(हमीरपुर बुलेटिन)  नवरात्रि पर देवी मंदिरों में लगा रहा श्रद्धालुओं का तांता, पढ़े दिनभर की पूरी खबर..

1 – चौरादेवी मंदिर में बारिश से हुए जलभराव में कई महिलायें गिरी

जिले में रविवार से नवरात्रि पर्व की धूम शुरू हो गयी है। ऐतिहासिक देवी मंदिरों में पूजा और अर्चना के लिये दोपहर बाद श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी जो रविवार को देर सायं तक दर्शन के लिये मंदिरों के बाहर लोगों का तांता लगा हुआ है।

प्रसिद्ध चौरादेवी मंदिर में लगातार बारिश से घूटने तक पूरे प्रांगण में पानी भर गया है, जिससे कई महिलायें गिरते पड़ते माता के दरबार में हाजिरी लगाने पहुंची। देवी पंडाल में मां के जयकारा के गूंज रहे है।

शारदीय नवरात्रि पर वैसे देखा जाये तो खराब मौसम के कारण लोग सुबह से घरों में ही दुबके रहे लेकिन दोपहर बाद देवी मंदिरों में पूजा अर्चना के लिये श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। ऐतिहासिक चौरादेवी मंदिर, गौरादेवी, दुर्गा मंदिर, बड़ी माता मंदिर सहित कई देवी मंदिरों में नवरात्रि के पहले दिन श्रद्धालुओं ने व्रत रखकर पूजा अर्चना करने पहुंचे है। अभी भी मंदिरों में लोगों की भीड़ देखी जा रही है। गौरादेवी मंदिर में तो मां के भक्तों ने हवन का आयोजन किया। नगर के सुभाष बाजार, न्यू सिटी माण्टेशरी पब्लिक स्कूल के सामने भी अबकी मर्तबा माँ का दरबार सजाया गया है। यहाँ देवी प्रतिमा को विधि विधान से स्थापित कर माता के जयकारा से उद्घोष किया गया। नवरात्र के चलते नगर के मुख्य मार्गो में भारी चहल पहल नजर आ रही है। नंगे पैरो महिलाओं के झुण्ड पूजन अर्चना की सामग्री लिए जाते देखे गये नगर के चौरा देवी मंदिर, दुर्गादेवी, बड़ी देवी, शीतला देवी, फूलारानी, कालीमैया, गौरा देवी आदि मंदिरो में उमड़ रही भीड़ नजर आती है। इन दिनों धार्मिक अनुष्ठान जगह-जगह होते नजर आ रहे है। इस पर्व के चलते नगर में भक्ति भाव का माहौल नजर आ रहा है। श्रद्धालुओं ने पहले दिवस पर जवारा बोकर कलश स्थापना के साथ दुर्गा सप्तशती पाठ कर मां भगवती का महिमा का गुणवान किया। देवादास मंदिर में भव्य आकर्षक छोटे बच्चो के धार्मिक झांकिया दर्शनीय बन पड़ी है। महाआरती देखने को श्रद्धालुओं का जमघट उमड़ पड़ता है। राजदरबार की ओर से प्रसाद वितरण की व्यवस्था की गयी है। नवयुवक संघ राजदरबार विधि से पूजन अर्चना व गाजो बाजों के साथ वैदिक मंत्रोच्चार व अखण्ड जयोति प्रज्जवलित करके की गयी।

राजदरबार के संरक्षक संजय दीक्षित समाज सेवी दीपू धुरिया, रिंकू, गगन, नीरज, नीलू, सोनू, मोनू, नितिन, लालू, मोहित, पुन्नी, सचिन, सुरेन्द्र, दीपक, मनीष, सतीष, गंगाबाब, राजकुमारी, मालती,समेत तमाम लोग मौजूद रहे उधर सरीला में नवरात्रि पर्व की आज पूरे क्षेत्र में धूम मच गयी है। माँ भुवनेश्वरी मन्दिर में श्रद्धालुओं की लम्बी कतारें लगी है। नवरात्रि के पहले दिन माँ शैलकुमारी की पूजा श्रद्धालुओं ने विधि विधान से की। जिले के मौदहा, राठ व कुरारा क्षेत्र में भी नवरात्रि पर्व की धूम शुरू हो गयी है।

इधर नवरात्रियों में मौदहा कस्बे में ब्रम्हचारणी देवी की झांकियां सजाई गयी है। जिनमें शाम होते ही दर्शनों के लिए भारी भीड़ उमड़ पड़ी है। वहीं इस मौके पर आकर्षक देवी पाण्डाल सजाने की होड़ लगी रही है। कस्बे में लगभग दो दर्जन स्थानों में देवी पाण्डाल सजाया गया है। जिनमें आज ब्रम्हचारणी देवी की झांकी दिखाई गयी है। तहसील मार्ग स्थित सिंचाई विभाग में नवदुर्गे नव युवक आस्था समिति के संरक्षक प्रहलाद सिंह, अध्यक्ष जे के गुप्ता, आकाश त्रिपाठी, अवध किशोर, नितिन सिंह ने बताया की इस वर्ष की पाण्डाल एवं लाईट व्यवस्था के लिए कानपुर से नवीन पाण्डाल एवं लाईट सर्विस को बुलाया गया है। लगातार नौ दिनों तक देवी जी की सुन्दर झांकियां दिखाई जायेंगी। वहीं कस्बे के रामनगर, रामलीला मैदान, अरतरा तिराहा, स्टेट बैंक, एच ड़ी एफ सी बैंक, सहकारी बैंक, क्योटरा, गुड़ाही बाजार, रेलवे स्टेशन, यूपी ग्रामीण बैंक के पास, टेवन बाबा सहित अन्य स्थानों पर भी आकर्ष पाण्डाल सजाया गया है। जहां आयोजकों ने ब्रम्हचारणी देवी की सुन्दर झांकियां सजाई हैं।

मन्दिर के पुजारी पतरिया बाबा ने बताया कि नवरात्रि में मां की विशेष पूजा अर्चना की जा रही है। यहां पर तड़के से दर्शकों के लिए देवगांव के अलावा सिमनौड़ी, गहतौली, भमौरा, जलाला, पत्यौरा, बड़ागांव आदि गांवों से सैकड़ों लोग आते है। कस्बे में गायत्री तपोभूमि में विराजमान मां गायत्री शक्ति पीठ में दर्शन को भारी भीड़ उमड़ रही है। इंगोहटा के मुमुक्ष आश्रम के शक्ति पीठ मन्दिर में त्रिशक्ति माता के दर्शनों को भारी भीड़ उमड़ रही है। बिदोखर के गांवटी मन्दिर, काली माता मन्दिर को भव्य रूप दिया गया है। सुबह शाम इन मन्दिरों में देवी भक्तों का तांता लगता है।

2 – गातार बारिश से गरीबों के ढहे मकान, एडीएम ने मांगी सर्वे कर रिपोर्ट

-बाढ़ के बाद अब बारिश से उजड़ रहे लोगों के आशियानें

जिले में कई दिनों से हो रही बारिश से रविवार को एक रिहायशी मकान ढह गया, जिससे पूरा परिवार बाल-बाल बच गया। बाढ़ प्रभावित दर्जनों गांवों में भी सैकड़ों कच्चे मकान गिर गये। अपर जिलाधिकारी ने एसडीएम को टीम गठित कर सर्वे कराने के निर्देश दिये हैं।

जिले के मौदहा क्षेत्र के टिकरी गांव में बद्रीप्रसाद का रिहायशी मकान बारिश के कारण ढह गया, जिससे उसकी पूरी गृहस्थी बर्बाद हो गयी। गनीमत रही कि जिस समय मकान भरभराकर गिरा उससे पहले ही घर लोग किसी काम से बाहर आए थे। बद्रीप्रसाद भूमिहीन है जिसे अभी तक प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना का लाभ भी नहीं मिला है। इनके बेटे मजदूरी कर घर का खर्चा चलाते हैं। घर गिरने के बाद बद्रीप्रसाद के परिवार बेघर हो गये।

मुस्करा क्षेत्र में भी बारिश का कहर देखने को मिला। यहां कई गांवों में रविवार को भी कच्चे मकान गिर गए। बाढ़ प्रभावित डिग्गी, भोला का डेरा, केसरिया का डेरा, रमेड़ी, चंदुलीतीर, सिडऱा, अमिरता सहित दर्जनों गांवों में लगातार हो रही बारिश से सैकड़ों की संख्या में कच्चे मकान गिर गये हैं। सितम्बर माह में हो रही बारिश ग्रामीणों के लिये मुसीबत बन गयी है।

अपर जिलाधिकारी विनय प्रकाश श्रीवास्तव ने बताया कि बारिश से कच्चे मकानों के लगातार गिरने की सूचनायें मिल रही हैं। इसके लिये एसडीएम को निर्देश देकर टीमें गठित कर सर्वे कराया जा रहा है। पीड़ित लोगों की सूची तैयार कर दैवीय आपदा के तहत मदद दिलायी जायेगी। उन्होंने बताया कि बाढ़ के बाद अब बारिश से नुकसान हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram