(हमीरपुर बुलेटिन) 701 साल पुराने ज्वाला देवी मंदिर में ईट से अनवरत जलती है ज्वाला, पढ़े दिनभर की खबर

हमीरपुरः 701 साल पुराने ज्वाला देवी मंदिर में ईट से अनवरत जलती है ज्वाला
-शक्तिपीठ के रूप में प्रसिद्ध है ज्वाला देवी का पवित्र दरबार
हमीरपुर ब्यूरो। हमीरपुर जिले में ज्वाला देवी का इतिहास सैकड़ों साल पुराना हैं जो शक्तिपीठ के रूप में प्रसिद्ध हैं। यहां प्रसाद के रूप मेें पूड़ी, गुड़ व चने की दाल से बनी रोठ मां ज्वाला देवी के दरबार में
चढ़ाने की परम्परा कायम सदियों से कायम है। यहां चौबीसों घंटे ज्वाला देवी की अद्भुत ईट से अनवरत ज्वाला (दीपक) निकलती रहती हैं। नवरात्रि पर्व पर
यहां मंदिर में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ पूजा और अर्चना के लिये उमड़ रही हैं। जिले के सिसोलर थाना क्षेत्र का भंभई गांव एतिहासिक रूप से आज भी पूरे
क्षेत्र में विख्यात हैं। ये गांव बांदा-मौदहा व सुमेरपुर-टिकरी मार्ग से चार किमी दूरी पर स्थित हैं। टैम्पो व निजी वाहनों से मौदहा अथवा सुमेरपुर से इस गांव तक जाने का मार्ग इन दिनों बारिश के कारण कठिन हो गया हैं। गांव तक पहुंचने के मार्ग जर्जर है इसके बाद भी देवी भक्त बड़े ही उत्साह के साथ पूजा अर्चना के लिये यहां मंदिर पहुंचते हैं।
शादी विवाह और अन्य किसी मांगलिक कार्य सम्पन्न कराने को ज्यादातर लोग सुमेरपुर-टिकरी मार्ग से होते हुये भंभई गांव स्थित इस स्थान पर जाते हैं। गांव के बाहर मां ज्वाला देवी का पवित्र स्थान हैं जहां सिर्फ
शक्तिपीठ की पूजा ही होती हैं। मंदिर में कोई प्रतिमा स्थापित नहीं हैं।
शक्तिपीठ में सिर्फ एक ईट रखी हैं जिसमें सैकड़ों साल का अतीत छिपा हैं। यह स्थान हमीरपुर, बांदा, महोबा, फतेहपुर व मध्यप्रदेश के कई इलाकों में
विख्यात हैं। हर रोज दर्शन करने के लिये यहां श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ती हैं। तीज त्यौहारों में तो शक्तिपीठ में तिल रखने को भी जगह नहीं
थी। पूर्व ग्राम प्रधान दिनेश शुक्ला व महंत रतन ब्रह्मचारी ने सोमवार को बताया कि मां ज्वाला देवी के दरबार का इतिहास सैकड़ों साल पुराना हैं जहां
प्रतिदिन पूजा अर्चना करने के लिये देवी भक्तों की भारी भीड़ जुटती हैं।
नवरात्रि पर्व के दूसरे दिन सुबह से ही इस पवित्र स्थान में लोगों की भीड़ पूजा अर्चना के लिये उमड़ी है। गांव के लोग मंदिर के बाहर आने जाने वाले
श्रद्धालुओं को मदद भी करते हैं ताकि उन्हें कोई दिक्कतें न उठानी पड़े।
मंदिर में मां को परम्परागत प्रसाद अर्पित करने के बाद भक्त लोग अद्भुत ईट के दर्शन जरूर करते हैैं। क्योंकि यह ईट बड़ी ही चमत्कारी है जिसे ध्यान लगाकर मन्नतें मांगने पर मां ज्वाला देवी मनोकामना जरूर पूरी करती हैं।
701 साल पुरानी है मां ज्वाला की शक्तिपीठ
गांव के बुजुर्ग आदित्य शुक्ला व पूर्व प्रधान दिनेश शुक्ला ने बताया कि मां ज्वाला देवी के दरबार का इतिहास कम से कम सात सौ साल पुराना है। हर
एक की इस दरबार से मुरादें पूरी होती हैं। साल भर तक यहां बड़ी संख्या में लोग आते हैं। शक्तिपीठ में सिर्फ पूड़ी, गुड़ व चने की दाल से बनायी गयी
रोठ ही प्रसाद के तौर पर चढ़ाया जाता हैं। यह प्रसाद मां को प्रिय भी हैं। इस तरह के प्रसाद को चढ़ाने की परम्परा भी सैकड़ों सालों से चली आ रही हैं
जो मौजूदा समय में भी कायम है।
संत से भुर्जी जाति के बुजुर्ग को मिली थी ईट
पूर्व प्रधान दिनेश शुक्ला ने बताया कि गांव के भुर्जी जाति के एक बुजुर्ग व्यक्ति घर से चारो धाम की तीर्थयात्रा पर पैदल निकला था। उसे जंगल में एक संत मिल गये। बीहड़ केे बीच साधना में बैठे संत ने उसे अपने पास बुलाया और थोड़ा आराम करने के लिये कहा। संत की बात मानकर भुर्जी वहीं बैठ गया था। उसने देखा कि संत के पास एक दिव्य ईट रखी हैं जिसमें ज्वाला जल रही है। संत ने भुर्जी से कहा कि इस ईट से बड़ा कोई और तीर्थ नहीं होगा। ये विधि विधान से स्थापित भी हैं।
2- मंजुल खरे मयंक की स्मृति दिवस पर सभी कालेजों के मेधावी विद्यार्थी सम्मानित

-एक तिथि में ही जन्मदिवस और निर्वाण दिवस के संयोग पर कवियों ने किया उन्हें याद

हमीरपुर ब्यूरो। हमीरपुर के विख्यात कवि मंजुल मयंक खरे का सोमवार को जन्मदिन और निर्वाण दिवस मनाते हुये उन्हें साहित्यकारों और रचनाकारों ने
श्रद्धांजलि दी है। मयंक राज्य शिक्षक पुरस्कार एवं हिन्दी साहित्य सम्मेलन से सम्मानित हुये थे। उनके लिखित गीत आज भी फिल्मों में सुने जाते है।

हमीरपुर नगर के मिश्राना मुहाल निवासी गणेश प्रसाद खरे उर्फ मंजुल मयंक का जन्म 30 सितम्बर 1922 को हुआ था। ये स्थानीय विद्यामंदिर इण्टरकालेज
में हिन्दी के शिक्षक रहे हैं। इन्होंने गीत नवनीत, जनता ही अजन्ता हैं, रूपरागिनी, तन मन की भांवरें, गांव का राजा व अंधेरा मिटेगा दिया तो जलाओ सहित कई गीत काव्य और रचनायें लिखी है। उनके द्वारा लिखा गया गीत जिस गली में तेरा घर न हो बालमा, सत्यम शिवम सुन्दरम फिल्म में यशोमति मैया से बोले नंदलाला व चना जोर गरम बाबू मैं लाया मजेदार चना जोर गरम.. सहित कई गीत पुरानी फिल्मों में आज भी सुने जा सकते हैं। इस कवि का निधन भी 30
सितम्बर 2007 को हुआ था। स्थानीय नगर पालिका परिषद के रैन बसेरा में मयंक की प्रतिमा का माल्यार्पण करते हुये छोटी बेटी वन्दना खरे, दामाद
राघवेन्द्र वर्मा ने श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर  पूर्व पालिका अध्यक्ष राजेश सचान, लखनलाल जोशी, प्रेमपाल द्विवेदी सहित अन्य तमाम समाजसेवियों
ने मयंक को याद किया।
मयंक की स्मृति में मेधावी विद्यार्थी सम्मानित
स्थानीय नगर पालिका परिषद के व्यायामशाला सभागार में मयंक की स्मृति में बुन्देलखण्ड अभिव्यक्ति साहित्यिक संस्था के तत्वाधान में मंजुल मयंक स्मृति पर आयोजित मेधावी छात्र सम्मान समारोह में कई विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया। समारोह ने नगर के सभी इण्टरमीडियेट कालेजों के मेधावी छात्र छात्राओं का अलंकरण सम्मान किया गया जिसमें मेधावी छात्र छात्राओं को शील्ड एवं मैडल देकर मयंक के दामाद राघवेन्द्र सक्सेना तथा मयंक की बेटी वन्दना खरे ने सम्मानित किया। नगर पालिका अध्यक्ष कुलदीप निषाद को भी प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया। समारोह में तमाम कवियों को भी
सम्मानित किया गया। इस मौके पर काव्य संध्या का आयोजन मंजुल मयंक की यादों के झरोखों से तथा उनकी रचनाओं के माध्यम से करके कवियों ने उन्हें
श्रद्धांजलि देकर याद किया।
कार्यक्रम में बद्री प्रसाद, दिनेश चंद आर्य
संस्था के अध्यक्ष नारायन प्रसाद रसिक, प्रकाश चन्द्र ओमर, तेज बहादुर मिश्रा, रामप्रसाद दीक्षित, रामप्रकाश सविता, अनिल, देवीदीन अविनाशी,
जगदीश चन्द्र जोशी, देव नारायण सोनी, नाथूराम पथिक, दिनेश दुबे, अनंत स्वरूप सिंह अनंत सहित बड़ी संख्या में कवि और अन्य लोग मौजूद रहे।
3- युवक को गोली मारकर घायल करने में पिता पुत्र समेत पांच लोगों पर मुकदमा

राठ हमीरपुर। मामूली कहासुनी में एक युवक को गोली मारकर घायल करने के मामले में पुलिस ने सोमवार को पिता पुत्र समेत पांच लोगों के खिलाफ
मुकदमा दर्ज कर लिया हैं। घायल युवक का इलाज झांसी मेडिकल कालेज में चल रहा हैं।
राठ कोतवाली क्षेत्र के कुर्रा गांव में यह वारदात रविवार की रात हुयी। गांव के ही पवन (24) पुत्र अर्जुन सिंह घर से दुकान गया था जहां बीच रास्ते में खड़े दबंग युवकों से मामूली विवाद हो गया। गाली गलौच के बाद पहले मारपीट हुयी फिर दबंग लोगों ने पवन पर फायरिंग कर दी जिससे गोली लगने से पवन गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना से गांव में भगदड़ मच गयी। परिजन उसे इलाज कराने राठ स्थित सरकारी अस्पताल पहुंचे जहां हालत बिगड़ते देख डाक्टरों ने पवन को झांसी मेडिकल कालेज रेफर कर दिया हैं।
घटना की सूचना पर कोतवाली पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले की जांच की और आरोपितों की तलाश शुरू कर दी हैं। राठ कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक मनोज कुमार शुक्ला ने बताया कि इस घटना की तहरीर पर कुर्रा गांव निवासी सतीश पुत्र जयपाल यादव, जयपाल पुत्र मातादीन यादव, संदीप पुत्र बृजनारायण, अंगूर पुत्र वीर प्रताप व चुखरू पुत्र श्रीकृष्ण के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच भी करायी जा रही हैं। जल्द ही सभी आरोपितों की गिरफ्तारी की जायेगी।
4- आवारा गधे और सुअरों को अब कराया जायेगा नीलामः डीएम

-पीस कमेटी की बैठक में लिये गये कई फैसले

हमीरपुर ब्यूरो। हमीरपुर में सोमवार को जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने पीस कमेटी की बैठक में बड़ा फैसला लेते हुये कहा कि देवी पंडालों के आसपास
आवारा घूमने वाले गधे और सुअरों को चिन्हित कर पहले तो सम्बन्धित मालिक को नोटिस दी जाये फिर गधे और सुअरों को नीलाम कराकर नीलामी की धनराशि से पशुबाड़ें की व्यवस्था करायी जाये। उन्होंने कहा कि धार्मिक आयोजनों पर शराब का सेवन प्रतिबंधित है। ऐसे आयोजनों पर शराब पीकर उत्पात मचाने वालों पर कठोर कार्यवाही भी की जायेगी।

जिलाधिकारी हमीरपुर स्थित कलेक्ट्रेट मीटिंग हाल में पीस कमेटी की बैठक में ये फैसले लिये। उन्होंने बताया कि नवरात्रि पर्व से सम्बन्धित जुलूस,
रावण दहन, मूर्ति स्थापना के कार्य परम्परागत ढंग से होने चाहिये।
पंडालों व मंदिरों पर साफ सफाई के विशेष इंतजाम के साथ ही देवी पंडालों में पेयजल व विद्युत की समुचित व्यवस्था भी का जाये। मंदिरों के रास्ते तथा पहुंच मार्ग को भी दुरुस्त कराया जाये। देवी पंडालों व मंदिरों के
पहुंच मार्ग के बूचडख़ाने और मांस की दुकानों को कही अन्यत्र ऐसे स्थलों पर शिफ्ट कराया जाये जहां मंदिर व देवी पंडाल न हो। जिलाधिकारी ने बैठक
में बताया कि देवी पंडालों की स्थापना करने वाले आयोजकों से प्रत्येक आयोजन स्थल पर डस्टविन व सीसीटीवी कैमरे लगवाये जाये। उन्होंने कहा कि
देवी पंडालों में सिर्फ धार्मिक गीत ही बजने चाहिये।  आयोजन स्थलों पर अस्थायी शौचालयों की व्यवस्था करने के लिये नगर निकायों के अधिशाषी अधिकारियों को निर्देश दिये गये। जिलाधिकारी ने जिले में अवैध पटाखे और आतिशबाजी के भंडारण को लेकर एसडीएम को जांच करने के निर्देश दिये साथ ही
उन्होंने आवारा गौवंश को गोद लेने के कार्यक्रम पर जोर देते कहा कि प्रत्येक व्यक्ति या परिवार को आवारा गौवंश को गोद लेने पर उसे हर माह नौ
सौ रुपये भरण पोषण के लिये दिये जायेंगे। प्रति परिवार या व्यक्ति अधिकतम चार गौवंश गोद ले सकता हैं। जिले में 4500 गौवंश गोद देने का लक्ष्य रखा गया हैं। इसके लिये एक अक्टूबर से 15 अक्टूबर तक विशेष अभियान भी चलाया जायेगा। पुलिस अधीक्षक हेमराज मीना ने बताया कि शराब के ठेकों पर शराब पीना प्रतिबंधित हैं यदि शराब की दुकानों पर कोई शराब पीता पाया गया तो संबन्धित व्यक्ति के साथ ही दुकानदार के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी।
बैठक में अपर पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह, अपर जिलाधिकारी विनय प्रकाश श्रीवास्तव, एसडीएम व जिले भर के थानाध्यक्षों के अलावा
जिलास्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।5- प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा में सीडीओ ने लगाई फटकार
-कमियों के कारण प्रदेश में हमीरपुर को मिला छठवा स्थान

मौदहा हमीरपुर। सोमवार को सीडीओ आरके सिंह ने खंड विकास कार्यालय का निरीक्षण कर कमियां पाये जाने पर कड़ी फटकार लगायी हैं। उन्होंने बताया कि
प्रधानमंत्री आवास योजना में हमीरपुर जनपद को प्रदेश में छठवां स्थान मिला है।
सीडीओ आरके सिंह जिले के मौदहा ब्लाक का औचक निरीक्षण किया। अभिलेखों के रखरखाव में लापरवाही बरतने और कार्यालय, आवासों की मरम्मत न कराये जाने पर उन्होंने कड़ी फटकार लगायी है। प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा में
उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में हमीरपुर इस योजना में छठें स्थान पर है। अभी भी इस योजना में कमियां मिली है जिसे तत्काल सही कराया जाये वर्ना
दोषी लोग अपनी खैर न समझे। सीडीओ ने बताया कि अस्थायी गोशालाओं की स्थिति अभी संतोषजनक हैं। 330 में 318 गोशालाओं का निर्माण कराया जा चुका हैं।
बारिश के कारण कुछ स्थानों पर जलभराव हो गया हैं जिससे मवेशी बंद नहीं कराये जा सके। आवारा मवेशियों को रबी की फसल से पहले ही गोशालाओं में बंद कराया जायेगा। इसके लिये शासन से भूसे व चारे को शासन से धनराशि उपलब्ध करा दी गयी हैं। सीडीओ ने बताया कि ब्लाक भवन निर्माण व मरम्मत के लिये काफी धन उपलब्ध हैं। कार्यालय में अभिलेखों के रखरखाव ठीक से नहीं हो रहे
हैं। जो शिकायतें दर्ज की जाती हैं उनके निस्तारण की आख्या अभिलेखों में दर्ज नहीं पायी गयी हैं। इसके लिये सम्बन्धित पटल लिपिक को चेतावनी दी
गयी हैं।
उन्होंने बताया कि छिमौली गांव से उन्हें पहली बार शिकायतें मिली है कि वहां प्रधानमंत्री आवास योजना के पात्रों को आवास आवंटित हुये हैं लेकिन इनके खाते में त्रुटि वश आवासों की धनराशि किसी दूसरे के खाते में पहुंच गयी हैं। जिसे तत्काल ठीक कराने के आदेश दिये गये हैं।
उन्होंने बताया कि किसानों की सुविधा के लिये राठ व सरीला क्षेत्र के किसानों को अब राठ में ही बिजली का स्टोर बनाकर ट्रांसफार्मर व बिजली का सामान उपलब्ध कराया जायेगा।
आवारा गौवंश 40000, लेकिन 21000 गौवंश को मिली गोशालाओं में शरण सीडीओ आरके सिंह ने बताया कि जिले में 40000 आवारा गौवंश है जिनमें 33000 गौवंश को गोशालाओं में बंद करने की सुविधा की गयी है। मगर अभी तक 21000
गौवंश को ही गोशालाओं में शरण दी जा सकी हैं। बारिश और जलभराव के कारण तमाम स्थानों में आवारा गौवंश बंद नहीं हो पाये हैं। उन्हें शीघ्र ही रबी
की फसल से पूर्व बंद कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि आवारा गौवंश को गोद लेने की अच्छी पहल शासन ने शुरू की है जिसमें गाय को गोद लेने वाले किसान को प्रति गाय तीन सौ रुपये दिये जायेंगे। एक पशुपालक चार गौवंश ले सकता हैं जिसे महीने में 3600 रुपये सरकार से मिलेंगे। 

6- पाक को भारत की इबादत करने की राजेन्द्राचार्य ने दी सलाह
-जिहाद शब्द मिटाने के लिये भेजा ज्ञापन

हमीरपुर ब्यूरो। ओंकार धाम हमीरपुर के संस्थापक राजेन्द्राचार्य ने सोमवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को एक पत्र भेजकर पवित्र भूमि भारत की इबादत कर जिहाद जैस शब्द को मिटाने की सलाह दी हैं। उन्होंने कहा कि भारत वर्ष के युद्ध करने की इच्छा से पाकिस्तान का ये आखिरी युद्ध नहीं बल्कि इस्लाम की आखिरियत का युद्ध बन सकता हैं।

ओंकार धाम हमीरपुर के संस्थापक राजेन्द्राचार्य ने एक ज्ञापन पाक के प्रधानमंत्री इमरान खान को भेजा है जिसमें उन्होंने बताया कि भारत वर्ष का एक भाग पाकिस्तान इसलिये पाक है कि भारत वर्ष में अनेकों पैगम्बर अल्लाह ने भेजे है। लौह पुस्तकें वेद है जिनके ज्ञान से ही पैगम्बर नहीं किया बल्कि उसके जरिये भेजे गये दूतों के बारे में कहा है कि अब कोई पैगम्बर नहीं आयेगा। उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को सलाह देते कहा कि भारत भूमि की इबादत करें और जिहाद जैसे शब्दों को मिटा दे तभी कल्याण होगा।
बता दे कि राजेन्द्राचार्य पूर्व भाजपा महिला मोर्चा नेत्री
नीलम भारती के पति है। ये पिछले कई सालों से ओंकार धाम चला रहे है। 

7- कक्षा चौथी के छात्र ने बनाया दोनों तरफ से चलने वाला पंखा
हमीरपुर ब्यूरो। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यालयों में किस कदर की प्रतिभायें छिपी हैं इसका उदाहरण एक गांव में सोमवार को देखने को मिला।


शिक्षकों की प्रेरणा से कक्षा चौथी के एक छात्र ने तीन दिन में कबाड़ के सामान से हवा देने वाला पंखा बनाकर सभी को चौंका दिया हैं। कमाल की बात
तो यह हैं कि यू ट्यूब की मदद से तैयार किये गये इस पंखे को छात्र ने दोनों तरफ चलने वाला पंखा बनाया हैं। ये आगे की तरफ हवा देने के साथ ही पीछे की तरफ  भी हवा फेंकने की क्षमता रखता हैं। महज नौ साल के छात्र की इस कामयाबी पर विद्यालय के शिक्षक अचंभित हैं।
जिले के सुमेरपुर क्षेत्र के टेढ़ा गांव निवासी गोली सिंह का पुत्र अनंत विक्रम सिंह (9) गांव के प्राथमिक स्कूल इंगलिश मीडियम में कक्षा चार में पढ़ता हैं। यहां के प्रधानाध्यापक एवं यूटा के जिलाध्यक्ष रमाकांत शुक्ला
ने बताया कि खाली समय में बच्चों को यू ट्यूब की मदद से तमाम चीजें सिखायी जाती हैं ताकि इनको शिक्षा के साथ-साथ अन्य जानकारियां भी मिल
सके। स्कूल के छात्र अनंत विक्रम ङ्क्षसह ने कबाड़ के सामान की मदद से यू ट्यूब से जानकारी एकत्र कर टेबुल फाइन (पंखा) तीन दिन में बनाकर सभी के
सामने प्रस्तुत किया हैं जिसे देखकर सभी शिक्षक एवं छात्र गदगद हैं। छात्र ने बताया कि पंखा तैयार करने में बेकार पड़े एलईडी बल्ब के खोखे, पेन, क्रीम का खाली डिब्बा आदि का उपयोग किया गया हैं। कमाल की बात यह है कि छात्र का यह टेबुल पंखा आगे हवा देने के साथ ही पीछे भी हवा देता हैं।
माडल के रूप में तैयार इस टेबुल पंखे को फिलहाल सेल के माध्यम से चलाया जा रहा हैं। लेकिन इसको तैयार करने वाले छात्र का दावा हैं कि वह जल्द ही
बिजली एवं सौर्य ऊर्जा से एक साथ चलने वाला पंखा तैयार करके प्रस्तुत करेगा। छात्र की इस लगन को देखकर शिक्षकों ने इसके उज्ज्वल भविष्य की
कामना की हैं।

आशा हैं हमने ऊपर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट हुए होंगे अगर नहीं तो कृपया कमेन्ट के जरिये हमें बताएं। आज के इतिहास के बारे में और भी जानकारी हो तो वो भी हमें कमेन्ट के जरिये बताये हम इस लेख में जरुर अपडेट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Follow by Email
Instagram
Telegram