफ जाहिर होता है कि सरकार काले कानूनों के माध्यम से किसे लाभ पहुंचाना चाहती है और किसका गला घोटना चाहती है।

इस विरोध प्रदर्शन में दिल्ली युवक कांग्रेस के प्रभारी भैया पवार सहित भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव प्रतिभा रघुवंशी, दिल्ली प्रदेश युवा कांग्रेस के उपाध्यक्ष रणविजय लोचव, उपाध्यक्ष शुभम शर्मा, भारतीय युवा कांग्रेस राष्ट्रीय सचिव मोहित चौधरी और अनेकों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

 

 

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram